मुख्य समाचार:
  1. IT सेक्टर के सामने हैं ये 7 चुनौतियां, निवेश करना है तो लंबी अवधि के लिए चुनें मजबूत शेयर

IT सेक्टर के सामने हैं ये 7 चुनौतियां, निवेश करना है तो लंबी अवधि के लिए चुनें मजबूत शेयर

निवेश के लिए आईटी सेक्टर का कैसा है आउटलुक

July 16, 2019 7:46 AM
IT Sector Outlook, IT Stocks, Invest In IT Stocks, TCS, Infosys, digital revenue, BFSI, आईटी सेक्टर, आईटी सेक्टर का आउटलुकनिवेश के लिए आईटी सेक्टर का कैसा है आउटलुक

IT Sector Outlook: आईटी सेक्टर की 2 दिग्गज कंपनियों टीसीएस और इंफोसिस के तिमाही नतीजों में यह राहत रही है कि आईटी कंपनियों का डिजिटल रेवेन्यू बढ़ रहा है. क्लाइंट बेस मजबूत हो रहा है. दूसरे सेक्टर की तुलना में सेक्टर बेहतर शेप में है. लेकिन साथ ही नियर टर्म में मार्जिन पर दबाव भी दिख रहा है. एक्सपर्ट का कहना है कि शॉर्ट टर्म में आईटी सेक्टर के सामने स्पेंडिंग को लेकर चुनौतियां रहेंगी. उनका कहना है कि छोटी अवधि में निवेशकों को दूर रहना चाहिए, लेकिन लंबी अवधि का नजरिया हो तो मजबूत कंपनियों में निवेश किया जा सकता है.

सेक्टर के सामने प्रमुख चुनौतियां

  • 1. यूएस में मैक्रो इकोनॉमिक कंडीशन का फेवर में न होना.
  • 2. यूएस और चीन के बीच ट्रेड वार और ब्रेग्जिट के चलते नियर टर्म में आईटी स्पेडिंग टाइट रहने का अनुमान है.
  • 3. यूएस ट्रेड वार के चलते 5जी कवरेज में देरी
  • 4. बैंकिंग सेक्टर में सुस्त ग्रोथ, जबकि बड़ी कंप​नियों के रेवेन्यू में 25-30% हिस्सेदारी BFSI सेग्मेंट की है.
  • 5. डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार मजबूती
  • 6. H1-B वीजा के टाइट सप्लाई के चलते आईटी सेक्टर में बेरोजगारी दर निचले स्तर पर, वेज इनफ्लेशन बढ़ने का डर
  • 7. बजट में मिनिमम पब्लिक शेयर होल्डिंग को 25 से बढ़ाकर 35 फीसदी किए जाने का ऐलान, जिससे टीसीएस और इंफोसिस जैसी कंपनियां प्रभावित हो सकती हैं.

सेक्टर के लिए क्या राहत

टीसीएस और इंफोसिस के नतीजों में राहत यह दिखा है कि डिजिटल रेवेन्यू में अच्छी ग्रोथ है. डिजिटल रेवेन्यू कुल रेवेन्यू का करीब 40 फीसदी रहा है. क्लाइंट बेस मजबूत हुआ है. नई डील मिल रही है. इससे साफ है कि कंपनियां नए बिजनेस मॉडल को बेहतर तरीके से अपना चुकी है.

एक या दो तिमाही बाद घटेगा दबाव

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटेजिस्ट गौरांग शाह का कहना है कि इस बार टीसीएस और इंफोसिस दोनों के नतीजे अनुमान से बेहतर रहे हैं. मुनाफे पर उतना दबाव नहीं दिखा, जितना पहली तिमाही में उम्मीद थी, यह बेहतर संकेत हैं. उनका कहना है कि अगले एक या दो तिमाही मार्जिन पर दबाव दिख सकता है, लेकिन आगे टर्न अराउंड के संकेत दिख रहे हैं. लंबी अवधि के लिए टीसीएस, इंफोसिस दोनों में अच्छा रिटर्न मिल सकता है. टीसीएस मौजूदा भाव पर खरीद सकते हैं, जबकि इंफोसिस में गिरावट का इंतजार करना चाहिए.

बेहतर शेप में आ रही है इंडस्ट्री

एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम का कहना है कि नतीजों से दिख रहा है कि आईटी सेक्टर दूसरे सेक्टर के मुकाबले बेहतर शेप में आ रही है. मौजूदा समय में चुनिंदा आईटी शेयरों का प्रदर्शन बेहतर रहा है. पिछले कुद महीनों में यह सेक्टर ओवरड्यू करेक्शन देख चुका है. ऐसे में आगे वैल्यू बॉइंग की उम्मीद है, जैसा पिछले सेशन में इंफोसिस में देखा गया. लाइफ साइंस, रिटेल/CPG में आईटी कंपनियों का प्रदर्शन अच्छा है. आगे सेक्टर में ग्रोथ की उम्मीद है. उनका कहना है कि लंबी अवधि में HCL टेक और TCS में निवेश की सलाह है.

(Disclamer: हमने यहां एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है. हम यहां निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. निवेश के पहले एडवाइजर से सलाह लें.)

Go to Top