सर्वाधिक पढ़ी गईं

देश के टॉप 7 शहरों में 47% घटेगी हाउसिंग सेल्स; दिल्ली-NCR, बेंगलुरु में सबसे ज्यादा गिरावट का अनुमान: एनारॉक

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट एनारॉ​क के अनुसार कोविड-19 महामारी के चलते इस साल घरों की डिमांड कम रही.

December 21, 2020 2:30 PM
Housing sales, delhi-ncr, COVID19 pandemic, property consultant Anarock, New housing supply, real state, Mumbai Metropolitan Region (MMR), Pune, Bengaluru, Hyderabad, Chennai, KolkataCovid-19 Pandemic का असर इस साल रीयल एस्टेट सेक्टर भी पर तगड़ा हुआ है.

कोरोनावायरस महमारी (Covid-19 Pandemic) का असर इस साल रीयल एस्टेट सेक्टर भी पर तगड़ा हुआ है. देश के प्रमुख सात शहरों में हाउसिंग सेल 2020 में 47 फीसदी गिरकर 1.38 लाख यूनिट रह सकती है. इसकी प्रमुख वजह कोरोना महामारी के चलते डिमांड में आई कमी है. प्रॉपर्टी कंसल्टेंट फर्म एनारॉक की एक रिपोर्ट में यह अनुमान जताया गया है. रिपोर्ट के अनुसार, नए घरों की सप्लाई भी सभी प्रमुख सात शहरों दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगर क्षेत्र, पुणे, बेंगलुरु, हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता में 46 फीसदी ​गिरकर 1.28 लाख यूनिट रह सकती है.

साल समाप्त होने से 10 दिन पहले आंकड़े जारी करते हुए एनारॉक का कहना है कि मकानों की कुल बिक्री 2020 में 1.38 लाख यूनिट से अधिक रह सकती है, जोकि 2019 में 2.61 लाख थी. नए मकानों की आपूर्ति भी 2020 में घटकर 1.28 लाख रहेगी, जो 2019 में 2.61 लाख थी.

आवासीय रीयल एस्टेट में रिकवरी

रिपोर्ट का कहना है कि आवासीय रीयल एस्टेट 2014 के पीक के मुकाबले 2020 में अपने निचले स्तर पर पहुंच गया. यहां से अब रिकवरी है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान आवासीय प्रॉपर्टी में मजबूत रिवाइवल दर्ज किया गया.

एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी का कहना है, कोविड19 महामारी के चलते 2020 एक अप्रत्याशित साल रहा. हालांकि, इस साल की बीती दो तिमाही से आवासीय सेगमेंट में तेजी देखने को मिली है. इसकी वजह मार्केट में होमओनरशिप यानी रहने के लिए घरों की बढ़ी डिमांड है. इसके अलावा, डिस्काउंट्स एंड आफर्स, होम लोन की ब्याज दरों में कमी और महाराष्ट्र जैसे कुछ राज्यों में सीमित समय के लिए स्टॉप ड्यूटी में की गई कटौती से भी आवासीय रीयल्टी को बूस्ट मिला.

COVID-19 महामारी ने कैसे बदल दी अर्थव्यवस्था की तस्वीर? कृषि की ताकत से उपभोक्ता की आदत तक, 5 प्वाइंट…

बेंगलुरु, दिल्ली-NCR में 51% गिरावट!

एनारॉक की रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई महानगर क्षेत्र (MMR) में इस साल हाउसिंग सेल्स 45 फीसदी गिरकर 44,320 यूनिट रह सकता है. 2019 में यह 80,879 था. इसी तरह बेंगलुरु में हाउसिंग सेल्स 51 फीसदी घटकर इस साल 24,910 रहने की उम्मीद है, 2019 में यह 50,450 थी.

पुणे में यह गिरावट 42 फीसदी रह सकती है. 2020 में पुणे की हाउसिंग सेल्स 23,460 ररहने की उम्मीद है, जो इससे पिछले साल 40,790 था. दिल्ली-एनसीआर में मकानों की बिक्री 51 फीसदी की गिरावट के साथ 23,210 रहने की उम्मीद है, जो 2019 में 46,920 थी.

हैदराबाद में हाउसिंग सेल्स 48 फीसदी घटकर 8,560 रह सकती है, 2019 में यह 16,590 थी. वहीं, कोलकाता में मकानों की बिक्री 2020 में गिरकर 7,150 रह सकती है, 2019 में यह 13,930 थी.
अनसोल्ड हाउसिंग स्टॉक भी 2020 में 2 फीसदी गिरकर 6,38,020 रहने की उम्मीद है. 2019 में यह 6,48,400 था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. देश के टॉप 7 शहरों में 47% घटेगी हाउसिंग सेल्स; दिल्ली-NCR, बेंगलुरु में सबसे ज्यादा गिरावट का अनुमान: एनारॉक

Go to Top