सर्वाधिक पढ़ी गईं

एक झटके में निवेशकों के 7 लाख करोड़ साफ, कोरोना और क्रूड सहित इन 4 वजहों से बाजार में सबसे बड़ी गिरावट

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अब घरेलू शेयर बाजार में हाहाकार मच गया है.

Updated: Mar 09, 2020 2:01 PM
Covid-19, Coronavirus, Investors Wealth Tank, Sensex & Nifty Fall on 9 march 2020, yes bank crisis, sell off in global stock market, economic uncertaintyकोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अब घरेलू शेयर बाजार में हाहाकार मच गया है.

Investors Wealth Tank as Sensex & Nifty Fall: कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अब घरेलू शेयर बाजार में हाहाकार मच गया है. सोमवार के कारोबार में सेंसेक्स करीब 2400 अंक टूट गया. निफ्टी भी 15 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया और 10400 का अहम स्तर टूट गया. कोरोना के अलावा यस बैंक के सेंटीमेंट और क्रूड ने भी बाजार का मूड बिगाड़ा है. फिलहाल बाजार की इस गिरावट में बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट ​कैप 6.50 लाख करोड़ घट गया है. असल में जिस तरह से भारत में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, निवेशकों में डर बढ़ता जा रहा है.

निवेशकों के डूबे 5.71 लाख करोड़

सेंसेक्स के 1500 अंकों की गिरावट के बाद बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप घटकर 1,37,19,353.97 करोड़ रह गया. जबकि शुक्रवार को शेयर बाजार 37,576.62 के स्तर पर बंद हुआ था और उस समय बीएसई का मार्केट कैप 1,44,86931 करोड़ रुपये था. इस लिहाज से एक घंटे में निवेशकों के करीब 7 लाख करोड़ रुपये डूब गए.

भारत में कोरोना के 41 मरीज

रविवार को केरल और तमिलनाडु में कोरोना के 6 नए मामलों की पुष्टि हुई थी. वहीं, आज भी केरल में एक नया मामला सामने आने से कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 41 हो गई है. दुनियाभर में मरीजों की संख्या 1 लाख के पार पहुंच गई है. कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर में करीब 3639 लोगों की डेथ हो चुकी है. चीन में कोरोना के करीब 85000 मामले आए हैं. वहीं, इटली में 1.5 करोड़ लोगों पर ट्रैवल बैन लगा है. इटली में स्कूल, जिम, म्यूजियम, नाइटक्लब बंद कर दिए गए हैं. इटली में मरने वालों की संख्या 230 हो गई है. चीन और इटली के अलावा दक्षिण कोरिया, इरान भी कोरोना से बुरी तरह से प्रभावित देश हैं.

क्रूड में भारी गिरावट

ओपेक देशों और रूस के बीच प्राइस वार छिड़ने से क्रूड की कीमतों में 30 फीसदी की भारी गिरावट आई है. ब्रेंट 36 डॉलर के नीचे फिसल गया है. गोल्डमैन सैक्स ने ब्रेंट क्रूड का लक्ष्य घटाकर 20 डॉलर कर दिया है. कोरोना के चलते प्रोक्डशन कट डील पर सहमति नहीं बनने से कीमतों में इतनी बड़ी गिरावट आई है.

यस बैंक क्राइसिस

घरेलू स्तर पर यस बैंक ने भी बाजार सेंटीमेंट बिगाड़ा है. यस बैंक में अनियमितताओं की आशंका में एक महीने में 50 हजार रुपये निकासी का लिमिट तय की गई है. वहीं, यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर ईडी की कस्टडी में हैं. उनके और उनके परिवार पर वित्तीय अनियमितताओं का आरोप है. रविवार को उनकी बेटी को मुंबई एयरपोर्ट पर उस समय रोक लिया गया, जब वे लंदन जाने की फिराक में थी. फिलहाल यस बैंक को बचाने के लिए देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक एसबीआई सामने आया है जो बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकता है.

ग्लोबल सेलआफ

दूसरी ओर दुनियाभर के बाजारों में कोरोना वायरस के चलते बिकवाली है. खराब ग्लोबल संकेतों के बीच डाउ फ्यूचर 1250 अंक से ज्यादा फिसला है. इधर, एशियाई बाजार निक्केई 225 में 5.5 फीसदी और एसजीएक्स निफ्टी में 3.24 फीसदी की बड़ी गिरावट है. अमेरिकी बाजार शुक्रवार को गिरावट पर बंद हुए थे. कारोबार के दौरान डाउ जोंस 1000 अंक तक कमजोर हुआ था, हालांकि बाद में इसमें सुधार हुआ था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. एक झटके में निवेशकों के 7 लाख करोड़ साफ, कोरोना और क्रूड सहित इन 4 वजहों से बाजार में सबसे बड़ी गिरावट

Go to Top