HDFC Hikes Lending Rate: एचडीएफसी से लोन लेना हुआ महंगा, पुराने ग्राहकों पर जानिए कैसे पड़ेगा नई दरों का असर

HDFC Hikes Lending Rate: रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद से वित्तीय संस्थान दरों में बढ़ोतरी कर रहे हैं. अब इस कड़ी में एचडीएफसी ने लोन महंगा किया है.

HDFC hikes lending rate by 30 bps loans to become dearer
हाउसिंग फाइनेंस कंपनी और मार्गेज लेंडर एचडीएफसी ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट में 30 बेसिस प्वाइंट्स (0.30 फीसदी) की बढ़ोतरी का ऐलान किया है. (Image- Reuters)

HDFC Hikes Lending Rate: हाउसिंग फाइनेंस कंपनी और मार्गेज लेंडर एचडीएफसी (HDFC) ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट में 30 बेसिस प्वाइंट्स (0.30 फीसदी) की बढ़ोतरी का ऐलान किया है. बैंक के इस फैसले से अब एचडीएफसी से कर्ज लेना महंगा हो जाएगा. इस फैसले का असर नए और पुराने दोनों ग्राहकों पर होगा.

इससे पहले आईसीआईसीआई बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और बैंक ऑफ इंडिया पहले ही ब्याज दरें बढ़ा चुके हैं. ब्याज दरों में यह बढ़ोतरी बुधवार (4 मई) को केंद्रीय बैंक आरबीआई द्वारा अचानक रेपो रेट बढ़ाए जाने के चलते हो रहा है. आरबीआई ने रेपो रेट को 0.40 फीसदी बढ़ा दिया है.

New Age-Tech Stocks Report: नए दौर की टेक कंपनियों ने निवेशकों को किया निराश, 74% तक घट गई दौलत

9 मई से प्रभावी होगी एचडीएफसी की नई दरें

एचडीएफसी ने हाउसिंग लोन पर रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (RPLR) को 0.30 फीसदी बढ़ा दिया है जिस पर होम लोन की दरें तय होती है. नई दरें 9 मई 2022 से प्रभावी होंगी. नई दरों के लागू होने के बाद क्रेडिट और लोन राशि के आधार पर 7-7.5 फीसदी की दर से लोन मिलेगा. अभी यह 6.70-7.15 फीसदी पर है.

L&T Infotech-Mindtree Merger: एलएंडटी इंफोटेक और माइंडट्री के विलय का ऐलान, शेयरों की अदला-बदली पर हुआ ये फैसला

मौजूदा कर्ज पर कैसे पड़ेगा असर

मार्गेज लेंडर एचडीएफसी में मौजूदा ग्राहकों के लोन की रीप्राइसिंग के लिए तीन महीने का साइकिल चलता है. ऐसे में बढ़ी हुई लोन की दरें फर्स्ट डिस्बर्समेंट के डेट के आधार पर तय होंगी. इस महीने की शुरुआत में एचडीएफसी ने बेंचमार्क लेंडिंग रेट को 5 बेसिस प्वाइंट्स (0.05 फीसदी) बढ़ा दिया था जिससे मौजूदा लोन की ईएमआई महंगी हो गई है.

Repo Rate Hike Effect: RBI के फैसले से महंगा होगा कर्ज, लेकिन कुछ लोगों के हाथों में बढ़ेगी नगदी

RBI के ऐलान के बाद से बढ़ रही दरें

बुधवार को आरबीआई ने अचानक रेपो पेट में 40 बेसिस प्वाइंट्स (0.40 फीसदी) और कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) में 50 बेसिस प्वाइंट्स (0.50 फीसदी) की बढ़ोतरी का ऐलान किया था. कैश रिजर्व रेशियो का मतलब आरबीआई के पास बैकों द्वारा कुल कैश डिपॉजिट का हिस्सा है. आरबीआई के इस ऐलान के बाद से वित्तीय संस्थान दरों में बढ़ोतरी कर रहे हैं. अब रेपो रेट 4.40 फीसदी, रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी और सीआरआर 4 फीसदी पर है. बढ़ी हुई दरें तत्काल प्रभाव से लागू हो चुकी हैं.

(इनपुट: पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Business News

TRENDING NOW

Business News