सर्वाधिक पढ़ी गईं

तिमाही नतीजों के बाद जारी रहेगी IT सेक्टर में रैली! इंफोसिस, HCL सहित ये शेयर हो सकते हैं विनर

IT Sector Outlook: मिड टर्म में आईटी सेक्टर की ग्रोथ डबल डिजिट में रह सकती है.

Updated: Jan 06, 2021 7:49 AM
IT Sector Q3 ExpectationsIT Sector Outlook: मिड टर्म में आईटी सेक्टर की ग्रोथ डबल डिजिट में रह सकती है.

IT Sector Outlook: तीसरी तिमाही के नतीजों के पहले आईटी शेयरों में जोरदार तेजी बनी हुई है. मंगलवार के कारोबार में टीसीएस, इंफोसिस, विप्रो और HCL टेक अपने 52 हफ्तों के हाई पर पहुंच गए हैं. आईटी सेक्टर में यह रैली 3 दिनों से बढ़ गई है. 8 जनवरी को टीसीएस के नतीजों के साथ वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही के लिए अर्निंग सीजन की शुरूआत हो रही है. एक्सपर्ट अर्निंग सीजन में आईटी सेकटर से काफी उम्मीदें हैं. उनका मानना है कि दिसंबर तिमाही में कंपनियों को मजबूत डील हासिल हुई है. डिजिटल और क्लाउडिंग डील में इजाफा हुआ है. क्लाउड, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, साइबर सिक्योरिटी और AI में मांग बढ़ने से कंपनियों को फायदा होगा. मिड टर्म में सेक्टर की ग्रोथ डबल डिजिट में रह सकती है.

डबल डिजिट में ग्रोथ की उम्मीद

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल का मानना है कि आईटी सेक्टर की ग्रोथ मिड टर्म में डबल डिजिट में रह सकती है. ब्रोकरेज के अनुसार आईटी सेक्टर अभी अपने 10 साल के एवरेज मल्टीपल से 40 फीसदी प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा है. हालांकि मजबूत डील, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, वर्कप्लेस मैनेजमेंट पर फोकस और बड़े कॉरपोरेट द्वारा क्लाउडिंग पर स्पेंडिंग बढ़ाने का फायदा सेक्टर को मिलेगा. ब्रोकरेज का कहना है कि टियर 1 कंपनियों में इंफोसिस विनर साबित हो सकता है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि सीजनली कमजोर तीसरी तिमाही में तिमाही आधार पर 3 फीसदी की ग्रोथ से शेयरों में रैली जारी रह सकती है. इंफोसिस के अलावा टीसीएस और विप्रो में भी रैली बनी रहने की उम्मीद है.

इन वजहों से होगा फायदा

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार टियर 1 टेक कंपनियों कांस्टेंट करंसी के टर्म में तिमाही आधार पर 1.5-2.5 फीसदी ग्रोथ देखने को मिल सकती है. वहीं टियर 2 कंपनियों में तिमाही आधार पर ग्रोथ 2.4-5.5 फीसदी रह सकती है. रिपोर्ट के अनुसार क्लाउड, डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, साइबर सिक्योरिटी और AI में मांग बढ़ने से कंपनियों को फायदा होगा.

ब्रोकरेज का कहना है कि दिसंबर तिमाही में भी कंपनियों का ट्रैवल एक्सपेंस कम रहा है, वहीं रुपये में कमजोरी और डॉलर में मजबूती का फायदा टीसीएस और ऐसी कंपनियों को होगा, जिनका बड़ा रेवेन्यू बेस यूएस में है. आईटी कंपनियों ने प्रमोशन और सैलरी हाइक लागू किया है, जिसका असर दिखेगा.

तीसरी तिमाही में आईटी कंपनियों को अच्छी डील हासिल हुई है. इसमें डिजिटल डील, वेंडर कंसोलिडेशन डील, कोर ट्रांसफॉर्मेशन डील और इंटीग्रेटेड मेगा डील शामिल हैं. कई डील कंपनियों की पाइपलाइन में है. आर्डरबुक मजबेत होने का भी फायदा आईटी कंपनियों को होगा.

एमके ग्लोबल ने इंफोसिस, एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा जैसी टियर 1 कंपनियों में निवेश करने की सलाह दी है, वहीं टीसीएस और विप्रो में होल्ड की सलाह है. टियर 2 कंपनियों में PSYS और FSOL के शेयरों में निवेश की सलाह दी है.

ब्रोकरेज हाउस क्रेडिट सूइस के अनुसार टॉप कंपनियां अब कोविड 19 के प्रभाव से उबर रही हैं. मिड टर्म में इंफोसिस और एचसीएल टेक आउटपरफॉर्म कर सकता है.

(नोट: हमने यहां शेयरों की जानकारी ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. तिमाही नतीजों के बाद जारी रहेगी IT सेक्टर में रैली! इंफोसिस, HCL सहित ये शेयर हो सकते हैं विनर

Go to Top