सर्वाधिक पढ़ी गईं

नतीजों के बाद 4% टूटा इंफोसिस, क्या शेयर में करना चाहिए निवेश? जानें ब्रोकरेज हाउस की राय

Infosys Stocks Outlook: आईटी कंपनी इंफोसिस के शेयरों में 15 अप्रैल को बिकवाली देखने को मिल रही है.

Updated: Apr 15, 2021 10:09 AM
Infosys Stocks OutlookInfosys Stocks Outlook: आईटी कंपनी इंफोसिस के शेयरों में 15 अप्रैल को बिकवाली देखने को मिल रही है.

Infosys Stocks Outlook: आईटी कंपनी इंफोसिस के शेयरों में 15 अप्रैल को बिकवाली देखने को मिल रही है. कंपनी का शेयर करीब 4 फीसदी टूटकर 1320 रुपये के भाव पर आ गया है. इसके पहले बुधवार को शेयर 1398 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. असल में इंफोसिस के तिमाही नतीजे अनुमान से कुछ कमजोर रहे हैं, जिससे आज निवेशकों का सेंटीमेंट बिगड़ा है. चौथी तिमाही में कंपनी का ऑपरेटिंग प्रॉफिट 2.3 फीसदी गिरकर 6440 करोड़ रह गया, जबकि मार्जिन (QoQ) 90 बेसिस प्वाइंट घटकर 24.5 फीसदी रहा है. एक्सपर्ट को इससे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी. हालांकि एक्सपट्र को आगे कंपनी से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है. इसी वजह से ज्यादातर ने शेयर में निवेश की सलाह दी है.

रेवेन्यू ग्रोथ अनुमान से कम

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक चौथी तिमाही में इंफोसिस की रेवेन्यू ग्रोथ अनुमान से कम रही है. CC टर्म में रेवेन्यू ग्रोथ तिमाही आधार पर 2 फीसदी रही, जबकि अनुमान 3 फीसदी से ज्यादा रहने की थी. जबकि इस दौरान USD रेवेन्यू ग्रोथ 2.8 फीसदी रही, जबकि इसके 3.7 फीसदी रहने का अनुमान था.

EBIT मार्जिन 90bp घटकर 24.5 फीसदी रह गया जो अनुमान से कमजोर है. 24.9 फीसदी EBIT मार्जिन रहने का अनुमान था. कंपनी का ऑपरेटिंग प्रॉफिट 2.3 फीसदी गिरकर 6440 करोड़ रह गया. चौथी तिमाही में इंफोसिस के परिचालन खर्च 5.7 फीसदी बढ़कर 2707 करोड़ रहा.

5076 करोड़ रुपये का मुनाफा

जनवरी से मार्च की तिमाही के दौरान कंपनी का नेट प्रॉफिट पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 17 फीसदी बढ़कर 5076 करोड़ रुपये हो गया है. पिछले साल के इन्हीं महीनों के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ 4,321 करोड़ रुपये रहा था. इस तिमाही के दौरान कंपनी की कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू 26,311 करोड़ रुपये रही है. पिछले साल की इसी अवधि के दौरान कंपनी की रेवेन्यू 23,267 करोड़ रुपये रही थी. कंपनी ने वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान एक लाख करोड़ रुपये के रेवेन्यू का पड़ाव पार कर लिया है.

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए गाइडेंस

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए इंफोसिस ने कॉन्सटैंट करेंसी (CC) के आधार पर 12 से 14 फीसदी का रेवेन्यू ग्रोथ गाइडेंस सामने रखा है. कंपनी ने आगामी कारोबारी साल के लिए अपना EBIT मार्जिन ग्रोथ फोरकास्ट 22 से 24 फीसदी तक घोषित किया है. इंफोसिस का कहना है कि उसने समीक्षा अवधि के दौरान 130 नए क्लाइंट जोड़े हैं, जिन्हें मिलाकर उसके अब कुल 1626 क्लाइंट हो चुके हैं.

क्या है निवेश पर राय

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक कंपनी द्वारा वित्त वर्ष 2021-22 के लिए रेवेन्यू ग्रोथ गाइडेंस देखकर शेयर में आगे ग्रोथ की उम्मीद है. हालांकि यह तेजी लिमिटेड रहेगी. ब्रोकरेज ने शेयर में खरीद की सलाह देते हुए लक्ष्य 1600 रुपये दिया है. वहीं ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने शेयर पर न्यूट्रल रेटिंग दी है.

ब्रोकरेज हाउस CLSA ने इंफोसिस के शेयर पर खरीददारी की रेटिंग देते हुए लक्ष्य 1660 रुपये तय किया है. CLSA के अनुसार FY21-24 के रेवेन्यू CAGR अनुमान को 12 फीसदी पर बरकरार रखा है. ब्रोकरेज हाउस क्रेडिट सूईस ने इंफोसिस पर आउटपरफॉर्म रेटिंग दी है और शेयर का लक्ष्य 1725 रुपये से बढ़ाकर 1810 रुपये तय किया है. रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के लिए यह तिमाही प्रभावशाली नहीं रही है और कंपनी गाइडेंस को लेकर सतर्क है. हालांकि डिविडेंड और बायबैक से शेयर को सपोर्ट मिलना संभव है.

(नोट: हमने यहां जानकारी कंपनी के तिमाही नतीजों और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. नतीजों के बाद 4% टूटा इंफोसिस, क्या शेयर में करना चाहिए निवेश? जानें ब्रोकरेज हाउस की राय
Tags:Infosys

Go to Top