scorecardresearch

Kaynes Tech IPO : 10 नवंबर को खुलेगा आईपीओ, 559-587 रुपये प्रति शेयर तय हुआ प्राइस बैंड

केंज टेक्नोलॉजी की आईपीओ 10 नवंबर को खुलकर 14 नवंबर को बंद होगी और एंकर निवेशक शेयरों के लिए 9 नवंबर को बोली लगा सकेंगे.

Kaynes Tech IPO : 10 नवंबर को खुलेगा आईपीओ, 559-587 रुपये प्रति शेयर तय हुआ प्राइस बैंड
केंज टेक्नोलॉजी ने फ्रेश इश्यू का साइज 650 करोड़ रुपये से घटाकर 530 करोड़ रुपये कर दिया है.

Kaynes Tech IPO : केंज टेक्नोलॉजी इंडिया लिमिटेड (Kaynes Technology India Limited-KTIL) ने 530 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 559-587 रुपये प्रति शेयर तय किया है. ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के मुताबिक कंपनी की आईपीओ 10 नवंबर को खुलकर 14 नवंबर को बंद होगी और एंकर निवेशक शेयरों के लिए 9 नवंबर को बोली लगा सकेंगे.

इन प्रमोटर और शेयहोल्डर के इक्विटी शेयर हैं शामिल

कंपनी ने फ्रेश इश्यू का साइज 650 करोड़ रुपये से घटाकर 530 करोड़ रुपये कर दिया है. इसके अलावा, एक प्रमोटर और एक मौजूदा शेयरधारक द्वारा 55.85 लाख इक्विटी शेयर्स की ऑफर ऑफ सेल (ओएफएस-OFS) लायी जाएगी. जिसमें प्रमोटर रमेश कुंहीकन्नन (Ramesh Kunhikannan) के 20.84 लाख और शेयरहोल्डर Freny Firoze Irani के 35 लाख इक्विटी शेयर शामिल है. फ्रेश इश्यू से मिले फंड का इस्तेमाल कंपनी कर्ज चुकाने, मैसूर और मानेसर में अपनी मैनुफैक्चरिंग फैसिलिटी को बढ़ाने और वर्किंग कैपिटल रिक्यारमेंट्स के फंडिंग के लिए करेगी. कंपनी बाकी पूंजी कर्नाटक के चमराजनगर (Chamarajanagar) में निवेश करेगी.

Bank RD vs Post Office RD: 10 साल में जमा करना है 10 लाख, हर महीने कितना करें निवेश, ये हैं बेस्‍ट आरडी प्‍लान

इन राज्यों में है Kaynes Tech का प्लांट

केंज टेक्नोलॉजी कंपनी मूलरुप से कर्नाटक के मैसूर (Mysore) में स्थित है. इस कंपनी के 8 प्लांट कर्नाटक, हरियाणा, हिमांचल प्रदेश, तमिलनाडु समेत उत्तराखंड में संचालित है. ये कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम और डिजाइन मैनुफैक्चरिंग सर्विसेज सेक्टर के लिए काम करती है.

क्या है IPO

IPO मार्केट से फंड जुटाने के लिए किसी प्राइवेट कंपनी द्वारा लाया जाता है. यह एक प्राइवेट कंपनी को पब्लिक कंपनी में बदलने की प्रक्रिया है. जब कंपनियों को पैसे की जरूरत होती है तो ये शेयर बाजार में खुद को लिस्ट कराती हैं. आईपीओ के ज़रिए मिले फंड को कंपनी अपनी जरूरत के हिसाब से खर्च करती है. इस फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने या कंपनी की तरक्की आदि में किया जा सकता है. स्टॉक एक्सचेंजों पर शेयरों की लिस्टिंग से कंपनी को अपने मूल्य का उचित वैल्यूएशन प्राप्त करने में मदद मिलती है.

(इनपुट : भाषा)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 07-11-2022 at 17:18 IST

TRENDING NOW

Business News