सर्वाधिक पढ़ी गईं

Crypto Currency के बढ़ते असर पर IMF की चेतावनी, Bitcoin जैसी करेंसीज़ को बताया आर्थिक स्थिरता के लिए खतरा

IMF ने BitCoin जैसी क्रिप्टोकरेंसीज को बड़े पैमाने वैध करेंसी घोषित किए जाने के खिलाफ चेतावनी दी है. आईएमएफ का कहना है कि इससे दुनिया भर में आर्थिक सिस्टम की स्थिरता के लिए खतरा बढ़ सकता है.

Updated: Aug 06, 2021 3:11 PM
IMF warns against widespread crypto adoption says its most direct cost is to macroeconomic stabilityआईएमएफ के मुताबिक क्रिप्टोएसेट्स को नेशनल करेंसी बनाना ऐसा शॉर्टकट है जिसकी सलाह नहीं दी जा सकती क्योंकि इससे मैक्रो-फाइनेंशियस स्टैबिलिटी, फाइनेंशियल इंटेग्रिटी, कंज्यूमर प्रोटेक्शन और पर्यावरण को लेकर बहुत रिस्क है.

इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) ने BitCoin जैसी क्रिप्टोकरेंसीज को बड़े पैमाने पर वैधानिक करेंसी का दर्जा दिए जाने के खिलाफ दुनिया के तमाम देशों को आगाह किया है. IMF का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी को बड़े पैमाने पर एक वैध करेंसी के तौर पर स्वीकार किया गया तो इसका अर्थव्यवस्था की व्यापक स्थिरता पर बुरा असर पड़ सकता है.

दुनिया भर के कई देशों में क्रिप्टोकरेंसीज को कानूनी मान्यता दिए जाने के बारे में काफी बहस हो रही है. मध्य अमेरिका का सबसे छोटा लेकिन सघन आबादी वाला देश अल सल्वाडोर, जून के महीने में बिटक्वाइन को लीगल टेंडर यानी वैध करेंसी घोषित कर चुका है. आईएमएफ ने अपने एक ब्लॉग में इस पर टिप्पणी करते हुए कहा कि क्रिप्टोएसेट्स को नेशनल करेंसी बनाना ऐसा शॉर्टकट है, जिसकी सलाह नहीं दी जा सकती क्योंकि इससे व्यापक आर्थिक स्थिरता (Macro Financial Stability) और कंज्यूमर्स के हित खतरे में पड़ सकते हैं.

Tokyo Olympic में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को मिलेंगे BitCoin, 5 साल तक की होगी एसआईपी

पिछले महीने ब्रिटेन के एक पर्सनल फाइनेंस प्लेटफॉर्म ‘फाइंडर’ ने दुनिया भर के 42 क्रिप्टो एक्सपर्ट्स पर एक सर्वे किया. इसके मुताबिक वर्ष 2050 तक ग्लोबल फाइनेंस को बिटक्वाइन क्रॉस कर जाएगा. पिछले कुछ महीनों से इसकी स्वीकार्यता बढ़ी है और जेपीमॉर्गन, गोल्डमैन सैक्स, पेपाल, वीजा, टेस्ला, ऐपल, अमेजन और माइक्रोस्ट्रैटजी जैसी कंपनियों ने इसे स्वीकार करना शुरू किया है. हालांकि पहले क्रिप्टो करेंसी का खुला समर्थन करने वाले टेस्ला के एलन मस्क के रुख में कुछ अरसा पहले बदलाव देखने को मिला, जब उन्होंने कहा कि निवेशकों को अपनी जीवन भर की जमापूंजी इसमें नहीं लगानी चाहिए.

BitCoin जैसी क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर ये हैं चिंताएं

  • वाशिंगटन स्थित आईएमएफ दुनिया भर में मॉनिटरी कोऑपरेशन को बढ़ावा देने और वित्तीय स्थिरता सुरक्षित करने के लिए काम करता है. आईएमएफ का कहना है कि क्रिप्टोएसेट्स के लेन-देन के लिए इंटरनेट एक्सेस और तकनीक बहुत जरूरी है जो कई देशों में सहज नहीं उपलब्ध है. ऐसे में फेयरनेस और फाइनेंस इंक्लूजन को लेकर कई समस्याएं आएंगी,
  • आईएमएफ का कहना है कि ऑफिशियल मॉनिटरी यूनिट की वैल्यू पर्याप्त तौर पर स्थिर होनी चाहिए ताकि इसका मध्यम से लेकर लंबे समय तक की मौद्रिक देनदारियों के लिए इस्तेमाल किया जा सके.

BitCoin पर अल सल्वाडोर को बड़ा झटका, विश्व बैंक ने तकनीकी सहायता से किया इनकार

  • आईएमएफ का मानना है कि बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों को क्रिप्टोएसेट की कीमतों में भारी उतार-चढ़ाव से समस्याएं होंगी.
  • आईएमएफ के मुताबिक बड़े स्तर पर क्रिप्टोएसेट का इस्तेमाल शुरू होने के बाद अगर इसमें बड़ी गिरावट आई, कोई फर्जीवाड़ा हुआ या साइबर हमला हो गया तो बहुत से लोगों की पूंजी एक झटके में खत्म होने का खतरा रहेगा.

 

भारत में क्रिप्टोकरेंसी की ये है स्थिति

बाईयूक्वाइन के सीईओ शिवम ठकराल ने फाइनेंस एक्सप्रेस ऑनलाइन से बातचीत में बताया कि भारत में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर जो अप्रोज है, वह पूरी तरह से अलग है. भारत में यह लीगल टेंडर नहीं है बल्कि एक एसेट क्लास के रूप में देखा जाता है. ठकराल के मुताबिक क्रिप्टो एसेट्स और नेशनल करेंसीज के सहअस्तित्व के रूप में एसेट क्लास में क्रिप्टो बेहतरीन मॉडल है. क्रिप्टो एसेट्स के जरिए दुनिया भर में ऐसा पेमेंट सिस्टम तैयार किया जा सकता है जिसमें एक ब्लॉकचेन नेटवर्क पर एक पब्लिक लेजर में लेन-देन का पूरा रिकॉर्ड रहेगा. ठकराल का मानना है कि ब्लॉकचेन नेटवर्क के जरिए लेन-देन से पारदर्शिता आएगी और वित्तीय फर्जीवा़ड़ा रोकने में मदद मिलेगी.
(आर्टिकल: संदीप सोनी)
(स्टोरी में क्रिप्टोकरेंसीज को लेकर दिए गए सुझाव संबंधित शख्स के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन उनकी राय के लिए जिम्मेदार नहीं है. क्रिप्टोकरेंसी में किसी भी प्रकार के निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से जरूर संपर्क कर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Crypto Currency के बढ़ते असर पर IMF की चेतावनी, Bitcoin जैसी करेंसीज़ को बताया आर्थिक स्थिरता के लिए खतरा

Go to Top