मुख्य समाचार:

प्रक्रिया पूरा होने के बाद आइडिया-वोडाफोन विलय को मंजूरी: मनोज सिन्हा

विलय के बाद पहले दिन से इस इकाई के मोबाइल ग्राहकों की संख्या 40 करोड़ होगी. कंपनी के पास बाजार के कुल राजस्व में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी.

Published: July 3, 2018 4:31 PM
idea vodafone merger, idea vodafone merger details in hindi, idea vodafone merger status, idea vodafone merger new logo, vodafone idea merger latest news, vodafone idea merger name, business news in hindiविलय के बाद पहले दिन से इस इकाई के मोबाइल ग्राहकों की संख्या 40 करोड़ होगी. कंपनी के पास बाजार के कुल राजस्व में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी. (Reuters)

भारत सरकार ने स्पष्ट किया है कि दूरसंचार विभाग द्वारा सभी सांविधिक औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद ही आइडिया-वोडाफोन के विलय सौदे को मंजूरी दी जाएगी. दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने आज आईआईटी दिल्ली में एरिक्सन की 5 जी परीक्षण लैब के उद्घाटन के मौके पर अलग से बातचीत में कहा, ‘‘दूरसंचार विभाग ने विलय एवं अधिग्रहण के नियम तय किए हैं. विभाग की सभी सांविधिक औपचारिकताएं पूरी होने के बाद एक दिन की देरी के बिना आइडिया वोडाफोन विलय को मंजूरी दे दी जाएगी.’’

आइडिया और वोडाफोन दोनों इस विलय सौदे के 30 जून , 2018 तक पूरा होने की उम्मीद कर रही थीं. इससे देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी अस्तित्व में आएगी. इस सौदे को पहले जून के मध्य तक मंजूरी दी जानी थी, लेकिन दूरसंचार विभाग वोडाफोन से नए सिरे से 4,700 करोड़ रुपये की कर मांग पर विचार कर रहा है. सूत्रों ने कहा कि विभाग इसके बाद ही सौदे को मंजूरी देगा.

वर्ष 2015 में वोडाफोन ने अपनी चार अनुषंगियों वोडाफोन ईस्ट, वोडाफोन साउथ, वोडाफोन सेल्युलर और वोडाफोन मोबाइल र्सिवसेज का विलय किया था, जिसे अब वोडाफोन इंडिया कहा जाता है. दूरसंचार विभाग ने उस समय वोडाफोन से 6,678 करोड़ रुपये का ओटीएससी का बकाया चुकाने को कहा था, जिसे कंपनी ने अदालत में चुनौती दी थी.

उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद वोडाफोन ने 2,000 करोड़ रुपये जमा किए थे. दूरसंचार विभाग चाहता है कि आइडिया में विलय से पहले वोडाफोन शेष बकाया राशि भी चुकाये. यह मांग 2,100 करोड़ रुपये की बैंक गारंटी के अतिरिक्त है, जो दूरसंचार विभाग आइडिया से एकबारगी स्पेक्ट्रम शुल्क के रूप में वसूलना चाहता है. विलय के बाद बनने वाली प्रस्तावित इकाई का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड होगा. इसके लिए आइडिया के शेयरधारकों से मंजूरी ली जाएगी. पहले दिन से इस इकाई के मोबाइल ग्राहकों की संख्या 40 करोड़ होगी. कंपनी के पास बाजार के कुल राजस्व में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. प्रक्रिया पूरा होने के बाद आइडिया-वोडाफोन विलय को मंजूरी: मनोज सिन्हा

Go to Top