मुख्य समाचार:

COVID के कारण नुकसान झेल रहे छोटे कारोबारियों के लिए Mastercard आई आगे, देगी 250 करोड़ रु की मदद

इसके अंतर्गत व्यापारियों को ऋण दिया जाएगा और डिजिटल भुगतान को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करने के अनेक कदम उठाये जाएंगे.

Updated: Jul 28, 2020 5:50 PM
Mastercard declares support of 250 Crore rupee to Small Businesses suffered from COVID19मास्टरकार्ड की यह पहल कनफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के साथ गत अनेक वर्षों की साझेदारी पर आधारित है. Image: Reuters

मास्टरकार्ड (Mastercard) ने कोविड के चलते नुकसान झेल रहे भारत के व्यापारियों को इस संकट से उबारने के लिए 250 करोड़ रुपये के एक आर्थिक पैकेज देने की घोषणा की है. इसके अंतर्गत व्यापारियों को ऋण दिया जाएगा और डिजिटल भुगतान को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करने के अनेक कदम उठाये जाएंगे. मास्टरकार्ड की यह पहल कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के साथ गत अनेक वर्षों की साझेदारी पर आधारित है.

कैट ने देशभर में व्यापारियों के बीच डिजिटल भुगतान अपनाये जाने के लिए बड़े कदम उठाये हैं. पिछले साल कैट के साथ मास्टरकार्ड ने एक राष्ट्रीय कैशलेस अभियान चलाया, जिसके तहत देशभर में 1 करोड़ व्यापारियों को डिजिटल भुगतान को स्वीकार कर आवश्यक डिजिटल तकनीक से जोड़ने का लक्ष्य था. कैट एवं मास्टरकार्ड के प्रयासों से इस अभियान द्वारा देशभर में लगभग 35 फीसदी छोटे व्यापारियों को जोड़ा गया. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और मास्टरकार्ड के ब्रांड एंबेसडर एमएस धोनी के जरिये भी इस अभियान को बेहद लोकप्रिय बनाया गया.

कई पहलों की करेगी पेशकश

250 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में मास्टरकार्ड कैट के साथ साझेदारी में कई पहलों की पेशकश करेगी. इनमें छोटे व्यापारियों और किराना स्टोरों को उनके व्यवसायों के लिए लोन तक आसान पहुंच उपलब्ध कराना,​ डिजिटल पेमेंट्स के बारे में जागरुकता बढ़ाकर छोटे कारोबारों की मदद करना, ऑनलाइन व ऑफलाइन बिजनेस में सरल व सुरक्षित लो कॉस्ट सॉल्युशंस उपलब्ध कराना आदि शामिल हैं.

कोरोना महामारी से रियल एस्टेट सेक्टर में मंदी! दिल्ली, मुंबई समेत 8 बड़े शहरों में घरों की बिक्री 79% गिरी

भारतीय कारोबारियों को व्यवसाय बढ़ाने में मदद

मास्टरकार्ड के दक्षिण एशिया के डिवीजन अध्यक्ष पौरुष सिंह ने बताया कि मास्टरकार्ड अपने नेटवर्क, ज्ञान, प्रौद्योगिकी और भागीदारी का लाभ भारत के व्यापारियों को देने और उनके व्यवसाय को बढ़ाने में मदद करेगी. इसके माध्यम से भारत के छोटे व्यवसायों और उद्यमियों की वित्तीय सहायता प्राप्त कर व्यापार को चलाने की क्षमता में वृद्धि होगी. डिजिटल तकनीक व्यापारी को अपने ग्राहक को बेहतर सुविधा देने, उनकी सूची बनाने एवं कानून व नियमों का सही समय पर पालन करने में काफी मददगार होगी. उन्होंने यह भी कहा कि मास्टरकार्ड अपनी तकनीक से व्यापारियों एवं ग्राहकों के बीच विश्वास बढ़ाने के सभी अवसर प्रदान करेगी और तकनीक को अपनाने में डेटा की आवश्यक उच्चतम स्तर की सुरक्षा को सुनिश्चित करेगी.

व्यापार के वर्तमान स्वरूप में बड़े बदलाव की जरूरत

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि कोरोना के कारण राष्ट्रीय लॉकडाउन से देश भर के व्यापारियों को बड़ी क्षति पहुंची है. तेजी से बदलते परिदृश्य में भविष्य को देखते हुए व्यापार के वर्तमान स्वरूप में बड़े परिवर्तन की आवश्यकता है जिसमें खास तौर पर ऑनलाइन व्यापार के तेजी से बढ़ने की बड़ी सम्भावना है. इस दृष्टि से व्यापारियों के लिए भी ई कॉमर्स पोर्टल पर अपने ई स्टोर खोलना बेहद आवश्यक है. इस बात को ध्यान में रखते हुए कैट ने मास्टरकार्ड के साथ अपनी साझेदारी के अंतर्गत देश भर मैं व्यापारियों के बीच डिजिटल भुगतान को अपनाने एवं उससे हो रहे लाभों को लेकर पिछले कई वर्षों में अनेक राष्ट्रीय अभियान चलाए हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. COVID के कारण नुकसान झेल रहे छोटे कारोबारियों के लिए Mastercard आई आगे, देगी 250 करोड़ रु की मदद

Go to Top