Accenture के नजीजों से IT इंडस्ट्री के लिए मजबूत संकेत; Infosys, TCS, HCL कर सकते हैं आउटपरफॉर्म

ब्रोकरेज का कहना है कि Accenture की तरह जून तिमाही में घरेलू आईटी कंपनियां भी डिमांड स्ट्रेंथ दिखा सकती है. मार्जिन मैनेजमेंट पर निवेशकों का फोकस है.

आईटी सेक्टर की कंपनी Accenture ने शानदार तिमाही नतीजे पेश किए हैं. (image: pexels)

IT Sector Outlook: आईटी सेक्टर की कंपनी Accenture ने शानदार तिमाही नतीजे पेश किए हैं. Accenture ने FY22 के लिए ग्रोथ गाइडेंस बढ़ाकर 25.5 फीसदी से 26.5 फीसदी कर दिया है. जबकि पिछली तिमाही में कंपनी ने 24-26 फीसदी का ग्रोथ गाइडेंस रखा था. फिलहाल करंट वोलेटिलिटी के बाद भी ग्रोथ गाइडेंस बढ़ाने और स्टेबल मार्जिन आउटलुक से साफ है कि इंडस्ट्री में डिमांड में मजबूती है. ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि यह घरेलू आईटी इंडस्ट्री के लिए भी बेहद पॉजिटिव है. आने वाले दिनों में टियर 1 कंपनियों के शेयरों में अच्छी तेजी आ सकती है. ब्रोकरेज हाउस ने Infosys, HCL और TCS जैसे शेयरों पर भरोसा जताया है.

हेल्दी रेवेन्यू ग्रोथ

ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज की रिपोर्ट के अनुसार Q3 में Accenture (ACN) का रेवेन्यू ग्रोथ 1616 करोड़ डॉलर रहा है जो डॉलर के टर्म में सालाना आधार पर 21.8 फीसदी ज्यादा है. कंसल्टिंग में सालाना आधार पर 24.4 फीसदी ग्रोथ रही है, जबकि आउटसोर्सिंग में 18.7 फीसदी. हालांकि पिछली 2 तिमाही से तुलना करें तो रेवेन्यू ग्रोथ मॉडरेट रहा है.

SBI, HDFC Bank: बैंकिंग सेक्टर के ये 2 ‘सुपरस्टार’ दिखाएंगे दम! निवेशकों को मिल सकता है 50% तक रिटर्न

ग्रोथ गाइडेंस मजबूत

Accenture की डील बुकिंग की बात करें तो यह सालाना आधार पर 10 फीसदी बढ़कर 1700 करोड़ डॉलर रहा. बुक टु बिल प्रीकोविड लेवल के करीब पहुंच गया है. कंसल्टिंग बुक में सालाना आधार पर 13.8 फीसदी ग्रोथ रही है तो आउटसोर्सिंग बुकिंग 780 करोड़ डॉलर पर आ गया है. मैनेजमेंट को उम्मीद है कि डील बुकिंग में और रेवेन्यू ग्रोथ में मोमेंटम जारी रहेगा. मैनेजमेंट ने रेवेन्यू ग्रोथ गाइडेंस को 25.5% से 26.5% कर दिया है.

सस्टेनेबल ग्रोथ की उम्मीद

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल का कहना है कि Accenture की कमेंट्री से पता चलता है कि डिमांड एन्वायरमेंट सपोर्टिव बना हुआ है. कमजोर मैक्रो एन्वायरमेंट ने अभी तक इस सेक्टर की ग्रोथ को प्रभावित करना शुरू नहीं किया है. हालांकि सप्लाई साइड की चुनौतियां चिंता का विषय बनी हुई हैं. ब्रोकरेज ने आईटी सेक्टर पर पॉजिटिव व्यू बनाए रखा है और सटेबल मार्जिन के सस्टेनेबल ग्रोथ की उम्मीद जताई है. ब्रोकरेज हाउस ने टियर-I आईटी स्पेस में INFO, HCLT, और TCS को टॉप पिक बताया है.

रिस्क फैक्टर भी मौजूद

ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने Accenture के नतीजों के बाद कहा है कि अगर भारत की आईटी इंडस्ट्री की बात करें तो सेक्टर में डिप्लॉयमेंट सुस्त है. वहीं कई रिस्क फैक्टर भी मौजूद है. मसलन टेक स्पेंड में कमी आई है, आगे रेवेन्यू ग्रोथ में सुस्ती देखने को मिल सकती है. जिसके चलते अंडरवेट की रेटिंग रखी है. ब्रोकरेज ने लॉर्जकैप सेग्मेंट से TCS और मिडकैप से Coforge के स्टॉक पर भरोसा जताया है.

इंडस्ट्री के लिए अच्छे संकेत

हालांकि ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस CLSA को भारतीय आईटी इंडस्ट्री के लिए अच्छे संकेत नजर आ रहे हैं. ब्रोकरेज का कहना है कि Accenture की तरह जून तिमाही में घरेलू आईटी कंपनियां भी डिमांड स्ट्रेंथ दिखा सकती है. मार्जिन मैनेजमेंट पर निवेशकों का फोकस है. ब्रोकरेज का कहना है कि आईटी सेक्टर के लिए नियर टर्म आउटलुक मजबूत है और Infosys, TCS और HCL जैसी कंपनियां बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं. इनके शेयर भी मजबूती दिखा सकते हैं.

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Business News

TRENDING NOW

Business News