सर्वाधिक पढ़ी गईं

IPO के लिए ‘Super Hit’ रही मार्च तिमाही; 17 कंपनियों ने जुटाए 18800 करोड़, निवेशकों को क्या मिला?

IPO Market in January-March 2021: इस साल की पहली तिमाही कैपिटल मार्केट में आईपीओ के नाम रही है.

Updated: Apr 03, 2021 11:06 AM
IPO Market in January-March 2021IPO Market in January-March 2021: इस साल की पहली तिमाही कैपिटल मार्केट में आईपीओ के नाम रही है.

IPO Market in January-March 2021: इस साल की पहली तिमाही कैपिटल मार्केट में आईपीओ के नाम रही है. जनवरी से मार्च तिमाही में कुल 17 कंपनियों ने अपने आईपीओ पेश किए हैं. इन कंपनियों ने इश्यू साइज के लिहाज से मार्च तिमाही में आईपीओ से कुल 18803 करोड़ रुपये जुटाए हैं. यह 2018 मार्च तिमाही के बाद से सबसे ज्यादा है. उस दौरान 14 कंपनियों ने आईपीओ से 19,275 करोड़ रुपए जुटाए थे. नए साल पर इकोनॉमिक आउटलुक सुधरने और आगे बे​हतर ग्रोथ की आस में आईपीओ मार्केट इस साल गुलजार रहा है. बीते साल के अंतिम महीनों में भी आईपीओ को लेकर निवेशकों में जबरदस्त क्रेज देखने को मिला था.

इन 17 कंपनियों के आए आईपीओ

(कंपनी और इश्यू साइज)

IRFC: 4633 करोड़
इंडिगो पेंट्स: 1171 करोड़
Home First Finance: 1154 करोड़
स्टोव क्राफ्ट: 412.63 करोड़
ब्रककफील्ड इंडिया रियल एस्टेट: 3800 करोड़
न्यूरेका लिमिटेड: 100 करोड़
रेलटेल: 819.24 करोड़
हेरांबा इंडस्ट्रीज: 625 करोड़
MTAR टेक: 596.41 करोड़
ईजी ट्रिप प्लानर: 510 करोड़
अनुपम रसायन: 760 करोड़
लक्ष्मी आर्गनिक्स: 600 करोड़
क्राफ्ट्समैन आटोमेशन: 824 करोड़
सूर्योदय स्माल फाइनेंस बैंक: 582 करोड़
कल्याण ज्वैलर्स: 1175 करोड़
नजारा टेक्नोलॉजी: 583 करोड़
बारबेक्यू नेशन: 453 करोड़

निवेशकों को कितना फायदा

इस साल जिन 17 कंपनियों ने अपना आईपीओ लॉन्च किया है, उनमें से 16 की बाजार में लिस्टिंग हो चुकी है. इन 16 में से 10 आईपीओ में लिस्टिंग वाले दिन निवेशकों ने मुनाफा कमाया. इंडिगो पेंट्स ने लिस्टिंग वाले ही दिन 109 फीसदी रिटर्न दिया, यानी एक दिन में पैसे डबल हो गए. MTAR टेक ने लिस्टिंग वाले दिन 88 फीसदी रिटर्न दिया. जबकि न्यूरेका का लिस्टिंग डे रिटर्न 67 फीसदी और नजारा टेक का 43 फीसदी रहा है. हेरांबा में लिस्टिंग वाले दिन 29 फीसदी, जबकि लक्ष्मी आर्गनिक्स में 27 फीसदी रिटर्न मिला है.

हालांकि सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक, कल्याण ज्वैलर्स, अनुपम रसायन, IRFC, क्राफ्ट्समैन ऑटोमेशन ने निराश किया.

कंपनियां क्यों ला रही हैं IPO

असल में कंपनियों को अपने कारोबार का विस्तार करने करने के लिए पैसे की जरूरत होती है. ऐसे में आईपीओ के जरिए कंपनियां पूंजी जुटाती हैं और जुटाई गई पूंजी का इस्तेमाल कारोबार को बढ़ाने में करती हैं. इसी वजह से सही समय पर कंपनियां आईपीओ लाती रहती हैं. मौजूदा समय की बात करें तो सेकंडरी मार्केट के पॉजिटिव सेंटीमेंट के कारण प्राइमरी मार्केट में भी तेजी रही है. फरवरी के मिड तक इस साल शेयर में लगातार रैली देखने को मिली है. सेंसेक्स अभी भी 50 हजार के करीब है. ग्लोबल लिक्विडिटी बढ़ने के कारण एक के बाद एक कई कंपनियों ने IPO जारी किए. 2021 की मार्च तिमाही में FII ने 53,000 करोड़ रुपए भारतीय शेयर बाजार में निवेश किए.

कैसे कर सकते हैं निवेश

आईपीओ में आप अपने स्तर पर सीधे निवेश कर सकते हैं, जिसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. इसमें ब्रोकर के जरिए भी निवेश किया जा सकता है. हर ब्रोकरेज हाउस आईपीओ में निवेश के लिए अपनी वेबसाइट पर एक अलग सेक्शन रखता है, जहां जाकर आप कुछ सूचनाएं भरने के बाद आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. IPO के लिए ‘Super Hit’ रही मार्च तिमाही; 17 कंपनियों ने जुटाए 18800 करोड़, निवेशकों को क्या मिला?
Tags:IPO

Go to Top