मुख्य समाचार:

Idea-Vodafone विलय को दूरसंचार मंत्रालय से सशर्त मंजूरी

नयी कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 35 फीसदी होगी और इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 43 करोड़ होगी. इस विलय से कर्ज के बोझ में दबी दोनों दूरसंचार कंपनियों को थोड़ी राहत मिलेगी , क्योंकि बाजार में प्रतिस्पर्धा कम होगी.

July 9, 2018 8:08 PM
नयी कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 35 फीसदी होगी और इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 43 करोड़ होगी. इस विलय से कर्ज के बोझ में दबी दोनों दूरसंचार कंपनियों को थोड़ी राहत मिलेगी , क्योंकि बाजार में प्रतिस्पर्धा कम होगी. (Reuters)

दूरसंचार मंत्रालय ने आज वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय को सशर्त मंजूरी दे दी. इस विलय के बाद बनने वाली नयी कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी होगी. सूत्रों ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘दूरसंचार विभाग ने आज वोडाफोन-आइडिया के विलय को मंजूरी दे दी. अंतिम अनुमति के लिए उन्हें कूछ शर्तों का पालन करना होगा.’’

विभाग ने आइडिया सेल्युलर को वोडाफोन के स्पेक्ट्रम के लिए 3,926 करोड़ रुपये का नकद भुगतान करने और 3,342 करोड़ रुपये की बैंक गारंटी जमा कराने के लिए कहा है. गौरतलब है कि विलय के बाद बनने वाली कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी होगी जिसका मूल्य डेढ़ लाख करोड़ रुपये से अधिक (23 अरब डॉलर) होगा.

नयी कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 35 फीसदी होगी और इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 43 करोड़ होगी. इस विलय से कर्ज के बोझ में दबी दोनों दूरसंचार कंपनियों को थोड़ी राहत मिलेगी , क्योंकि बाजार में प्रतिस्पर्धा कम होगी. दोनों कंपनियों का कूल ऋण करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है.

विलय के बाद बनने वाली प्रस्तावित इकाई का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड होगा. इसके लिए आइडिया के शेयरधारकों से मंजूरी ली जाएगी. पहले दिन से इस इकाई के मोबाइल ग्राहकों की संख्या 43 करोड़ होगी. कंपनी के पास बाजार के कुल राजस्व में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Idea-Vodafone विलय को दूरसंचार मंत्रालय से सशर्त मंजूरी

Go to Top