सर्वाधिक पढ़ी गईं

6 करोड़ खाताधारकों के लिए काम की खबर, ईपीएफ पर 8.5% की दर से मिलेगा ब्याज

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए केंद्रीय श्रम मंत्रालय एंप्लाईज प्रोविडेंट फंड (EPF) खाते में 8.5 फीसदी ब्याज क्रेडिट करेगी.

December 31, 2020 4:46 PM
Labour Min decides to notify 8.5 PERCENT interest on EPF for 2019-20 gets FINANCE MINISTER NODलेबर मिनिस्ट्री के फैसले से ईपीएफओ के छह करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर्स को फायदा मिलेगा.

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए केंद्रीय श्रम मंत्रालय एंप्लाईज प्रोविडेंट फंड (EPF) खाते में 8.5 फीसदी ब्याज क्रेडिट करेगी. मंत्रालय ने इसे अधिसूचित करने का फैसला किया है. इससे ईपीएफओ के 6 करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर्स को फायदा मिलेगा. यह फैसला वित्त मंत्रालय द्वारा इससे जुड़े प्रस्ताव की मंजूरी देने के बाद लिया है. एक ऑफिसियल ने बताया कि रिटायरमेंट फंड बॉडी ईपीएफओ के 6 करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर्स के खाते में 8.5 फीसदी ब्याज क्रेडिट किया जाएगा और इससे जुड़ी अधिसूचना जल्द जारी किया जाएगा. ऑफिसियल ने बताया कि औपचारिक तौर पर ईपीएफ पर ब्याज दर से जुड़ी अधिसूचना को लेकर श्रम मंत्री संतोष गंगवार की मंजूरी मिल गई है.
अब इस ब्याज दर को सरकार गजट में आधिकारिक तौर पर नोटिफाई किया जाएगा और उसके बाद ईपीएफओ का मुख्यालय सभी सब्सक्राइबर्स के खाते में ईपीएफ पर मिलने वाले रिटर्न को क्रेडिट (यानी जमा करने) को लेकर दिशा-निर्देश जारी करेगा.

सितंबर में दो किश्त में क्रेडिट का लिया गया था फैसला

इस साल मार्च में ईपीएओ की शीर्ष डिसीजन मेकिंग बॉडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी) ने श्रम मंत्री गंगवार की अध्यक्षता में फैसला किया था कि 2019-20 में ईपीएफ पर 8.5 फीसदी का ब्याज दिया जाएगा. उसके बाद कोरोना महामारी के चलते सितंबर 2020 में ईपीएफओ ने इस ब्याज को दो भागों में क्रेडिट करने का फैसला लिया था. इसके मुताबिक ईपीएफ खाते पर ब्याज 8.15 फीसदी और 0.35 फीसदी के इंस्टालमेंट्स में दिए जाने का फैसला लिया गया था. हालांकि उसके बाद मिनिस्ट्री ने फैसला किया कि पूरा 8.5 फीसदी ब्याज एक ही बार में क्रेडिट किया जाएगा.

यह भी पढ़ें- जियो कस्टमर्स के लिए बड़ी खबर, 1 जनवरी से देशभर में किसी भी नेटवर्क पर वॉयस कॉल फ्री

सीबीटी ने 8.5% ब्याज दर को रखा बरकरार

सितंबर में ब्याज दर को लेकर सीबीटी ने समीक्षा की और फिर उसने केंद्र सरकार से 8.5 फीसदी की दर से इंस्टालमेंट में क्रेडिट करने को रिकमंड किया. अपने रिकमंडेशन में सीबीटी ने कहा था कि 8.5 फीसदी ब्याज में 8.15 फीसदी डेट इनकम और शेष 0.35 फीसदी ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) के बिक्री से हुए कैपिटल गेन होगा.
ईपीएफओ ने पिछले वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 805 फीसदी का ब्याज क्रेडिट करने के लिए ईटीएफ में अपने कुछ निवेश को लिक्विडेट करने का फैसला किया था. हालांकि लॉकडाउन के दौरान बाजार की विपरीत परिस्थितियों के कारण वह इसे लिक्विडेट नहीं कर पाया. ऑफिसियल का कहना है कि मार्केट कंडीशंस इस समय बहुत सही हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 6 करोड़ खाताधारकों के लिए काम की खबर, ईपीएफ पर 8.5% की दर से मिलेगा ब्याज
Tags:EPFO

Go to Top