मुख्य समाचार:

Gold Investment: म्यूचुअल फंड के जरिए 3 तरीके से सोने में करें निवेश, संकट में भी मिलता है बेहतर रिटर्न

Gold/Mutual Fund: सोना का सुरक्षित निवेश माना जाता है, जिसमें लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न मिलने की गारंटी होती है.

Updated: Sep 15, 2020 11:40 AM
Gold ETF, Gold Mutual Fund, Multi-cap Mutual Fund, gold investment through mutual fund, exchange traded fund, Demat account, gold in electronic form, paper gold, physical gold, benefits of gold ETF, benefits of Gold FundGold/Mutual Fund: सोना का सुरक्षित निवेश माना जाता है, जिसमें लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न मिलने की गारंटी होती है.

Gold/Mutual Fund: सोना भारतीय निवेशकों के लिए शुरू से ही पारंपरिक निवेश का पॉपुलर विकल्प रहा है. सोना का सुरक्षित निवेश माना जाता है, जिसमें लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न मिलने की गारंटी होती है. खासतौर से जब आर्थिक अनिश्चितता हो तो सोना सेफ हैवन बन जाता है. पिछले कुछ महीनों में सोने की कीमत जिस तरह से बढ़ी है, उससे इसके प्रति निवेशकों का भरोसा भी साफतौर पर देखा जा सकता है. पिछले महीने सोना 56200 के रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया था, जिसके बाद इसकी कीमतें 4000 रुपये से भी ज्यादा नीचे आ गई हैं. यहां से सोने में एक बार फिर निवेया करने की सलाह एक्सपर्ट दे रहे हैं.

आज के दौर में फिजिकल गोल्ड की बजाए सोने में भी निवेश कई तरह से किया जा सकता है. यहां तक कि आप म्यूचुअल फंड के जरिए भी सोने में निवेश कर सकते हैं. पेपर गोल्ड में निवेश करने के कई फायदे हैं जैसे निवेशक कोई शुल्क या प्रीमियम नहीं लेते हैं. इसके अलावा, उन्हें सोने की प्योरिटी, स्टोरेज और इंश्योरेंस के बारे में चिंता करने की जजरूरत नहीं पड़ती है. हम यहां म्यूचुअल फंड के जरिए सोनें में निवेश के कुछ विकल्पों की जानकारी दे रहे हैं. इनमें गोल्ड फंड, गोल्ड ETFs, मल्टी एसेट फंड्स और इंटरनेशनल गोल्ड फंड.

गोल्ड ETF

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) को लेकर लोगों का क्रेज बढ़ रहा है. 2007 गोल्ड ETF की शुरुआत हुई. यह एक ओपन एंडेड म्यूचुअल फंड होता है, जो सोने की गिरते चढ़ते भावों पर आधारित होता है. गोल्ड ETF निवेशकों को गोल्ड मार्केट का एक्सपोजर देता है. लंबी अवधि में निवेश से अच्छा रिटर्न भी मिलता है. शेयर बाजार में निवेश के मुकाबले गोल्ड ETF में निवेश कम उतार चढ़ाव वाला होता है. 1 गोल्ड ETF की वैल्यू 1 ग्राम सोने के बराबर होती है. इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में होने की वजह से गोल्ड ETF में प्योरिटी को लेकर कोई दिक्कत नहीं होती.

गोल्ड ETF के फायदे: गोल्ड ETF को डीमैट अकाउंट के जरिए ऑनलाइन खरीद सकते हैं. आप जब चाहें इसे खरीद और बेच सकते हैं. गोल्ड ETF की शुरुआत आप 1 ग्राम यानि 1 गोल्ड ETF से भी कर सकते हैं. इसलिए इसमें निवेश करना आसान है. गोल्ड ETF पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस चुकाना होता है. गोल्ड ETF को लोन लेने के लिए सिक्योरिटी के तौर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं. फिजिकल सोने पर आपको मेकिंग चार्ज चुकाना होता है. लेकिन गोल्ड ETF में ऐसा नहीं होता है.

गोल्ड फंड

गोल्ड म्यूचुअल फंड ओपन-एंडेड निवेश प्रोडक्ट है जो गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold ETF) में निवेश करते हैं. उनका नेट एसेट वैल्यू ETFs के प्रदर्शन से जुड़ा हुआ है. इसके लिए डीमैट काउंट की जरूरत नहीं होती है. इसमें किसी दूसरे म्यूचुअल फंड की तरह की निवेश किया जा सकता है. पिछले एक साल की बात करें तो गोल्ड फंड ने निवेशकों को बंपर रिटर्न दिया है. कई ऐसे फंड हैं जिनका रिटर्न 30 से 40 फीसदी के बीच रहा है. गोल्ड म्यूचुअल फंड में निवेश पर एक्सपेंस रेश्यो देना पड़ता है. जबकि कुछ फंड एक्जिट लोड भी लेते हैं. इसमें एसआईपी (SIP) के जरिए भी पैसा लगा सकते हैं. गोल्ड म्युचुअल फंड में 3 साल से अधिक के निवेश को लॉन्ग-टर्म माना जाता है. SBI गोल्ड फंड, कोटक गोल्ड फंड, Axis गोल्ड ETF फंड, Invesco इंडिया गोल्ड एक्सचेंज ट्रेड फंड कुछ बेहतर गोल्ड फंड हैं.

मल्टी एसेट अलोकेशन फंड

मल्टी एसेट एलोकेशन फंड हाइब्रिड श्रेणी में आते हैं. सेबी ने मल्टीकैप म्यूचुअल फंड के एसेट अलोकेशन के नियमों में बदलाव किया है. इसके तहत 75 फीसदी निवेश इक्विटी में लगाना जरूरी है. हालांकि बचे 25 फीसदी के हिस्से में कुछ पैसा फंड हाउस सोने में लगा सकते हैं. ज्यादातर मल्टी एसेट फंड में सोने का आवंटन होता है. इससे किसी निवेशक का पोर्टफोलियो बैलेंस करने में मदद मिलती है. इक्विटी के नुकसान को कुछ हद तक सोने से भरपाई की जा सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Gold Investment: म्यूचुअल फंड के जरिए 3 तरीके से सोने में करें निवेश, संकट में भी मिलता है बेहतर रिटर्न

Go to Top