सर्वाधिक पढ़ी गईं

Budget Impact: बजट के बाद ये सेक्टर हो सकते हैं विनर, निवेशक शेयर बाजार में कहां लगाएं पैसे

Budget 2021, Winner Sectors: बजट 2021 में इंफ्रा, रूरल, सीमेंट, रीयल एस्टेट, हेल्थकेयर, बैंकिंग, इंश्योरेंस, NBFCs, एग्रीकल्चर आदि के लिए पॉजिटिव एलान किए गए हैं.

Updated: Feb 02, 2021 1:58 PM
Budget 2021, Winner SectorsBudget 2021, Winner Sectors: बजट 2021 में इंफ्रा, रूरल, सीमेंट, रीयल एस्टेट, हेल्थकेयर, बैंकिंग, इंश्योरेंस, NBFCs, एग्रीकल्चर आदि के लिए पॉजिटिव एलान किए गए हैं.

Winner Sectors of Budget 2021: बजट के बाद शेयर बाजार में जोरदार तेजी देखने को मिल रही है. बजट डे पर सेंसेक्स 2314 अंक मजबूत होकर बंद हुआ था. वहीं 2 फरवरी को भी यह 1200 अंकों की जोरदार तेजी के साथ 49800 के पार चला गया. निफ्टी भी 2 दिनों में करीब 1000 अंक मजबूत हुआ है. एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस ने बजट को बाजार के फेवर में बताया है. उनका कहना है कि निवेशकों पर कोई एक्स्ट्रा टैक्स मसलन कोविड टैक्स नहीं लगाया है. कैपिटल गेंस टैक्स या एसटीटी में कोई बदलाव नहीं हुआ है. साथ ही इंफ्रा, रूरल, आटो, सीमेंट, रीयल एस्टेट, हेल्थकेयर, बैंकिंग, इंश्योरेंस, NBFCs, एग्रीकल्चर आदि के लिए पॉजिटिव एलान किए गए हैं. उनका कहना है कि जहां कोरोना से जूझ रहे तमाम सेक्टर्स को बजट का फायदा मिलेगा, वहीं शेयर बाजार में रैली आगे भी जारी रह सकती है. एक्सपर्ट के अनुसार निफ्टी के लिए नया सपोर्ट लेवल 14140 दिख रहा है. वहीं उपर की ओर 14500 ब्रेक करने पर तेजी बढ़ेगी.

क्या कहना है एक्सपर्ट का

एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज के मैनेजिंग डायरेक्टर कृष्ण कुमार कारवा का कहना है कि यह बजट अगले 100 साल तक याद रखने लायक है. डायरेक्ट टैक्स में कोई बदलाव नहीं हुआ, वहीं कैपिटल गेंस और एसटीटी को भी टच नहीं किया है. निवेशकों पर किसी तरह का कोविड टैक्स नहीं लगा है, जिसका डर बना हुआ था. वहीं 2 सरकारी बैंकों के निजीकरण का प्रपोजल है, जिससे साफ है कि बैंकिंग सेक्टर पर फोकस है. इंश्यारेंस सेक्टर में FDI के लक्ष्य को लेकर भी सरकार ने स्थिति साफ की है.

रेलिगेयर ब्रोकिंग के चीफ आपरेटिंग आफिसर गुरप्रीत सिदाना का कहना है कि य​ह निश्चित रूप से ग्रोथ ओरिएंटेड बजट था. मौजूदा अर्थव्यवस्था को इससे बूसट मिलेगा. बजट से साफ है कि सरकार का फोकस अर्थव्यवस्था को मजबूती देने पर है. सरकार ने बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर के अलावा सोशल सेक्टर, हेल्थकेयर, और एग्रीकल्चर पर खर्च बढ़ाया है. रूरल सेंटीमेंट को बूसट करने की कोशिश की गई है. स्ट्रेस्ड एसेट्स को मैनेज करने के लिए एसेट मोनेटाइजेशन, एसेट रीकंस्ट्रक्शन सेटअप की बरात कही गई है. किसी तरह का एक्स्ट्रा टैक्स नहीं लादा गया है और न ही LTCG/STT/STCG टैकस में बदलाव हुआ है.

सैमको सिक्योरिटीज के फाउंडर और सीईओ जिमीत मोदी का कहना है कि पर्सनल और कॉरपोरेट टैक्स में कोई बदलाव न कर आम आदमी से इंडस्ट्री को राहत दी गई है. कोरोना महामारी की वजह से मुश्किल समय में यह बजट इकोनॉमी को राहत देने वाला है. यह कैपेक्स और इंफ्रा थीम वाला बजट रहा है. इस बजट से सीमेंट, हैवी इंडस्ट्री, इंश्योरेंस, बैंकिंग सेक्टर, रीयल एस्टेट को फायदा होगा. कस्टम ड्यूटी को कम करने का एलान किया गया है.

इडेलवाइस सिक्योरिटीज के रिसर्च हेड, इंस्टीट्यूशन इक्विटीज, आदित्य नारायण का कहना है कि यह बजट सही समय पर पेश किया गया है. बजट में सरकार ने लांग टर्म पॉलिसी पर काम किया है, जिससे अर्थव्यवस्था को मजबूती मिल सके. मन्नापुरम फाइनेंस के एमडी और सीईओ वीपी नंदकुमार का कहना है कि मुश्किल समय में यह बजट ग्रोथ ओरिएंटेड है. इसमें बैकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर की समस्याओं को दूर करने के संकेत मिले हैं. इस बजट से बैंकिंग के अलावा NBFC सेक्टर को भी मजबूती मिलेगी.

एंजेल ब्रोकिंग के सीनियर एनालिस्ट, टेक्निकल एंड डेरीवेटिव्स, रुचित जैन का कहना है कि बजट के बाद शेयर बाजार में शानदार तेजी आई है. बजट के इिन सेंसेक्स 5 फीसदी बढ़त के साथ बंद हुआ जो पिछले 22 साल में बजट डे पर सबसे ज्यादा तेजी है. बजट के पहले बाजार में अच्छा खासा करेक्शन देखने को मिल चुका है. ऐसे में बजट के बाद आगे भी तेजी जारी रह सकती है. निफ्टी के लिए 14140 से 14000 के लेवल पर नया सपोर्ट लेवल अब बन गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Budget Impact: बजट के बाद ये सेक्टर हो सकते हैं विनर, निवेशक शेयर बाजार में कहां लगाएं पैसे

Go to Top