मुख्य समाचार:

इन इक्विटी स्‍कीमों ने 5 साल में दोगुना कर दिया निवेशकों का पैसा, क्या आपने किया है निवेश

पिछले एक साल में करीब 80 फीसदी इक्विटी म्यूचुअल फंडों में रिटर्न निगेटिव रहा है.

October 13, 2019 10:50 AM
Equity Mutual Funds, top equity funds in last 5 years, high return in equity fund, इक्विटी म्यूचुअल फंड, invest in mutual fund SIPपिछले एक साल में करीब 80 फीसदी इक्विटी म्यूचुअल फंडों में रिटर्न निगेटिव रहा है.

पिछले एक साल में करीब 80 फीसदी इक्विटी म्यूचुअल फंडों में रिटर्न निगेटिव रहा है. पिछले एक साल में शेयर बाजार पर स्लोडाउन का जो असर रहा है, उसे इक्विटी फंडों पर दबाव देखा गया है. फिलहाल निवेशकों में मन में यही सवाल उठ रहा है कि आगे के लिए इक्विटी फंडों को लेकर क्या रणनीति होनी चाहिए. एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार में एक साइक्लिक मंदी आती है, लेकिन यह स्थाई नहीं होती. वहीं अगर बात इक्विटी फंडों की है तो इसमें निवेशकों को जल्दबाजी करने की बजाए कम से कम 5 साल का नजरिया बनाकर निवेश करना चाहिए.

क्या कहना है एक्सपर्ट का

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि शेयर बाजार पिछले दिनों कई वजहों से करेक्शन मोड में रहा है, जिसका असर इक्विटी म्यूचुअल फंड के प्रदर्शन पर पड़ा है. लेकिन जिन निवेशकों ने लंबी अवधि का लक्ष्य तय कर इक्विटी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाया है, उन्हें यह समझना चाहिए कि उनका लक्ष्य अभी पूरा नहीं हुआ है. आगे बाजार को कोई मजबूत ट्रिगर मिलता है तो एक बार फिर रिकवरी आनी शुरू हो जाएगी. निवेशकों के लिए बेहतर है कि वे बने रहें और बाजार के स्थिर होने का इंतजार करें. वैसे भी पिछले 3 से 5 साल का रिटर्न उठाकर देखें तो निवेशकों को अच्छा रिटर्न मिला है.

नए निवेशक क्या करें

नए निवेशकों को सलाह है कि इक्विटी में निवेश करना चाहते हैं तो वे अच्छे फंड चुनकर एसआईपी के जरिए कुछ न कुछ निवेश करें. अभी बाजार में बहुत से शेयर अच्छी खासी गिरावट के साथ आकर्षक वैल्यूएशन पर हैं, ऐसे में उन्हें यूनिट बढ़ाने का मौका मिलेगा. बाजार में तेजी आने पर वे इसका पूरा फायदा उठा सकते हें. हालांकि उन्हें अपने पोर्टफोलियो को बैलेंस रखकर चलना होगा.

यंग इन्वेस्टर्स: अगर यंग इन्वेस्टर हैं तो अभी इक्विटी म्यूचुअल फंड और डाइवर्सिफाइड मिडकैप फंड बेहतर विकल्प है.

मिड एज ग्रुप: मिड एज ग्रुप के हैं तो 2 तरह से निवेश किया जा सकता है. 50 फीसदी निवेश इक्विटी डाइवर्सिफाई फंड में करना चाहिए, वहीं 50 फीसदी निवेश के लिए बैलेंस फंड बेहतर विकल्प है.

ज्यादा उम्र वर्ग के लिए: ज्यादा उम्र वर्ग के हैं तो लॉर्जकैप और लॉर्ज एंड मिडकैप फंड बेहतर विकल्प हो सकता है.

कंजर्वेटिव इन्वेस्टर्स: अगर निवेश को लेकर बहुत ज्यादा सतर्क हैं तो इक्विटी हाइब्रिड फंड बेहतर विकल्प है.

पिछले 5 सालों में इन फंडों ने पैसा किया डबल

SBI स्माल कैप फंड

5 साल का एबसॉल्यूट रिटर्न: 116 फीसदी
सालाना के हिसाब से: 16.75%
एसेट: 2704 करोड़ (30 सितंबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.31% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 9 सितंबर, 2009
लांच के बाद से रिटर्न: 17.48%
मिनिमम एसआईपी: 500 रुपये

मिराए एसेट इमर्जिंग ब्लूचिप फंड

5 साल का एबसॉल्यूट रिटर्न: 111 फीसदी
सालाना के हिसाब से: 16.19%
एसेट: 8219 करोड़ (30 सितंबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.78% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 9 जुलाई, 2010
लांच के बाद से रिटर्न: 19.47%
मिनिमम एसआईपी: 1000 रुपये

आदित्य बिरला सनलाइफ बैंकिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज फंड

5 साल का एबसॉल्यूट रिटर्न: 116.1 फीसदी
सालाना के हिसाब से: 15.84%
एसेट: 1806 करोड़ (30 सितंबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.42% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 14 दिसंबर, 2013
लांच के बाद से रिटर्न: 19.33%
मिनिमम एसआईपी: 1000 रुपये

Invesco इंडिया फाइनेंशियल सर्विसेज फंड

5 साल का एबसॉल्यूट रिटर्न: 116.2 फीसदी
सालाना के हिसाब से: 14.95%
एसेट: 163 करोड़ (30 सितंबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.40% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 14 जुलाई, 2008
लांच के बाद से रिटर्न: 16.67%
मिनिमम एसआईपी: 100 रुपये

(Disclaimer: म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार के जोखिमों के अधीन है. निवेश से पहले अपने स्तर पर पड़ताल कर लें या अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से परामर्श कर लें. फाइनेंशियल एक्सप्रेस किसी भी फंड में निवेश की सलाह नहीं देता है.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. इन इक्विटी स्‍कीमों ने 5 साल में दोगुना कर दिया निवेशकों का पैसा, क्या आपने किया है निवेश

Go to Top