मुख्य समाचार:
  1. TCS-Infosys ने दिए IT सेक्टर में टर्न अराउंड के संकेत! लंबी अवधि के लिए इन शेयरों पर रखें नजर

TCS-Infosys ने दिए IT सेक्टर में टर्न अराउंड के संकेत! लंबी अवधि के लिए इन शेयरों पर रखें नजर

IT Sector: जानें आईटी सेक्टर पर क्या है एक्सपर्ट की राय

April 16, 2019 6:55 AM
IT Sector, IT Stocks, TCS, Infosys, Q4 Result, Turn Around, आईटी स्टॉक, आईटी शेयर, आईटी सेक्टर, Invest In IT StocksIT Sector: जानें आईटी सेक्टर पर क्या है एक्सपर्ट की राय

IT Sector Outlook: आईटी सेक्टर की 2 दिग्गज कंपनियों टीसीएस और इंफोसिस के तिमाही नतीजों ने निवेशकों को राहत दी है. नतीजों से साफ है कि बड़ी ​कंपनियों ने नए बिजनेड मॉडल को सही से अडॉप्ट कर लिया है. क्लाइंट बेस मजबूत हो रहा है और नए ऑर्डर भी मिलने लगे हैं. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि हर सेग्मेंट में सुधार दिखने लगा है. वीजा, लोकल हायरिंग जैसे मुद्दों के बाद भी खासतौर से टीसीएस के नतीजे मजबूत आउटलुक दिखा रहे हैं. हालांकि अभी मार्जिन पर दबाव दिखेगा. उनका कहना है कि आईटी सेक्टर में निवेशकों को लंबी अवधि के लिए स्ट्रैटेजी बनानी चाहिए.

टियर-1 IT कंपनियों में ग्रोथ मजबूत

ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर की रिपोर्ट के मुताबिक टियर 1 आईटी कंपनियों में ग्रोथ मजबूत बने रहने की उम्मीद है. वहीं टियर 2 कंपनियों में अभी ग्रोथ म्यूटेड रहेगा. रिपोर्ट के मुताबिक आउटसोर्सिंग ग्रोथ बेहतर हुई है. डिजिटल कारोबार का साइज बढ़ा है, वहीं BFSI भी बेहतर रहने की उम्मीद है. इस अर्निंग सीजन में आईटी कंपनियों का प्रदर्शन बेहतर रहने की उम्मीद है. हालांकि EBIT मार्जिन पर अभी दबाव दिखेगा.

किन बातों का मिल रहा है फायदा

फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि आईटी सेक्टर का आउटलुक मजबूत दिख रहा है. डोमेस्टिक मार्केट में डिमांड मजबूत थी, अब यूएस के अलावा यूरोप के बाजारों से भी आईटी कंपनियों को अच्छी डिमांड आ रही है. अच्छी बात है कि बड़ी कंपनियों ने नई टेक्नोलॉजी को अडॉप्ट किया है. डिजिटाइजेशन पर फोकस बढ़ाया है. टीसीएस और इंफोसिस के नतीजों से भी साफ है कि इनका डिजिटल रेवेन्यू बढ़ा है. टीसीएस के कुल रेवेन्यू का 31 फीसदी डिजिटल कारोबार से आया है.

डिजिटाइजेशन के अलावा क्लाउडिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की वजह से भी सेक्टर को फायदा मिल रहा है. क्लाइंट बेस भी मजबूत हो रहा है और ऑर्डरबुक मजबूत हुआ है. इसके अलावा यूएस में एच1वीजा को लेकर भी इश्यू नॉर्मल हुआ है. रुपये में उतार चढ़ाव भी एक फैक्टर रहा और रुपया ज्यादा मजबूत नहीं होने पाया है.

ऑपरेटिंग मार्जिन पर दबाव

एक्सपर्ट का कहना है कि रेवेन्यू बेहतर हो रहा है लेकिन ऑपरेटिंग मार्जिन पर दबाव दिख रहा है. इसका कारण है करंसी मार्केट में वोलैटिलिटी, अमेरिका में बढ़ रही लोकल हायरिंग और कुछ हद तक एच1-बी वीजा. मार्च तिमाही में टीसीएस और इंफोसिस दोनों के ऑपरेटिंग मार्जिन में कमी आई है.

ये फैक्टर भी मौजूद

करंसी मार्केट में उतार-चढ़ाव, आईटी सेक्टर में बढ़ रहा कॉम्पिटीशन, अमेरिका में लोकल हायरिंग बढ़ाने का दबाव. इससे शॉर्ट टर्म प्रेशर मौजूद रहेगा.

किन शेयरों में निवेश की सलाह

जगदीश ठक्कर ने TCS, HCL टेक, विप्रो और टेक महिंद्रा में निवेश की सलाह दी है. वहीं ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने साइंट, NIIT टक्नोलॉजी, सोनाटा सॉफटवेयर और टेक महिंद्रा में खरीद (Buy) की सलाह दी है. वहीं, TCS, HCL टेक, इंफोसिस और विप्रो में और शेयर बढ़ाने (Accumulate) की सलाह दी है.

 

(Disclamer: हमने यहां एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है. हम यहां निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. निवेश के पहले एडवाइजर से सलाह लें.)

Go to Top