मुख्य समाचार:

‘SmartSwitch’: म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो भी करें सेनेटाइज, ताकि हमेशा मिलता रहे शानदार रिटर्न

म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियों में जितनी बेहतर स्कीम शामिल होंगी, आपको उतना ज्यादा फायदा होगा.

Published: July 7, 2020 2:52 PM
how to select high quality mutual fund, Samco Securities, RankMF, SamrtSwitch will help you to sanitize mutual fund portfolio, how to chose best mutual fund scheme, diversify your portfolioम्यूचुअल फंड पोर्टफोलियों में जितनी बेहतर स्कीम शामिल होंगी, आपको उतना ज्यादा फायदा होगा.

म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियों में जितनी बेहतर स्कीम शामिल होंगी, आपको उतना ज्यादा फायदा होगा. इसके जरूरी है कि समय समय पर अपने म्यूचुअल फंड निवेश का आंकलन किया जाए. इस काम में आपको बेहद आसानी होगी. असल में सैमको सिक्युरिटीज के ब्रांड रेंक एमएफ ने म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो अपग्रेडेशन टूल ‘SmartSwitch’ लांच किया है. इसकी मदद से एक तरह से आप अपने निवेश को सेनेटाइज कर सकेंगे. जरूरत पड़ने पर कमजोर स्कीम को हटाकर उसकी जगह बेहतर म्यूचुअल फंड स्कीम को पोर्टफोलियो में शामिल कर सकेंगे.

कैसे काम करता है ये टूल

इसके कुछ खास पैरामीटर हैं….

– क्वालिटी आफ एग्जिस्टिंग म्यूचुअल फंड, यानी जो फंड आपके पोर्टफोलियो में हें उनकी क्या क्वालिटी है.
– म्यूचुअल फंड की कटेगिरी
– किसी खास फंड या कटेगिरी में कहीं ओवर एक्सपोजर या अंडर एक्सपोजर तो नहीं है
– डाइवर्सिफिकेशन कैसा है

इस सभी पैरामीटर की स्टडी के बाद ‘SmartSwitch’ आपके मौजूदा पोर्टफोलियो की क्वालिटी को लेकर एक नंबर देगा. इसके आणार पर आपको खराब प्रदर्शन वाली स्कीम की जगह हाई क्वालिटी स्कीम चुनने में मदद मिलेगी. यानी आप समय समय पर अपना पोर्टफोलियो बेहतर कर सकेंगे.

यह म्यूचुअल फंड रिसर्च प्रोवाइड कराता है जो पिछले प्रदर्शन पर म्यूचुअल फंडों को न तो रेटिंग करता है और न ही रैंक देता है. इसके लिए कई फैक्टर ध्यान में रखे जाते हैं, जिसमें एक्सपेंस रेश्यो, बीटा, मार्केट वैल्युएशन, स्टैंडर्ड डेविएशन और पोर्टफोलियो होल्डिंग्स और डाइवर्सिफिकेशन शामिल हैं.

खराब क्वालिटी वाले फंड में न फंसे

सैमको सिक्युरिटीज के सीईओ जिमित मोदी का कहना है कि म्यूचुअल फंड एयूएम का लगभग 11 लाख करोड़ रुपये इस समय 4 से कम स्टार रेटेड चाले फंड में फंसे हैं. ऐसे में यह जरूरी है कि ये निवेशक खराब क्वालिटी वाली स्कीम की जगह आगे के नुकसान से बचने के लिए अपने निवेश को हाई क्वालिटी वाले फंड में ट्रांसफर करें.

उनका कहना है कि अगर आपने अनुशासन के साथ निवेश किया है और लंबी अवधि के दौरान भी पैसा नहीं कमाया है तो इसमें इस बात की संभावना ज्यादा है कि आपने अपना पैसा गलत म्यूचुअल फंड में निवेश किया हो. स्मार्टस्विच निवेशकों को उनके पोर्टफोलियो के लिए एक गुणवत्ता स्कोर प्राप्त करने, स्पेसिफिक रिकमेंडेशन और फिर उन्हें खराब-गुणवत्ता वाले फंडों को बेहतर रिकमेंडेड फंडों में बदलने की अनुमति देता है.

सही फंड चुनना सबसे जरूरी

सैमको ग्रुप के हेड -रैंक एमएफ, ओमकेश्वर सिंह का कहना है कि म्यूचुअल फंड में निवेश करने पर सही फंड चुनना प्रमुख उद्देश्य होना चाहिए. पोर्टफोलियो में शामिल फंड कुछ समय के बाद नकारात्मक रिटर्न दे सकते हैं और ऐसे में इस टूल की मदद से निवेशक लाभ उठा सकता है. वे आसानी से अपने eCAS को अपलोड कर सकते हैं, अपने पोर्टफोलियो स्कोर की जांच कर सकते हैं और अपने मौजूदा खराब क्वालिटी वाले या नॉन परफॉर्मिंग फंड को रिकमेंडेड क्वालिटी म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो में बदल सकते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. ‘SmartSwitch’: म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो भी करें सेनेटाइज, ताकि हमेशा मिलता रहे शानदार रिटर्न

Go to Top