सर्वाधिक पढ़ी गईं

प्राइसिंग पावर से लौटेगी टेलिकॉम सेक्टर की चमक! क्या इन शेयरों पर लगाना चाहिए दांव?

टैरिफ महंगा होने से टेलिकॉम कंपनियों के मुनाफे पर दबाव कम होगा, वहीं एआरपीयू बढ़ाने में मदद मिलेगी.

December 2, 2019 11:14 AM
impact on tariff hike on telecom sector, airtel, vodafone idea, reliance jio, टेलिकॉम कंपनियां, debt on telecom companies, telcos financial, ARPU, AGRटैरिफ महंगा होने से टेलिकॉम कंपनियों के मुनाफे पर दबाव कम होगा, वहीं एआरपीयू बढ़ाने में मदद मिलेगी.

Telecom Sector Outlook: वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के बाद से रिलायंस जियो ने भी मोबाइल टैरिफ महंगा करने का एलान किया है. वोडाफोन आइडिया और एयरटेल की महंगी दरें जहां 3 दिसंबर से लागू हो जाएंगी, वहीं जियो के टैरिफ 6 दिसंबर से महंगे होंगे. फिलहाल अब टेलिकॉम इंडस्ट्री में कॉल-डेटा की दरों में गिरावट का दौर खत्म होता दिख रहा है. एक्सपर्ट की मानें तो भारी कर्ज में डूबी टेलिकॉम कंपनियों के लिए यह कदम पॉजिटिव होगा और इससे आने वाले दिनों में जहां कंपनियों के मुनाफे पर दबाव कम होगा, वहीं एआरपीयू बढ़ाने में मदद मिलेगी. हालांकि उनका यह भी कहना है कि शुरू में कमजोर प्लेयर माने जाने वाली वोडाफोन आइडिया का मार्केट शेयर में नुकसान उठाना पड़ सकता है.

बता दें कि एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने जहां अलग अलग प्लान के लिए टैरिफ में 15 से 43 फीसदी तक की बढ़ोत्तरी की है, वहीं जियो के टेरिफ पहले की तुलना में 40 फीसदी महंगे होने वाले हैं. हालांकि जियो ने बढ़े टैरिफ के बदले ग्राहकों को पहले से 300 फीसदी ज्यादा बेनेफिट देने की बात कही है. कंपनियों ने सिर्फ अनलिमिटेड डेटा एवं कॉलिंग की सुविधा वाले प्रीपेड प्लान की दरें बढ़ायी हैं.

रेवेन्यू और ARPU में आएगा सुधार

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल का कहना है कि टैरिफ में बढ़ोत्तरी टेलिकॉम सेक्टर के लिए पॉजिटिव कदम है. प्राइवेट टेलिकॉम कंपनियों ने टैरिफ ऐसे समय में महंगा किया है जब दूरसंचार क्षेत्र पर वित्तीय संकट मंडरा रहा है. एयरटेल और वोडाफोन दोनों कंपनियों ने मिनिमम रिचार्ज प्लान पर टैरिफ महंगा कर 35/65 रुपये से 49/79 रुपये कर दिया है. इससे आने वाले दिनों में ARPU 30 फीसदी तक बढ़ सकता है.

रिपोर्ट के अनुसार जहां तक वोडाफोन आइडिया की बात है टैरिफ महंगा होने से अगले 2 वित्त वर्ष के दौरान रेवेन्यू/EBITDA में 26%/218% बढ़ोत्तरी देखी जा सकती है. एसआरपीयू में सुधार हो सकता है. लेकिन जियो और एयरटेल की तुलना में कमजोर होने से मार्केट शेयर में नुकसान देखना पड़ सकता है.

ब्रोकरेज हाउस क्रेडिट सूईस के अनुसार एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने टैरिफ में 15-40% का इजाफा किया है. लोवर एंड वॉइस प्लान के लिए 20-40%, 28 दिनों के लिए अनलिमिटेड प्लान के लिए 15-30% और 84 दिनों के प्लान के लिए 30-36% इजाफा किया है. वहीं जियो ने भी टैरिफ 40 फीसदी तक महंगा कर दिया है. आने वाले दिनों में टैरिफ और महंगा हो सकता है.

क्या शेयर में दांव लगाने का सही समय

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक प्राइसिंग पावर का ज्यादा फायदा एयरटेल और आरआईएल को होगा. बैंक आफ अमेरिका मेरिल लिंच (BofAML) के अनुसार टेलिकॉम कंपनियों ने टैरिफ में उम्मीद से ज्यादा बढ़ोत्तरी की है. फिलहाल इसका ज्यादा फायदा एयरटेल और आरआईएल को ​होगा. जहां तक वोडाफोन आइडिया की बात है निवेशकों को अभी इससे दूर रहना चाहिए. क्रेडिट सूईस ने वोडाफोन आइडिया पर न्यूट्रल रेटिंग दी है. ब्रोकरेज के अनुसार फिलहाल एयरटेल बेहतर पोजिशन में है कि वह इस कदम से प्राइसिंग रिकवरी कर सके.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. प्राइसिंग पावर से लौटेगी टेलिकॉम सेक्टर की चमक! क्या इन शेयरों पर लगाना चाहिए दांव?

Go to Top