मुख्य समाचार:
  1. ओरिक्स कॉरपोरेशन को विंड एनर्जी प्रॉजेक्ट बेच सकेगा IL&FS समूह, NCLT ने दी मंजूरी

ओरिक्स कॉरपोरेशन को विंड एनर्जी प्रॉजेक्ट बेच सकेगा IL&FS समूह, NCLT ने दी मंजूरी

पवन ऊर्जा सब्सिडियरीज IL&FS विंड एनर्जी लिमिटेड के अंतर्गत आती हैं.

July 22, 2019 8:06 PM
IL&FS gets approval for sale of wind projects to Orix CorpImage: Reuters

वित्तीय संकट से जूझ रहे IL&FS समूह को अपने सात पवन ऊर्जा प्रॉजेक्ट को जापान की ओरिक्स कॉरपोरेशन को बेचने की हरी झंडी मिल गई है. इन प्रॉजेक्ट में उसके पास 51 प्रतिशत हिस्सेदारी बची है. समूह ने सोमवार को यह जानकारी दी. पवन ऊर्जा सब्सिडियरीज IL&FS विंड एनर्जी लिमिटेड के अंतर्गत आती हैं.

IL&FS ने कहा कि राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (NCLAT) की ओर से नियुक्त रिटायर्ड जज डी के जैन ने प्रस्तावित बिक्री को मंजूरी दे दी. IL&FS ने बयान में कहा कि NCLAT ने न्यायमूर्ति जैन को समूह की कंपनियों की समाधान प्रक्रिया की निगरानी के लिए नियुक्त किया है.

फिलहाल, ओरिक्स के पास इन सात पवन ऊर्जा बिजली संयत्रों में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है और उसने IL&FS विंड एनर्जी की बची 51 प्रतिशत हिस्सेदारी को खरीदने की इच्छा जाहिर की थी.

एस्क्रो खाते में जाएगी धनरा​शि

कंपनी ने बयान में कहा, “इस शर्त पर मंजूरी दी गई है कि प्रस्ताव को मंजूरी के लिए एनसीएलटी के समक्ष रखा जाएगा और बिक्री से मिलने वाली राशि को एस्क्रो खाते में रखा जाएगा.”

इन 7 कंपनियों का संकट होगा दूर

ओरिक्स को होने वाली इस बिक्री से IL&FS समूह की सात कंपनियों के संकट का समाधान हो जायेगा. इनमें लालपुर विंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड, एटीसियन ऊर्जा, खंडके विंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड, रेताडी विंड पावर, विंड ऊर्जा इंडिया प्राइवेट, टाडास विंड एनर्जी प्राइवेट और काजे एनर्जी लिमिटेड शामिल हैं.

IL&FS का निदेशक मंडल 28 जून 2019 की अपनी बैठक में पहले ही इन कंपनियों की बिक्री को मंजूरी दे चुका है.

Go to Top