मुख्य समाचार:

एथेनॉल वाले पेट्रोल पर 4 हजार करोड़ टैक्स भरने का नोटिस, इंडियन ऑयल और एचपी देगी चुनौती

इंडियन आयल कॉरपोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन ने कर विभाग की 4,000 करोड़ रुपये का उत्पाद शुल्क अदा करने की मांग को चुनौती देने का फैसला किया है.

June 6, 2019 8:54 PM
ioc, hpcl, tax department, income tax department, petrol, ethenol, bpcl, hpcl, ioc legal notice, notice to ioc, ioc petrol, ioc mumbai, इंडियन ऑयल, आईओसी, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल के दावे के मुताबिक एथेनॉल मिश्रित पेट्रोल पर टैक्स छूट है.

पेट्रोलियम रिफाइनरी कंपनियों इंडियन आयल कॉरपोरेशन (IOC) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (HPCL) ने कर विभाग की 4,000 करोड़ रुपये का उत्पाद शुल्क अदा करने की मांग को चुनौती देने का फैसला किया है. कर विभाग ने पेट्रोल में एथेनॉल के मिश्रण पर यह मांग बनाई है. इन कंपनियों का कहना है कि गन्ने के रस से बनाए जाने वाले एथेनॉल पर कर छूट है. पुणे में जीएसटी महानिदेशक ने देश की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी आईओसी पर पेट्रोल में मिलाए गए एथेनॉल पर उत्पाद शुल्क का भुगतान नहीं करने को लेकर 4,002 करोड़ रुपये की कर मांग की है. एचपीसीएल को 346 करोड़ रुपये का कर अदा करने को कहा गया है.

शेयर बाजार को IOC ने दी जानकारी

आईओसी ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि वह एक जिम्मेदार और कानून का पालन करने वाली कंपनी है. आईओसी शुल्कों और करों के रूप में सरकारी खजाने में सबसे ज्यादा योगदान देने वाली कंपनी है और उसने 2018-19 में सरकार को शुल्क और करों के रूप में 1.93 लाख करोड़ रुपये अदा किए हैं. आईओसी ने कहा कि वह ‘कारण बताओ’ नोटिस के सभी आरोपों को खारिज करती है. कानून के मौजूदा प्रावधान कहते हैं कि किसी व्यक्ति ने यदि वस्तुओं की बिक्री पर उत्पाद शुल्क के रूप में जो भी राशि संग्रहित की है उसे वह राशि कर विभाग को देनी होगी.

HPCL का दावा, नोटिस कानूनी तौर पर नहीं टिकेगा

आईओसी ने कहा, ‘‘एथेनॉल मिश्रण वाले मोटर स्पिरिट (EBMS) एक छूट वाला उत्पाद है. आईओसी को ईबीएमएस की बिक्री पर उत्पाद शुल्क के रूप में कोई राशि की वसूली नहीं हुई है. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियां आईओसी, भारत पेट्रोलियम (BPCL) और एचपीसीएल सरकार के निर्देशानुसार ईबीएमएस की बिक्री के लिए पेट्रोल में पांच से दस प्रतिशत एथेनॉल मिलाती हैं.

सरकार ने कच्चे तेल के आयात पर निर्भरता कम करने के लिए पेट्रोल में एथेनॉल के मिश्रण को अनिवार्य कर दिया है. एचपीसीएल ने भी कहा कि उसे भी इसी तरह का नोटिस मिला है.

एचपीसीएल ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि यह नोटिस कानूनी तौर पर टिक नहीं पाएगा और कंपनी इस नोटिस पर उचित कदम उठाएगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. एथेनॉल वाले पेट्रोल पर 4 हजार करोड़ टैक्स भरने का नोटिस, इंडियन ऑयल और एचपी देगी चुनौती

Go to Top