सर्वाधिक पढ़ी गईं

भारत तीसरा सबसे अमीर देश बनने की राह पर, 4th औद्योगिक क्रांति की अगुवाई को तैयार: मुकेश अंबानी

देश के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे अमीर देश बनने की राह पर है.

Updated: Oct 30, 2018 2:31 PM
mukesh ambani, MobiCom Conference, MobiCom Conference 2018, reliance industries, business news in hindiदेश के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे अमीर देश बनने की राह पर है. (Reuters)

देश के सबसे अमीर बिजनेसमैन मुकेश अंबानी का कहना है कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे अमीर देश बनने की राह पर है. पहली तीन इंडस्ट्रियल क्रांतियों से चूक जाने के बाद भारत टेक्नोलॉजी पसंद युवा आबादी के दम पर अब चौथी इंडस्ट्रियल क्रांति की अगुवाई करने की स्थिति में है.

यह बात अंबानी ने 24वें MobiCom Conference में कही. उन्होंने कहा कि भारत का डिजिटल बदलाव अतुल्य और अप्रत्याशित है. देश ने वायरलेस ब्रॉडबैंड के मामले में महज 24 महीने में 155वें स्थान से टॉप तक का सफर तय किया है.

1990 के दशक में GDP थी करीब 350 अरब डॉलर, आज 3000 अरब डॉलर

अंबानी ने याद दिलाया कि 1990 के दशक में जब रिलायंस आॅयल रिफाइनरी और पेट्रोरसायन परियोजनाएं बना रही थी, उस वक्त भारत का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) करीब 350 अरब डॉलर था और देश बेहद गंभीर आर्थिक संकट से बाहर निकला ही था. अंबानी के मुताबिक, बहुत कम लोगों ने सोचा होगा कि हमारे देश की संभावनाएं इतनी उज्ज्वल हैं. आज हमारी GDP करीब तीन हजार अरब डॉलर की हो गयी है और हम दुनिया के तीसरे सबसे अमीर देश बनने की राह पर हैं.

अगले 20 सालों में भारत करेगा दुनिया की अगुवाई

अंबानी ने कहा कि मोबाइल कंप्यूटिंग बड़े लेवल पर डेटा की खपत के लिए उत्प्रेरक है और इसने युवा भारतीयों को व्यापक बदलाव वाली सोच के लिये उर्वर जमीन दी है. मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि अगले दो दशक में भारत दुनिया की अगुवाई करेगा और वैश्विक आर्थिक वृद्धि के अगले दौर में योगदान देगा.

चौथी इंडस्ट्रियल क्रांति की कर सकता है अगुवाई

आगे कहा कि कोयला व वाष्प और बिजली और तेल पर आधारित क्रमश: पहली और दूसरी इंडस्ट्रियल क्रांतियों में भारत हाशिये पर रहा. कंप्यूटर केंद्रित तीसरी क्रांति में भारत ने दौड़ में भाग लेना शुरू किया. चौथी इंडस्ट्रियल क्रांति अब हमारे ऊपर है. इसे ऐसी टेक्नोलॉजी के कारण पहचाना जा रहा है जिसने फिजिकल, डिजिटल और बायोलॉजिकल दुनिया को दोफाड़ कर दिया है. मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि भारत के पास न सिर्फ चौथी क्रांति में भाग लेने का मौका है बल्कि देश इसकी अगुवाई कर सकता है.

आज का भारत पहले के भारत से बिल्कुल अलग

अंबानी ने कहा, ‘‘ऐसा इस कारण संभव है क्योंकि आज का भारत पहले के भारत से बिल्कुल अलग है. भारत की बड़ी टेक्नोलॉजिकल सेंट्रिक आबादी इसकी मुख्य ताकत है. उन्होंने कहा कि बराबरी और इंक्लूसिव विकास आधारित एक लोकतंत्र होने के नाते भारत भविष्य की टेक्नोलॉजी को खुले दिमाग से स्वीकार कर रहा है. यह एंटरप्रेन्योरशिप के लिए समृद्ध और उर्वर जमीन है और देश, दुनिया भर में स्टार्टअप के सबसे तेज विकास की जमीन बनकर उभरा है. आज देश में टेक्नोलॉजी बेस्ड स्टार्टअप की तीसरी सबसे बड़ी संख्या है. इससे पहले भारत ने कभी भी इस कदर एंटरप्रेन्योरशिप का उभार नहीं देखा था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. भारत तीसरा सबसे अमीर देश बनने की राह पर, 4th औद्योगिक क्रांति की अगुवाई को तैयार: मुकेश अंबानी

Go to Top