मुख्य समाचार:

99% तक डिस्काउंट पर आ चुके हैं मिडकैप और स्मालकैप, कमाई के लिए इन 5 शेयरों पर रखें नजर

इकोनॉमी में रिकवरी आती है तो मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट को सबसे ज्यादा फायदा हो सकता है, जो करीब 2 साल से दबाव में हैं.

December 10, 2019 7:51 AM
mid cap, small cap, stock market, large cap, time to invest in midcaps, time to invest in smallcaps, मिडकैप और स्मालकैप, midcaps under performer, indian economy, india GDPइकोनॉमी में रिकवरी आती है तो मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट को सबसे ज्यादा फायदा हो सकता है.

सितंबर तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट 6 साल में सबसे कम 4.5 फीसदी पर आ गई है. जून तिमाही में यह 5 फीसदी थी. हालांकि एनालिस्ट का मानना है कि सरकार कई तरह के रिफॉर्म पर काम कर रही है. इसलिए यह सुस्ती स्थाई नहीं है, मौजूदा स्तर से इसमें रिकवरी की उम्मीद है. एक्सपर्ट का यह भी मानना है कि इकोनॉमी में रिकवरी आती है तो मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट को सबसे ज्यादा फायदा हो सकता है, जो करीब 2 साल से दबाव में हैं. मौजूदा समय में निवेशकों को मिडकैप सेग्मेंट में उन चुनिंदा शेयरों पर नजर रखनी चाहिए, जिसकी फाइनेंशियल सेहत बेहतर हो और उसमें किसी और तरह का इश्यू न दिख रहा हो.

इस साल मिडकैप और स्मालकैप अंडरपरफॉर्मर

इस साल की बात करें तो सेंसेक्स में अबतक 4419 अंकों यानी 12.25 फीसदी की ग्रोथ रही है. वहीं, निफ्टी में 1075 अंकों यानी 10 फीसदी ग्रोथ रही है. दूसरी ओर बीएसई मिडकैप इंडेक्स में 755 अंकों यानी करीब 5 फीसदी गिरावट रही है. इसी तरह से स्मालकैप इंडेक्स में भी 1426 अंकों यानी करीब 9.7 फीसदी गिरावट रही है. 2018 में भी इन दोनों सेग्मेंट का प्रदर्शन ठीक नहीं रहा था.

ज्यादातर शेयर डिस्काउंट पर

बीएसई मिडकैप की बात करें तो करीब 60 फीसदी शेयरों में इस साल अब तक गिरावट दर्ज हुई है. 44 शेयरों ने गेन किया है, जबकि 66 शेयर लाल निशान में हैं. इसी तरह से स्मालकैप में भी करीब 66 फीसदी शेयर डिस्काउंट पर चल रहे हैं. स्मालकैप की बात करें तो शेयरों में 98 फीसदी तक गिरावट आई है. वहीं मिडकैप में इस साल अबतक 62 फीसदी तक गिरावट आ चुकी है.

ये फैक्टर हैं साथ

  • इस बार मानसून बेहतर रहा है, जिससे रूरल इनकम में इजाफा होने की उम्मीद है.
  • पिछले दिनों सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में छूट दिए जाने का एलान किया है. इससे कंपनियों का मुनाफा बढ़ने की उम्मीद है.
  • शेयर बाजार में निवेशकों को भी टैक्स पर राहत मिली है, जिससे बाजार में लिक्विडिटी बढ़ेगी.
  • आने वाले दिनों में सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था को तेजी देने के लिए कुछ और राहत पैकेज का एलान हो सकता है.

क्या निवेशकों को लगाना चाहिए दांव

फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि किसी भी सेग्मेंट में सभी कंपनियों के साथ निगेटिव फैक्टर नहीं हो सकता है. मिडकैप और स्मालकैप की बात करें तो इनमें भी कई कंपनियां हैं, जो बेहतर कारोबार कर रही हैं. लेकिन उनके शेयरों में सिर्फ बाजार सेंटीमेंट की वजह से दबाव बना हुआ है. हालांकि कुछ शेयरों ने इस दौरान अच्छा प्रदर्शन भी किया है. अगर निवेशकों का लक्ष्य लंबी अवधि के लिए है तो निश्चित रूप से अच्छे मिडकैप शेयरों में पैसा लगा सकते हैं. आगे इकोनॉमी में रिकवरी आती है तो इसका सबसे ज्यादा फायदा ऐसे शेयरों को मिल सकता है.

एंजेल ब्रोकिंग के AVP-मिडकैप, अमरजीत मौर्य का कहना है कि जीडीपी ग्रोथ अभी सुस्त है. कंजम्पशन स्टोरी बेहतर नहीं हो रही है. कंपनियों की कमाई के अनुमान भी ज्यादा पॉजिटिव नहीं रहे हैं. ऐसे में निवेशकों को स्टॉक स्पेसिफिक रहकर लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए. यहां एक फायदा यह है कि इस सेग्मेंट में कई मजबूत शेयरों का वैल्युएशन सस्ता है. अगर लंबी अवधि के निवेशक नहीं हैं तो इकोनॉमी में रिकवरी का इंतजार करना चाहिए. शॉर्ट टर्म की बात करें तो अभी यह सेग्मेंट रिस्की है.

किन शेयरों पर रखें नजर

रिलायंस सिक्युरिटीज ने DCB बैंक में 230 रुपये के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है. अभी शेयर का भाव 175 रुपये है.

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने अल्ट्राटेक सीमेंट में 5050 रुपये के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है. शेयर का करंट प्राइस 4160 रुपये है. ब्रोकरेज ने टाटा ग्लोबल बेवरेजेज में भी 347 रुपये के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है. शेयर का करंट प्राइस 315 रुपये है.

बोकरेज हाउस ICICI डायरेक्ट ने अशोक बिल्डकॉन में 120 रुपये के ल्ख्य के साथ निवेश की सलाह दी है. शेयर का करंट प्राइस 91 रुपये है.

ब्रोकरज हाउस शेयरखान ने गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट में 865 रुपये के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है. शेयर का करंट प्राइस 658 रुपये है.

(नोट: हमने यहां जानकारी ब्रोकरेज हाउस और एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार में अपने जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 99% तक डिस्काउंट पर आ चुके हैं मिडकैप और स्मालकैप, कमाई के लिए इन 5 शेयरों पर रखें नजर

Go to Top