मुख्य समाचार:

Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल में बिकवाली का दबाव, जानें निवेश पर एक्सपर्ट की राय

मेंथा ऑयल में बिकवाली का दबाव बना हुआ है.

October 23, 2019 12:00 PM
Mentha Oil, Mentha Oil Price Update, मेंथा ऑयल, मेंथा ऑयल में मुनाफा, Trading In Mentha Oil, New Arrival, Supply, Mentha Oil Demandमेंथा ऑयल में बिकवाली का दबाव बना हुआ है.

Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल मंगलवार को 0.47 फीसदी की गिरावट के साथ 1196.2 रुपये प्रति किलो के भाव पर सेटल हुआ. वहीं, बुधवार को भी इसमें दबाव देखा जा रहा है. मेंथा आज के कारोबार में फ्लैट 1197 के स्तर पर दिख रहा है. आज यह 1196 रुपये के भाव पर खुला था. एक्सपर्ट का कहना है कि मेंथा के सेंटीमेंट अभी कमजोर बने हुए हैं. डिमांड कमजोर होने के चलते मेंथा में फ्रेश सेलिंग प्रेशर दिख रहा है. ऐसे में आज भी इसमें बिकवाली दिख सकती है. हालांकि आगे सर्दियों में डिमांड सीजन आ रहा है, जिससे कीमतों को सपोर्ट मिल सकता है.

मेंथा ऑयल में क्या हो रणनीति?

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के अनुसार, मेंथा में बिकवाली का दबाव है. उनका कहना है कि जब तक मेंथा 1210 के भाव पर नहीं आता है, खरीददारी से बचना चाहिए. उन्होंने कहा कि मेंथा ऑयल ने पिछले दिनों 1200 का अहम स्तर तोड़ दिया था, जिसके बाद इसके लिए 1196.8 रुपये पर नया सपोर्ट बना था. मंगलवार को यह स्तर भी टूट गया. फिलहाल अब मेंथा के लिए 1190.8 का स्तर अहम माना जा रहा है. यह टूटता है तो मेंथा 1180 से 1185 रुपये तक कमजोर हो सकता है. लेकिन मेंथा अगर 1201 के उपर सस्टेन कर जाता है तो यह 1207 रुपये का भाव दिखा सकता है.

उत्पादन 30-40% बढ़ने का अनुमान

मेंथा ऑयल का साल 2019-20 के दौरान उत्पादन 30-40 फीसदी बढ़ सकता है. उत्तर प्रदेश के बड़े सेंटर्स से आवक कम रहने के बीच हाजिर बाजार में डिमांड भी कम है. पिछले साल अच्छी कीमतों के चलते इस साल किसानों ने अधिक बुवाई की. ऐसे में औसत रकबा बढ़ने से भी कीमतों पर दबाव बना हुआ है. 2019 में मेंथा ऑयल का उत्पादन 48,000-50,000 टन रह सकता है. पिछले साल यह 3,000-35,000 टन था.

बढ़ सकती है एक्सपोर्ट डिमांड

भारतीय रुपये में रिकवरी के चलते ग्लोबल मार्केट में में​था ऑयल की एक्सपोर्ट डिमांड बढ़ सकती है. रुपये में मजबूती से कीमतों को सपोर्ट मिलेगा. अमेरिका और चीन के बीच चह रहे ट्रेड वार का असर भी मेंथा ऑयल की कीमतों पर दिखाई देगा. चीन और अमेरिका भारतीय मेंथा ऑयल के बड़े आयातक हैं. दोनों देशों के बीच ट्रेड वार से इस बार निर्यात कम रहेगा. इसके चलते भी कीमतों पर दबाव बना रह सकता है. बता दें, भारत अपने कुल मेंथा उत्पादन का करीब 60 से 62 फीसदी निर्यात करता है.

Mentha Oil: सर्दियों में बढ़ेगी डिमांड

मेंथा एक खुशबूदार जड़ी बूटी और भारत में इसे जापानी पुदीना के नाम से जाना जाता है. मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स को बड़े पैमाने पर भोजन, दवा, इत्र और फ्लेवरिंग इंडस्ट्री में उपयोग किया जाता है. भारत मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है. इसकी कीमतों पर उत्पादन और घरेलू मांग के अलावा चीन, अमेरिका और सिंगापुर जैसे प्रमुख आयातक देशों से आयात की मांग और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत पर भी निर्भर करती है. सर्दियों में आमतौर पर दवा कंपनियों की मेंथा ऑयल के लिए घरेलू मांग बढ़ जाती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल में बिकवाली का दबाव, जानें निवेश पर एक्सपर्ट की राय

Go to Top