मुख्य समाचार:

कोरोना का सबक! लालच से दूर हुए म्यूचुअल फंड निवेशक, इक्विटी की बजाय फिक्स्ड इनकम स्कीम पर लगा रहे दांव

देश में कोविड-19 के चलते अभी म्यूचुअल फंड निवेशक फिलहाल ज्यादा लालच की बजाए कम रिस्क वाली योजनाओं में पैसा लगा रहे हैं.

Updated: Jun 08, 2020 5:01 PM
Mutual Fund, COVID-19 impact on mutual fund investors, Inflows into equity mutual funds dropped to 5 months low, investors betting on fixed income securities, large cap funds, multi cap fund, large and mid cap funds, ELSS, mutual fund industrtyदेश में कोविड-19 के चलते अभी म्यूचुअल फंड निवेशक फिलहाल ज्यादा लालच की बजाए कम रिस्क वाली योजनाओं में पैसा लगा रहे हैं.

देश में कोविड-19 के चलते अभी म्यूचुअल फंड निवेशक फिलहाल ज्यादा लालच की बजाए कम रिस्क वाली योजनाओं में पैसा लगा रहे हैं. फिलहाल निवेशक इक्विटी फंड की बजाए फिक्स्ड इनकम सिक्युरिटीज में पैसा लगा रहे हैं. पिछले महीने तक बाजार में हाई वोलैटिलिटी के साथ अनिश्चितता भरा माहौल रहा. इसका नतीजा ये रहा कि निवेशक इक्विटी म्यूचुअल फंड योजनाओं में पैसा लगाने से डर रहे हैं. एसोसिएशन आफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया के ताजा आंकड़ों के अनुसार मई महीने में निवेशकों ने इक्विटी फंड योजनाओं में 5,256 करोड़ रुपये का निवेश किया है. यह पिछले 5 महीने में सबसे कम है. मई में निवेशकों का फोकस फिक्स्ड इनकम सिक्युरिटीज पर बढ़ा है. ओवरआल म्यूचुअल फंड की हर कटेगिरी में मई महीने में 70813 करोड़ रुपये का निवेया हुआ है.

इक्विटी फंड में कब कितना निवेश

मई महीने में इक्विटी और इक्विटी लिंक्ड ओपेन एंडेड फंड में 5,256 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है. जबकि क्लोज एंडेड फंड्स में 211 करोड़ का आउटफ्लो हुआ. अप्रैल में इक्विटी योजनाओं में 6,213 करोड़, मार्च में 11,723 करोड़, फरवरी में 10,796 करोड़, जनवरी में 7,877 करोड़ और दिसंबर में 4,499 करोड़ रुपये का निवेया आया था.

लॉर्जकैप पर लगा दांव

लॉर्जकैप योजनाओं में 1,556 करोड़ रुपये, मल्टीकैप योजनाओं में 758 करोड़ रुपये, ELSS में 737 करोड़ रुपये, लॉजैकैप एंड मिडकैप में 712 करोड़ रुपये का इनफ्लो हुआ है.

फिक्स्ड इनकम सिक्युरिटीज पर बढ़ा फोकस

मई में निवेशकों का फोकस फिक्स्ड इनकम सिक्युरिटीज पर बढ़ा है. मई में इन योजनाओं में 63,665 करोड़ रुपये का निवेश आया. जबकि इन योजनाओं में अप्रैल महीने में 43,431 करोड़ रुपये निवेश हुआ था. ओवरनाइट फंड और क्रेडिट रिस्क फंड में 15,881 करोड़ और 5,173 करोड़ का निवेश हुआ. गोल्ड ETFs में 815 करोड़ का निवेश आया. गोल्ड ETFs में अप्रैल में 731 करोड़ का निवेया हुआ था.

ओवरआल 70,813 करोड़ का निवेश

ओवरआल म्यूचुअल फंड की हर कटेगिरी में 70,813 करोड़ रुपये का निवेया मई महीने में आया है. जबकि अप्रैल में यह आंकड़ा 45,999 करोड़ रुपये का था.

मॉर्निंगस्टार इंडिया के डायरेक्टर, मैनेजर रिसर्च कौस्तुभ बेलापुरकर का कहना है कि इक्विटी फंड योजनाओं में अप्रैल की बजाए कम निवेश आया है. हालांकि SIP को लेकर निवेशकों का पॉजिटिव रुख है. निवेशक बाजार में वोलैटिलिटी और अनिश्चितता के बाद भी लॉर्जकैप और मल्टीकैप को अभी भी तरजीह दे रहे हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना का सबक! लालच से दूर हुए म्यूचुअल फंड निवेशक, इक्विटी की बजाय फिक्स्ड इनकम स्कीम पर लगा रहे दांव

Go to Top