सर्वाधिक पढ़ी गईं

India’s forex reserves: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 585 अरब डाॅलर के पार, गोल्ड रिजर्व की वैल्यू भी बढ़ी

India's forex reserves: देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 39.8 करोड़ डॉलर बढ़कर 36.459 अरब डॉलर हो गया.

January 30, 2021 8:51 AM
India's forex reserves, India's gold reserve, RBI, IMF, FCA, dollar, Reserve Bank Of Indiaआठ जनवरी को समाप्त सप्ताह में विदेशीमुद्रा भंडार 586.082 अरब डॉलर के सर्वकालिक ऊंचाई पर था.

India’s forex reserves: देश का विदेशी मुद्रा भंडार 22 जनवरी को समाप्त सप्ताह में 1.091 अरब डॉलर बढ़कर 585.334 अरब डॉलर हो गया. रिजर्व बैंक के शुक्रवार को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है. इससे पहले 15 जनवरी को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 1.839 अरब डॉलर घटकर 584.242 अरब डॉलर रह गया था. आठ जनवरी को समाप्त सप्ताह में विदेशीमुद्रा भंडार 586.082 अरब डॉलर के सर्वकालिक ऊंचाई पर था.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, समीक्षाधीन अवधि में विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (FCA) के बढ़ने की वजह से मुद्रा भंडार में वृद्धि हुई. विदेशीमुद्रा परिसंपत्तियां, कुल विदेशी मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा होती है. रिजर्व बैंक के साप्ताहिक आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन अवधि में एफसीए 68.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 542.192 अरब डॉलर हो गई. एफसीए को दर्शाया डॉलर में जाता है, लेकिन इसमें यूरो, पौंड और येन जैसी अन्य विदेशी मुद्रा सम्पत्ति भी शामिल होती हैं.

गोल्ड रिजर्व की वैल्यू भी बढ़ी

आंकड़ों के अनुसार, 22 जनवरी को समाप्त सप्ताह के दौरान देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 39.8 करोड़ डॉलर बढ़कर 36.459 अरब डॉलर हो गया. देश को अंतरराष्ट्रीय मु्द्रा कोष (IMF) में मिला विशेष आहरण अधिकार 10 लाख डॉलर बढ़कर 1.513 अरब डॉलर हो गया जबकि आईएमएफ के पास आरक्षित मुद्रा भंडार भी 70 लाख डॉलर बढ़कर 5.171 अरब डॉलर हो गया.

भारत के पास भुगतान क्षमता मजबूत

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के आंकड़ों के अनुसार, वर्तमान में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 58424 करोड़ डॉलर (42,56,758 करोड़ रुपये). यह आंकड़ा 15 जनवरी 2021 तक का है. इसकी तुलना में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार जो भारत के कुल विदेशी कर्ज (निजी क्षेत्र के कर्ज समेत) 55620 करोड़ डॉलर (4052459.30 करोड़ रुपये) (सितंबर 2020) है. भारत का विशाल विदेशी मुद्रा भंडार देश की भुगतान क्षमता को दर्शाता है. आर्थिक सर्वे के मुताबिक भारत उस कंपनी की तरह है जिसका कर्ज ऋणात्मक है और जिसके भुगतान न कर पाने की क्षमता शून्य है.

Economic Survey 2020-21: ग्रोथ को बढ़ाने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर में निवेश जरूरी

 

(Input: PTI)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. India’s forex reserves: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 585 अरब डाॅलर के पार, गोल्ड रिजर्व की वैल्यू भी बढ़ी

Go to Top