मुख्य समाचार:
  1. Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल की कीमतों पर दबाव, क्या करें निवेशक

Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल की कीमतों पर दबाव, क्या करें निवेशक

मेंथा ऑयल की कीमतों में बुधवार को दबाव दिख रहा है.

May 22, 2019 10:25 AM
Mentha Oil, Mentha, Mentha Oil Prices Today, Mentha Oil Price Update, मेंथा ऑयल, Mentha Demand And Supply, मेंथा ऑयल की कीमतमेंथा ऑयल की कीमतों में बुधवार को दबाव दिख रहा है.

Mentha Oil Price Today: मेंथा ऑयल की कीमतों में बुधवार को दबाव दिख रहा है. शुरूआती कारोबार में मेंथा में 4 रुपये की बढ़त दिखी और यह 1444 रुपये के भाव तक पहुंचा. लेकिन कुछ देर बाद ही यह फ्लैट 1440 रुपये प्रति किलो के भाव पर आ गया. मंगलवार को मेंथा 1440 रुपये के भाव पर ही बंद हुआ था. आज मेंथा का लो 1433 रुपये तक पहुंचा है. एक्सपर्ट का कहना है कि पिछले कुछ दिनों की तेजी की वजह आवक में देरी रही है. वहीं हाजिर मांग भी ज्यादा रही थी. आवक का समय शुरू हो रहा है, जिससे कीमों पर दबाव बना है. निवेशकों को मेंथा में मुनाफावसूली करनी चाहिए.

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट, रिसर्च (कमोडिटी एंड करंसी) अनुज गुप्ता का कहना है कि पिछले दिनों की तेजी आवक में देरी और हाजिर मांग बढ़ने की वजह से रही थी. लेकिन इस बार पिछले साल से पैदावार ज्यादा रही है. ऐसे में एक बार आवक शुरू हो गई तो कीमतों में गिरावट देखने को मिल सकती है. निवेशकों को हल्की बढ़त पर मुनाफा वसूली करनी चाहिए.

चीन, US मेंथा ऑयल के बड़े आयातक

अमेरिका और चीन के बीच चह रहे ट्रेड वार का असर भी मेंथा ऑयल की कीमतों पर दिखाई देगा. अजय केडिया का कहना है कि चीन और अमेरिका भारतीय मेंथा ऑयल के बड़े आयातक हैं. दोनों देशों के बीच ट्रेड वार से इस बार निर्यात कम रहेगा. इसके चलते भी कीमतों पर दबाव बना रह सकता है. बता दें, भारत अपने कुल मेंथा उत्पादन का करीब 60 से 62 फीसदी निर्यात करता है.

Mentha Oil: फार्मा इंडस्ट्री में ज्यादा इस्तेमाल

मेंथा एक खुशबूदार जड़ी बूटी और भारत में इसे जापानी पुदीना के नाम से जाना जाता है. मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स को बड़े पैमाने पर भोजन, दवा, इत्र और फ्लेवरिंग इंडस्ट्री में उपयोग किया जाता है. भारत मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है.

इसकी कीमतों पर उत्पादन और घरेलू मांग के अलावा चीन, अमेरिका और सिंगापुर जैसे प्रमुख आयातक देशों से आयात की मांग और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत पर भी निर्भर करती है. सर्दियों में आमतौर पर दवा कंपनियों की मेंथा ऑयल के लिए घरेलू मांग बढ़ जाती है.

Go to Top