सर्वाधिक पढ़ी गईं

Select Best IPO: आईपीओ मार्केट से करना चाहते हैं कमाई, निवेश के लिए कैसे चुनें बेस्ट इश्यू

How to Select Best IPO: बाजार की मजबूत रिकवरी ने निवेशकों को फिर खरीद के मूड में ला दिया है.

Updated: Feb 23, 2021 12:52 PM
How to Select Best IPOHow to Select Best IPO: बाजार की मजबूत रिकवरी ने निवेशकों को फिर खरीद के मूड में ला दिया है.

How to Select Best IPO: पिछले साल कोरोना वायरस महामारी के चलते शेयर बाजार में भारी गिरावट आई थी. लेकिन अब पिछले साल मार्च के लो से शेयर बाजार में मजबूत रिकवरी आई है और यह अपने लो से 100 फीसदी के आस पास मजबूत हुआ है. बाजार की इस मजबूत रिकवरी ने निवेशकों को फिर खरीद के मूड में ला दिया है. दलाल स्ट्रीट ऊर्जा से भरा है क्योंकि आईपीओ मार्केट में एक बार फिर तेजी है. आईपीओ मार्केट की तेजी को देखकर ही कई कंपनियां शेयर बाजार में लिस्ट हो रही हैं या उनका ऐसा प्लान है. इसमें कुछ नई कंपनियों से लेकर एलआईसी जैसी जानी मानी कंपनियां शामिल हैं. इसके अलावा स्टील, सीमेंट, हेल्थकेयर और होटल आदि क्षेत्रों की करीब ग 83 कंपनियां इस लाइन में हैं. आइए देखते हैं कि किसी आईपीओ का चयन करने के लिए निवेशकों को क्या देखना चाहिए.

क्या करने से बचें

कई हाई-प्रोफाइल आईपीओ होते हैं जो लिस्टिंग के दिन मजबूत रिटर्न देते हैं. लेकिन उनमें कई ऐसे आईपीओ भी होते हैं, जो निवेशकों को निराश करते हैं क्योंकि उनका लांग टर्म प्रदर्शन कमजोर हो जाता है. यह महंगे वैल्युएशन की वजह से भी हो सकता है, जो भविष्य के लाभ को सीमित कर देता है. अधिकांश निवेशकों को आईपीओ पर शेयर अलॉटमेंट तब तक नहीं मिल सकता, जब तक कि यह सेकंडरी मार्केट में ट्रेडिंग न शुरू कर दे. इस तरह से निवेशक पहले कुछ दिनों के होने वाले गेन से पूरी तरह से लाभ नहीं पा सकते हैं. इसके अलावा, ऐसा देखा गया है कि निवेशक व्यापक स्टॉक इंडेक्स में निवेश करके बेहतर लाभ कमा सकते हैं.

IPOs में क्या हो स्ट्रैटेजी

इस साल की आईपीओ पाइपलाइन मजबूत दिख रही है और इसमें कई जानी मानी कंपनियां शामिल हैं. आईपीओ में निवेश करने के लिए कई स्ट्रैटेजी हैं. सबसे पहले, अगर आपको आफर प्राइस पर आईपीओ में आवंटित शेयर नहीं मिल रहे हैं, तो इसकी लिस्टिंग के दिन शेयर खरीदने से बचें.

इसकी बजाय, वेट एंड वाच पॉलिसी पर ध्यान दें. अगर आप इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि एक नई लिस्टेड कंपनी का भविष्य बेहतर है, तो उसके शेसरों में गिरावट आने पर खरीददारी करने पर विचार करें.

निवेशक तब तक भी इंतजार कर सकते हैं जब तक कि कोई फर्म अपनी कीमत साबित नहीं कर देती है. साथ ही उसकी बिक्री और कमाई में होने वाली ग्रोथ स्टेबल न हो जाए.

आईपीओ में एक्सपोजर हासिल करने औा व्यक्तिगत तौर पर स्टॉक के जोखिम को कम करने का एक और तरीका यह है कि मोटे तौर पर डाइवर्सिफाइड और कम लागत वाले एक्सचेंज ट्रेडेड फंडों में निवेश किया जाए.

DRHP के फाइन ​प्रिंट को सही से पढ़ें

सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड आफ इंडिया (सेबी) उन सभी कंपनियों को मैनडेट करता है जो अपने साथ ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) दाखिल करने के लिए सार्वजनिक रूप से जाना चाहती हैं. यह दस्तावेज़ न केवल वित्तीय जानकारी का सबसे अच्छा स्रोत है, बल्कि कंपनी के बारे में अन्य गैर-वित्तीय जानकारी भी मिलती है. इसलिए हमेशा कंपनी के फाइन प्रिंट को पढ़ना अच्छा आईपीओ चुनने में मददगार बन सकता है. यह कंपनी के व्यवसाय, फाइनेंशियल, कैपिटल स्ट्रक्चर आदि के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करता है.

प्रबंधन टीम और उनकी योग्यता

निवेशकों को कंपनी के प्रमोटर्स और उनकी विश्वसनीयता, प्रबंधन टीम और उनकी योग्यता आदि के बारे में भी पता होना चाहिए. प्रॉसपेक्टस निवेशकों को आईपीओ के बारे में सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करेगा, और यह तय करने में मदद करेगा कि कंपनी निवेश करने के लायक है या नहीं.

(लेखक: P Saravanan, professor of finance & accounting, IIM Tiruchirappalli)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Select Best IPO: आईपीओ मार्केट से करना चाहते हैं कमाई, निवेश के लिए कैसे चुनें बेस्ट इश्यू
Tags:IPO

Go to Top