मुख्य समाचार:

डेटा चोरी पर कदम उठाना पीएनबी की जिम्मेदारी : क्लाउडसेक

पंजाब नेशनल बैंक(पीएनबी) के लगभग 10 हजार क्रेडिट या डेबिट कार्ड धारकों के डेटा चोरी किए जाने के संबंध में रपट प्रकाशित होने के एक दिन बाद साइबर सुरक्षा कंपनी क्लाउडसेक ने शुक्रवार को कहा कि यह अब बैंक का दायित्व है कि इसे प्रमाणित करे और इसके लिए जरूरी कदम उठाए।

Published: February 23, 2018 5:52 PM
पीएनबी घोटाला, पंजाब नेशनल बैंक, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, डाटा चोरीक्लाउडसेक के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी, राहुल शशि ने एक बयान में कहा, “20 फरवरी को, हमने एक सूची की पहचान की, जो पीएनबी से जुड़ी थी और डार्क वेब साइट पर बिक्री के लिए उपलब्ध थी।

पंजाब नेशनल बैंक(पीएनबी) के लगभग 10 हजार क्रेडिट या डेबिट कार्ड धारकों के डेटा चोरी किए जाने के संबंध में रपट प्रकाशित होने के एक दिन बाद साइबर सुरक्षा कंपनी क्लाउडसेक ने शुक्रवार को कहा कि यह अब बैंक का दायित्व है कि इसे प्रमाणित करे और इसके लिए जरूरी कदम उठाए। इसी साइबर सुरक्षा कंपनी ने पीएनबी के क्रेडिट या डेबिट कार्ड के संबंध में डेटा चोरी का पता लगाया था। सिंगापुर में पंजीकृत कंपनी क्लाउडसेक इंफोर्मेशन सिक्युरिटी ने पीएनबी से अपने संचार और इस बारे में विस्तृत जानकारी दी कि कैसे उन्होंने डेटा चोरी का पता लगाया। कंपनी का बेंगलुरू में भी कार्यालय है।

क्लाउडसेक के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी, राहुल शशि ने एक बयान में कहा, “20 फरवरी को, हमने एक सूची की पहचान की, जो पीएनबी से जुड़ी थी और डार्क वेब साइट पर बिक्री के लिए उपलब्ध थी। हमने हमारी वेबसाइट में सूचीबद्ध साइबर अपराध संपर्क ईमेल के जरिए पीएनबी तक पहुंचने की कोशिश की, लेकिन वह ईमेल बाउंस हो गया।” उन्होंने कहा, “21 फरवरी को रात 8.10 बजे हम तीसरे पक्ष के जरिए पीएनबी के अधिकारियों तक पहुंचने में सफल रहे। पीएनबी के अधिकारियों ने हमें तत्काल प्रतिक्रिया दी और उसी दिन 10 बजे रात हमें फोन किया। हमने उन्हें लीक हुए डेटा की विस्तृत रपट उपलब्ध कराई।”

उन्होंने कहा, “22 फरवरी को, हमने उन्हें इस संबंध में और रपट मुहैया कराई और अधिकारियों ने तीव्र कार्रवाई का भरोसा दिया।” इंटरनेट पर जो डेटा बिक्री के लिए उपलब्ध थे, उसमें नाम, एक्सपाइरी डेट, निजी पहचान नंबर, कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यू की जानकारी दी हुई थी।हांगकांग की अंग्रेजी वेबसाइट एशिया टाइम्स ने गुरुवार को दावा किया, “पीएनबी के मुख्य सूचना सुरक्षा अधिकारी टी.डी. वीरवानी ने पुष्टि की है कि बैंक डेटा चोरी मामले में सरकार के साथ मिलकर काम कर रहा है।”

शशि के अनुसार, “इस चरण में, क्लाउडसेक के पास कोई प्रक्रिया नहीं है कि वह सुनिश्चित कर सके कि सूचीबद्ध डेटा सही हैं या नहीं।” उन्होंने कहा, “हम इस डेटा के सत्यापन के लिए कोई अतिरिक्त प्रयास नहीं करेंगे। यह बैंक का दायित्व है कि इसे प्रमाणित करे और इसके लिए जरूरी कदम उठाए।” पीएनबी इस घटना के पहले से ही करोड़ो रुपये के वित्तीय धोखाधड़ी का सामना कर रहा है।

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. डेटा चोरी पर कदम उठाना पीएनबी की जिम्मेदारी : क्लाउडसेक

Go to Top