मुख्य समाचार:
  1. Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल में लौटी तेजी, निवेशक कैसे कमाएं मुनाफा

Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल में लौटी तेजी, निवेशक कैसे कमाएं मुनाफा

बुधवार को मेंथा 9.50 रुपये की तेजी के साथ 1316.70 रुपये के भाव पर ट्रेड कर रहा है.

August 14, 2019 11:44 AM
Mentha Oil, Mentha Oil Price Update, मेंथा ऑयल, मेंथा ऑयल में मुनाफा, Trading In Mentha Oil, New Arrival, Supply, Mentha Oil Demandबुधवार को मेंथा 9.50 रुपये की तेजी के साथ 1316.70 रुपये के भाव पर ट्रेड कर रहा है.

Mentha Oil Price Update: मंगलवार को मेंथा ऑयल में 0.97 फीसदी तेजी रही और यह 1307.2 रुपये प्रति किलो के भाव पर बंद हुआ. वहीं, बुधवार को मेंथा 9.50 रुपये की तेजी के साथ 1316.70 रुपये के भाव पर ट्रेड कर रहा है. आज यह 1306 रुपये के भाव पर खुला. एक्सपर्ट का कहना है कि अगस्त में यह डिमांड सीजन है. ऐसे में आगे मांग बढ़ने से तेजी दिख सकती है. मंगलवार को भी मेंथा में गिरावट पर खरीददारी होने से तेजी देखने को मिली थी. किसी भी गिरावट पर निवेशकों को मेंथा में खरीददारी करनी चाहिए.

कैसी रहेगी मेंथा की चाल

एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम का कहना है कि लोवर लेवल से खरीददारी के चलते मेंथा की कीमतों को सपोर्ट मिला है और यह टेक्निकली 20 दिन के मूविंग एवरेज पर सस्टेन कर गया है. वहीं स्पॉट मार्केट में मेंथा की डिमांड में सुधार हुआ है. मेंथा में आगे भी शॉर्ट टर्म में तेजी दिख रही है और यह कुछ दिनों में 1350-1370 रुपये प्रति किलो का रेंज दिखा सकता है.

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि आज की बात करें तो मेंथा को 1289.3 रुपये के भाव पर सपोर्ट मिलता दिख रहा है. लेकिन यह भाव टूटता है तो मेंथा 1271.3 रुपये तक कमजोर हो सकता है. वहीं उपर की ओर 1322 के भाव पर रेजिस्टेंस दिख रहा है. यह क्रॉस होता है तो मेंथा में आज 1336.7 का भाव दिखा सकता है. फिलहाल निवेशकों को गिरावट पर खरीददारी करनी चाहिए. अगर मेंथा आज 1300 रुपये के स्तर तक आता है तो यहां से अगले एक दो दिन के लिए 1330 से 1340 रुपये का लक्ष्य रखकर खरीदारी करें.

38500-39000 टन उत्पादन का अनुमान

इस साल उत्पादन 38500-39000 टन होने की अनुमान है, जो कि 2013 और 2018 के बीच हुए औसतन 36,968 टन के उत्पादन से अधिक है. ऐसे में पिछले साल के मुकाबले उत्पादन बेहतर रहा सकता है. उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश समेत कई दूसरे राज्यों में किसानों ने पिछले साल के भाव को देखते हुए इस साल उत्पादन मे इजाफा किया था.

कुल उत्पादन का 62% निर्यात

अमेरिका और चीन के बीच चह रहे ट्रेड वार का असर भी मेंथा ऑयल की कीमतों पर दिखाई देगा. चीन और अमेरिका भारतीय मेंथा ऑयल के बड़े आयातक हैं. दोनों देशों के बीच ट्रेड वार से इस बार निर्यात कम रहेगा. इसके चलते भी कीमतों पर दबाव बना रह सकता है. बता दें, भारत अपने कुल मेंथा उत्पादन का करीब 60 से 62 फीसदी निर्यात करता है.

Mentha Oil: भारत मेंथा तेल का सबसे बड़ा उत्पादक

मेंथा एक खुशबूदार जड़ी बूटी और भारत में इसे जापानी पुदीना के नाम से जाना जाता है. मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स को बड़े पैमाने पर भोजन, दवा, इत्र और फ्लेवरिंग इंडस्ट्री में उपयोग किया जाता है. भारत मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है.

इसकी कीमतों पर उत्पादन और घरेलू मांग के अलावा चीन, अमेरिका और सिंगापुर जैसे प्रमुख आयातक देशों से आयात की मांग और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत पर भी निर्भर करती है. सर्दियों में आमतौर पर दवा कंपनियों की मेंथा ऑयल के लिए घरेलू मांग बढ़ जाती है.

Go to Top