मुख्य समाचार:

पतंजलि आयुर्वेद के 250 करोड़ की NCD को शानदार रिस्पांस, 3 मिनट में 100% हुआ सब्सक्राइब

पतंजलि आयुर्वेद के 250 करोड़ रुपये के नॉन कंवर्टिबल डिबेंचर डिबेंचर (NCD) को निवेशकों का शानदार रिस्पांस मिला है.

Published: May 28, 2020 4:25 PM
Patanjali Ayurved, Patanjali Ayurved 250 crore Rs NCD, Haridwar based, Patanjali 250 crore Rs NCD issue fully subscribed within 3 minutes of opening, baba ramdev, working capital, supply chain, Check Patanjali NCD maturity and interest rateपतंजलि आयुर्वेद के 250 करोड़ रुपये के नॉन कंवर्टिबल डिबेंचर डिबेंचर (NCD) को निवेशकों का शानदार रिस्पांस मिला है.

पतंजलि आयुर्वेद के 250 करोड़ रुपये के नॉन कंवर्टिबल डिबेंचर डिबेंचर (NCD) को निवेशकों का शानदार रिस्पांस मिला है. गुरूवार को बाजार में आने के महज 2 से 3 मिनट में यह 100 फीसदी सब्सक्राइब हो गया है. कंपनी ने इसे ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि यह रिस्पांस कंपनी को लेकर लोगों के भरोसे को बताता है. हरिद्वार बेस्ड कंपनी एनसीडी से मिलने वाली रकम का इस्तेमाल वर्किंग कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने और आपूर्ति प्रणाली नेटवर्क मजबूत करने में करेगी.

पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि यह ऐतिहासिक है. कुल 250 करोड़ रुपये के एनसीडी (गैर परिवर्तनीय डिबेंचर) को खुलने के 3 मिनट के भीतर ही 100 फीसदी सब्सक्रिप्शन मिल गया. यह निवेशकों के उत्साह और भरोसे को बताता है. बालकृष्ण ने कहा कि यह लोगों के भरोसे को दर्शाता है. इसी भरोसे ने पतंजलि को देश का सबसे विश्वसनीय ब्रांड बनाया है. और स्वामी रामदेव की अगुवाई में स्वदेशी आंदोलन को गति दी है जो मजबूत और आत्म-निर्भर भारत के लिये जरूरी है.

3 साल की मेच्योरिटी पर 10.10% ब्याज

हाल के वर्षों में दैनिक उपयोग के सामान बनाने वाली कंपनी पंतजलि आयुर्वेद का यह पहला बांड निर्गम है. पतंजलि के एनसीडी पर कूपन दर (ब्याज दर) 10.10 फीसदी है, जबकि इसकी मेच्योरिटी अवधि 3 साल है. इसकी मेच्योरिटी डेट 28 मई 2023 है. डिबेंचर को ब्रिकवर्क ने एए रेटिंग दी है. डिबेंचर शेयर बाजार में सूचीबद्ध और रिडीमेबल होंगे. बता दें कि पिछले साल दिसंबर में पतंजलि आयुर्वेद ने दिवालिया हो चुकी रुचि सोया का 4,350 करोड़ रुपये में अधिग्रहण पूरा किया. दिवालिया प्रक्रिया में पतंजलि ने इस कंपनी का अधिग्रहण किया.

कोविड-19 से सप्लाई चेन पर बढ़ा दबाव

पतंजलि आयुर्वेद के प्रवक्ता एस.के. तिजारावाला ने कहा कि कोविड-19 महामारी के इस दौर में शारीरिक रोग-निरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक आयुर्वेद उत्पादों की मांग तेजी से बढ़ी है. इससे हमारी आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव बढ़ा है. मैन्युफैक्चरिंग से लेकर वितरण तक की पूरी आपूर्ति श्रृंखला पर दबाव बढ़ा है. उन्होंने कहा कि इस आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत बनाने के लिए ही हम यह राशि जुटा रहे हैं, ताकि हम मैन्युफैक्चरिंग से लेकर वितरण तक की पूरी श्रृंखला को सरल और बेहतर बना सकें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. पतंजलि आयुर्वेद के 250 करोड़ की NCD को शानदार रिस्पांस, 3 मिनट में 100% हुआ सब्सक्राइब

Go to Top