मुख्य समाचार:

IL&FS बोर्ड का टेकओवर करेगी सरकार, NCLT ने दी मंजूरी, उदय कोटक होंगे नए बोर्ड के चेयरमैन

IL&FS के मैज्योरिटी शेयरधारकों में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC), भारतीय स्टेट बैंक (RBI) और सेंट्रल बैंक आॅफ इंडिया शामिल हैं.

Updated: Oct 01, 2018 5:19 PM
IL&FS crisis updates, Modi government, National Company Law Tribunal, NCLT, IL&FS, financial markets, RBI, LIC, corporate affairs ministryIL&FS के मैज्योरिटी शेयरधारकों में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC), भारतीय स्टेट बैंक (RBI) और सेंट्रल बैंक आॅफ इंडिया शामिल हैं. (Reuters)

नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT ) ने सरकार को कर्ज में डूबी IL&FS के बोर्ड को टेकओवर करने की मंजूरी दे दी है. बता दें कि IL&FS पर 91 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है. इसे डूबने से बचाने के लिए सरकार इसके बोर्ड का टेकओवर करना चाहती थी. इसके लिए सरकार ने सोमवार सुबह NCLT में याचिका दायर की थी, साथ ही उदय कोटक को चेयरमैन बनाने प्रस्ताव दिया गया था.

माना जा रहा है कि सरकार सत्यम की तरह IL&FS को भी बचाने की तैयारी में है. बता दें, कंपनी में सबसे अधिक हिस्सेदारी LIC के पास 25 फीसदी है. एलआईसी पहले ही IL&FS में हिस्सेदारी बढ़ाने की बात कह चुकी है. इस मामले में अगली सुनवाई या किसी भी याचिका को दायर करने के लिए अगली तारीख 31 अक्टूबर तय की गई है.

अब ये होगा नया 6 सदस्यीय मैनेजमेंट

उदय कोटक- एमडी एंड सीईओ कोटक महिन्द्रा बैंक

विनीत नायर- रिटायर्ड IAS आॅफिसर
जीएन वाजपेयी- पूर्व सेबी चीफ
जीसी चतुर्वेदी- ICICI बैंक के पूर्व चेयरमैन
मालिनी शंकर- रिटायर्ड IAS
नंद किशोर- रिटायर्ड IAS

शेयरों में आया उछाल

IL&FS बोर्ड के टेकओवर के लिए सरकार द्वारा NCLT का रुख किए जाने के बाद कंपनी के शेयरों में 20 फीसदी तक की तेजी आई. BSE पर IL&FS इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन कंपनी के शेयरों में 20 फीसदी, IL&FS ट्रांसपोर्टेशन नेटवर्क्स के शेयरों में 19.51 फीसदी और IL&FS इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स के शेयरों में 10 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया.

IL&FS पर 91,000 करोड़ रुपये का कर्ज

नोमुरा इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, IL&FS ग्रुप पर कुल 91,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. IL&FS पर अकेले 35,000 करोड़ रुपये, IL&FS फाइनेंशियल सर्विसेज पर 17,000 करोड़ रुपये का कर्ज है.

IL&FS में किसकी कितनी हिस्सेदारी

IL&FS के मैज्योरिटी शेयरधारकों में भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC), भारतीय स्टेट बैंक (RBI) और सेंट्रल बैंक आॅफ इंडिया शामिल हैं. एलआईसी की IL&FS में 25 फीसदी हिस्सेदारी है. जापान के आरिक्स कारपोरेशन की 23.5 फीसदी हिस्सेदारी इसमें है- इसके अलावा आबु धाबी इनवेस्टमेंट अथारिटी की 12.5 फीसदी, IL&FS कर्मचारी कल्याण ट्रस्ट की 12 फीसदी, एचडीएफसी की 9.02 फीसदी हिस्सा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. IL&FS बोर्ड का टेकओवर करेगी सरकार, NCLT ने दी मंजूरी, उदय कोटक होंगे नए बोर्ड के चेयरमैन

Go to Top