सर्वाधिक पढ़ी गईं

प्रॉपर्टी से DHFL की बकाया उधारी चुकाएंगे कपिल वधावन, 43000 करोड़ रु है कीमत

वधावन ने इस बारे में रिजर्व बैंक द्वारा नियुक्त प्रशासक आर सुब्रमण्यकुमार को 17 अक्टूबर को पत्र लिखा है.

Updated: Oct 19, 2020 8:24 PM
Kapil Wadhawan offers Rs 43,000 cr family assets to repay DHFL lendersवधावन फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं.

संकट में फंसी आवास ऋण कंपनी DHFL के जेल में बंद प्रमोटर कपिल वधावन ने कंपनी के ऋणदाताओं के बकाया कर्ज को चुकाने के लिए अपनी व्यक्तिगत और परिवार की संपत्तियों की पेशकश की है. वधावन ने इन संपत्तियों का मूल्य 43,000 करोड़ रुपये होने का दावा किया है. वधावन ने इस बारे में रिजर्व बैंक द्वारा नियुक्त प्रशासक आर सुब्रमण्यकुमार को 17 अक्टूबर को पत्र लिखा है.

वधावन ने कहा है कि उनकी इस पेशकश से इन संपत्तियों का अधिकतम मूल्य सुनिश्चित किया जा सकेगा. वधावन फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं. उन्होंने उनके परिवार के रीयल एस्टेट पोर्टफोलियो की विभिन्न परियोजनाओं के अधिकार और हिस्सेदारी को ट्रांसफर करने का प्रस्ताव किया है, जिससे डीएचएफएल का समाधान उचित तरीके से हो सकेगा और संपत्तियों का भी अधिकतम मूल्य प्राप्त किया जा सकेगा. इन परियोजनाओं के मूल्यांकन में जुहू गल्ली परियोजना और इरला परियोजनाएं शामिल हैं.

बाजार मूल्य से 15% कम है ये मूल्य

पत्र में कहा गया है कि इन परियोजनाओं का मूल्यांकन 43,879 करोड़ रुपये बैठता है. वह भी बाजार मूल्य से 15 फीसदी कम के हिसाब से है. पत्र में वधावन ने कहा है कि सितंबर, 2018 के आईएलएंडएफएस संकट के बाद से न केवल डीएचएफएल बल्कि सभी प्रमुख गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों को संकट का सामना करना पड़ा. कंपनी ने इस दौरान कई कदम उठाए और कई संपत्तियों मसलन आधार हाउसिंग फाइनेंस लि., एवांसे फाइनेंशियल, डीएचएफएल प्रामेरिका एसेट मैनेजर्स और डीएचएफएल प्रामेरिका ट्रस्टी लि. के मौद्रिकरण के जरिए करीब 44,000 करोड़ रुपये की देनदारियों का भुगतान किया.

DHFL अभी भी कर्जदाताओं को भुगतान करने में सक्षम

रिजर्व बैंक ने सात जून, 2019 को दबाव वाली संपत्तियों के समाधान की रूपरेखा के तहत सर्कुलर जारी किया, जिसके बाद डीएचएफएल के ऋण और वित्तीय दबाव के समाधान की प्रक्रिया शुरू हो गई. बैंकों और कुछ ऋणदाताओं के बीच पांच जुलाई, 2019 को अंतर ऋणदाता करार (आईसीए) किया गया. आईसीए पर हस्ताक्षर करने वाले ऋणदाताओं को कंपनी से 39,000 करोड़ रुपये वसूलने थे. वधावन ने मुंबई की तलोजा जेल से भेजे नौ पन्नों के पत्र में कहा है कि आज भी डीएचएफएल का संग्रहण करीब 10,000 से 15,000 करोड़ रुपये है और वह ऋणदाताओं का भुगतान करने में सक्षम है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. प्रॉपर्टी से DHFL की बकाया उधारी चुकाएंगे कपिल वधावन, 43000 करोड़ रु है कीमत

Go to Top