मुख्य समाचार:

म्यूचुअल फंड: बिना खतरा लिए बनना चाहते हैं अमीर, ये हैं लो रिस्क और हाई रिटर्न वाली टिप्स

म्यूचुअल फंड की हाइब्रिड कटेगिरी में कम सक कम ऐसे 6 से 7 फंड हैं, जिन्होंने लांच के बाद से ही यानी पिछले 17-18 सालों में 16 से 20 फीसदी तक रिटर्न दिया है.

November 16, 2019 8:28 AM
become rich without taking any risk, hybrid mutual fund, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड, SIP, invest through SIP, compounding power, investors become rich in hybrid mutual fund, how you make huge money through SIPम्यूचुअल फंड की हाइब्रिड कटेगिरी में तो कई फंड हैं, जिन्होंने लांच के बाद से ही यानी पिछले 17-18 सालों में 16 से 20 फीसदी तक रिटर्न दिया है.

Mutual Fund Make Investors Rich: म्यूचुअल फंड की हाइब्रिड कटेगिरी की बात करें तो कम सक कम ऐसे 6 से 7 फंड हैं, जिन्होंने लांच के बाद से ही यानी पिछले 17-18 सालों में 16 से 20 फीसदी तक रिटर्न दिया है. इसी कटेगिरी में शामिल ICICI प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड के रिटर्न की बात करें तो अक्टूबर 2002 में लांच के बाद से इसमें 21.25 फीसदी सीएजीआर के हिसाब से रिटर्न मिला है. यानी निवेशकों का 50 हजार रुपये यहां इतने दिनों में 13.23 लाख रुपये हो गया, जिसका मतलब है कि करीब 26 गुना रिटर्न.

इसी तरह से आदित्य बिरला सन लाइफ इक्विटी हाइब्रिड फंड ने 1995 में लांच के बाद से 19.29 फीसदी सीएजीआर रिटर्न दिया. यानी यहां तक 50 हजार का निवेश 40 लाख के करीब हो गया. एक्सपर्ट का कहना है कि अगर बाजार में अनिश्चितता को लेकर निवेशक कन्फ्यूज हों तो, हाइब्रिड फंड उन्हें निवेश पर जोखिम से सुरक्षा देते हैं. यह जहां पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई करता है, इसमें रिस्क भी इक्विटी या डेट फंडों के मुकाबले कम होता है.

रिटर्न चार्ट पर टॉप करने वाले फंड

ICICI प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड

एसेट्स: 11,534 करोड़ (31 अक्टूबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.90% (30 सितंबर, 2019)
लांच डेट: 31 अक्टूबर, 2002
लांच के बाद से रिटर्न: 21.25 फीसदी
मिनिमम SIP: 100 रुपये

आदित्य बिरला सन लाइफ इक्विटी हाइब्रिड फंड

एसेट्स: 11,608 करोड़ (31 अक्टूबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.86% (30 सितंबर, 2019)
लांच डेट: 10 फरवरी, 1995
लांच के बाद से रिटर्न: 19.29 फीसदी
मिनिमम SIP: 100 रुपये

HDFC बैलेंस्ड एडवांटेज फंड

एसेट्स: 44,110 करोड़ (31 अक्टूबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.67% (30 सितंबर, 2019)
लांच डेट: 1 फरवरी, 1994
लांच के बाद से रिटर्न: 18.09 फीसदी
मिनिमम SIP: 500 रुपये

निप्पॉन इंडिया बैलेंस्ड एडवांटेज फंड

एसेट्स: 2,495 करोड़ (31 अक्टूबर, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.13% (30 सितंबर, 2019)
लांच डेट: 15 नवंबर, 2004
लांच के बाद से रिटर्न: 16.02 फीसदी
मिनिमम SIP: 100 रुपये

(Source: Value Research)

क्यों माना जाता है सुरक्षित निवेश

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि हाइब्रिड म्यूचुअल फंड 3 तरह के एसेट क्लास में निवेश कर सकते हैं. इनमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल हैं. अगर निवेशक कंजर्वेटिव हैं और बाजार के उतार चढ़ाव का जोखिम नहीं लेना चाहते हैं तो लंबी अवधि को ध्यान में रखकर एग्रेसिव हाइब्रिड स्कीमों में पैसा लगा सकते हैं. इन फंडों पर टैक्स लाभ भी मिलता है. इक्विटी के अलावा डेट और गोल्ड में निवेश करने से बाजार का जोखिम यहां कम हो जाता है. कई बार इक्विटी में दबाव होता है तो गोल्ड या डेट फंडों में बेहतर रिटर्न मिलता है. इस तरह से निवेश पर रिस्क कम हो जाता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. म्यूचुअल फंड: बिना खतरा लिए बनना चाहते हैं अमीर, ये हैं लो रिस्क और हाई रिटर्न वाली टिप्स

Go to Top