सर्वाधिक पढ़ी गईं

स्टील प्रोडक्शन में जापान को छोड़ा पीछे, 2020 तक खपत में अमेरिका से आगे निकलेगा भारत

दुनिया में स्टील उत्पादन और खपत दोनों में सबसे अग्रणी चीन है.

October 27, 2018 8:19 AM
India surpassed japan in steel production now it is looking to surpass us in steel consumption, international isa steel conclaveये आंकड़े दिल्ली में चल रहे पहले इंटरनेशनल आईएसए स्टील कॉन्क्लेव में सामने आए हैं. (Reuters)

भारत की स्टील इंडस्ट्री लगातार ग्रोथ दर्ज कर रही है. इसी के चलते देश में जैसे-जैसे इसकी डिमांड बढ़ रही है, वैसे-वैसे कंपनियां अपना प्रोडक्शन बढ़ाने पर फोकस कर रही हैं. स्टील क्षेत्र के विकास और कच्चे स्टील उत्पादन की क्षमता पर जोर देने के कारण पिछले साल की तुलना में इस साल 6 फीसदी ज्यादा उत्पादन दर्ज किया गया. उत्पादन का आंकड़ा 5.2 करोड़ टन पर जा पहुंचा और इसी के साथ पहली तिमाही में भारत जापान को पीछे छोड़ दुनिया में स्टील का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन गया. दुनिया में स्टील उत्पादन और खपत दोनों में सबसे अग्रणी चीन है. यह आंकड़े पहले इंटरनेशनल आईएसए स्टील कॉन्क्लेव में सामने आए हैं.

2017 के आंकड़ों की बात करें तो भारत 10.14 करोड़ टन स्टील प्रोडक्शन के साथ तीसरे स्थान पर था. वहीं चीन का स्टील प्रोडक्शन 83.17 करोड़ टन और जापान का 10.47 करोड़ टन था.

स्टील प्रोडक्शन में जापान को पीछे छोड़ने के बाद अब भारत की नजर खपत के मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ने पर है. कॉन्क्लेव के दूसरे दिन स्टील विकास और विकास संस्थान के डायरेक्टर जनरल सुशीम बनर्जी ने कहा कि 2020 तक भारत अमेरिका के 10.1 करोड़ टन स्टील उपभोग के मुकाबले 10.2 करोड़ टन का उपभोग करेगा. बता दें कि स्टील की खपत में इस वक्त भारत, चीन और अमेरिका के बाद तीसरे स्थान पर है.

इन क्षेत्रों का रहेगा प्रमुख योगदान

आगे कहा कि खपत बढ़ाने में रक्षा, रेलवे, नागरिक उड्डयन और इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट का ​प्रमुख योगदान होगा. ग्रामीण भारत द्वारा प्रति व्यक्ति इस्पात खपत वर्तमान में 16.9 किलो है. घरेलू खपत के लिए अधिकतम स्टील का उपयोग 54 प्रतिशत है.

ये भी पढ़ें… ISA स्टील कॉन्क्लेव: इनोवेशन के जरिए क्वालिटी स्टील पर फोकस करें कंपनियां- इस्पात मंत्री

2018 में स्टील की खपत 9.2 करोड़ टन रहने का अनुमान

वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन ने 2018 में भारत में स्टील की खपत 9.2 करोड़ टन और 2019 में 9.75 करोड़ टन रहने का अनुमान जताया गया है. वहीं अमेरिका में स्टील खपत 2018 में 10.03 करोड़ टन और 2019 में 10.23 करोड़ टन रहने का अनुमान है. इनके आधार पर भारत अमेरिका से बहुत ज्यादा पीछे नहीं है.

ज्यादा उत्पादन के लिए कोयला भी लगेगा ज्यादा

कॉन्क्लेव में स्टील अथॉरिटी आॅफ इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन अनिल चौधरी ने स्टील इंडस्ट्री की समस्याओं और चुनौतियों को भी सामने रखा. चौधरी के मुताबिक, भारतीय स्टील इंडस्ट्री के लिए कच्चे माल और कोयले की उपल्ब्धता एक बड़ी चुनौती है. अभी 10 लाख टन स्टील उत्पादन में 10 लाख टन कोयले का इस्तेमाल होता है. ऐसे में जब हम उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 2030—31 तक 30 करोड़ टन पर पहुंचाने के बारे में बात कर रहे हैं तो हमें कोयला भी ज्यादा चाहिए होगा. ऐसे में इसकी पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करना विचार योग्य विषय है.

चूंकि इंपोर्टेड कोयला महंगा पड़ता है, इसे देखते हुए हमें हमें कोयले के विकल्प भी तलाशने होंगे. यह एक बड़ी चुनौती होगी. इसके अलावा फ्रेट कॉस्ट, टैक्सेस और बिजली की उच्च कीमतें भी प्रमुख समस्याओं में शामिल हैं.

वैल्यु एडेड स्टील प्रोडक्शन बढ़ाने के तलाशे जाएं रास्ते

उन्होंने देश में वैल्यु एडेड स्टील का प्रोडक्शन बढ़ाए जाने के रास्ते तलाशने की भी बात कही ताकि विदेशों से इंपोर्ट कम हो सके और स्टील इंडस्ट्री को मार से बचाया जा सके. साथ ही क्वालिटी स्टील के प्रोडक्शन पर फोकस करना और इस इंडस्ट्री के कामगारों की सुरक्षा सुनिश्चित करना भी जरूरी है.

स्टील को मिले इंफ्रा का दर्जा

चौधरी ने स्टील इंडस्ट्री को इंफ्रास्ट्रक्चर का दर्जा दिए जाने की भी बात कही. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री काफी लंबे वक्त से इसकी मांग कर रही है और अगर ऐसा होता है तो इससे इंडस्ट्री को वे सभी फायदे मिलेंगे, जो इंफ्रा को मिलते हैं.

अगले 10-11 सालों में 10 लाख करोड़ के निवेश की जरूरत

चौधरी ने यह भी कहा कि अभी स्टील इंडस्ट्री की उत्पादन क्षमता 13.4 करोड़ टन है. 16.5 करोड़ टन की अतिरिक्त क्षमता को हासिल करने के लिए इंडस्ट्री को आने वाले 10 से 11 सालों में शुरुआती तौर पर 10 लाख करोड़ के इन्वेस्टमेंट की जरूरत होगी ताकि रिसोर्सेज जुटाए जा सकें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. स्टील प्रोडक्शन में जापान को छोड़ा पीछे, 2020 तक खपत में अमेरिका से आगे निकलेगा भारत

Go to Top