मुख्य समाचार:
  1. मोदी सरकार में भारतीय कंपनियों की घट गई कमाई, फिर भी बरकरार है उम्मीद

मोदी सरकार में भारतीय कंपनियों की घट गई कमाई, फिर भी बरकरार है उम्मीद

नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री के तौर पर वापस आने की उम्मीदों ने विदेशी निवेशकों को भारत के लिए आशान्वित रखा है.

April 10, 2019 7:37 PM
India Inc’s earnings lag under Modi government, but optimism remainsमोदी के सत्ता में वापस आने की आशाओं ने मार्केट को प्रसन्न किया हुआ है. (PTI)

मोदी सरकार के कार्यकाल में ज्यादातर भारतीय कंपनियों की कमाई घट गई. लेकिन फिर भी कई कंपनियों की उम्मीदें अभी भी मोदी सरकार से बनी हुई हैं. साथ ही नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री के तौर पर वापस आने की उम्मीदों ने विदेशी निवेशकों को भारत के लिए आशान्वित रखा है.

अल्टामाउंट कैपिटल में इक्विटी एडवायजरी के को-हेड कृष सुब्रमण्यम के मुताबिक, इक्विटीज अभी भी वरीयता वाला इन्वेस्टमेंट बना हुआ है और मोदी के सत्ता में वापस आने की आशाओं ने मार्केट को प्रसन्न किया हुआ है.

भारतीय इक्विटीज में फॉरेन इनफ्लो जनवरी-मार्च के दौरान 6.7 अरब डॉलर रहा, जबकि 2018 में 4.4 अरब डॉलर की निकासी हुई थी. इस साल में अब तक एनएसई इंडेक्स लगभग 7 फीसदी चढ़ा है. वहीं 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद से यह लगभग 63 फीसदी चढ़ा है.

मोदी के न आने की संभावना बिगाड़ सकती है सेंटीमेंट

हाल के ओपिनियन पोल्स जताते हैं कि चुनावों में बीजेपी कम बहुमत से जीतेगी. यूबीएस में इंडिया रिसर्च के हेड और एमडी गौतम छाओछरियर के मुताबिक, अगर ओपिनियन पोल्स मोदी के वापस न आने की संभावना जताते हैं तो मार्केट में कुछ घबराहट आ सकती है.

मोदी कार्यकाल में 5 से 4 साल गिरी अर्निंग

अर्निंग के बिना भी स्टॉक मार्केट में रैली है. भारत की सबसे बड़ी 399 लिस्टेड कंपनियों का डाटा दर्शाता है है कि मोदी सरकार के पिछले 5 सालों के कार्यकाल में से 4 के दौरान कंपनियों की अर्निंग गिरी है. वहीं मनमोहन सरकार के 5 सालों में 4 में कंपनियों की अर्निंग बढ़ी थी. मनमोहन सरकार में अर्निंग सालाना 11.94 फीसदी बढ़ी थी, वहीं मोदी कार्यकाल के दौरान अर्निंग 3.72 फीसदी सालाना गिरी.

फिर भी है मोदी से आशा

नरेन्द्र मोदी ने इस लहर के साथ पीएम का कार्यकाल संभाला था कि वह भारत का आर्थिक परिदृश्य को बदलकर रख देंगे. हालांकि भारत उस तेजी से आगे नहीं बढ़ा लेकिन फिर भी इन्वेस्टर्स इस बात को लेकर आशावादी हैं कि मोदी द्वारा लाए गए सुधार आगे चलकर फायदा देंगे.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop