सर्वाधिक पढ़ी गईं

हैप्पिएस्ट माइंड्स ने निवेशकों को किया ‘Happy’, 5 माह में ही 232% रिटर्न; क्या बना रहेगा मल्टीबैगर?

Happiest Minds Stocks: हैप्पिएस्ट माइंड्स निवेशकों के लिए मल्टीबैगर साबित हुआ है.

Updated: Feb 19, 2021 11:43 AM
Happiest Minds StocksHappiest Minds Stocks: हैप्पिएस्ट माइंड्स निवेशकों के लिए मल्टीबैगर साबित हुआ है.

Happiest Minds Stocks: हैप्पिएस्ट माइंड्स निवेशकों के लिए मल्टीबैगर साबित हुआ है. शेयर को बाजार में लिस्ट हुए अभी 5 महीने ही हुए हैं और इसने अपने इश्यू प्राइस की तुलना में 232 फीसदी तक दे दिया है. शेयर में पिछले 9 दिनों में 50 फीसदी से ज्यादा तेजी आई है. 19 फरवरी को भी शेयर अपने आल टाइम के करीब 551 रुपये के भाव पर पहुंच गया था. कंपनी का आईपीओ पिछले साल सितंबर में आया था और यह 17 सितंबर को बाजार में लिस्ट हुई थी. ब्रोकरेज हाउस नोमुरा ने कंपनी में आगे भी बेहतर ग्रोथ की उम्मीद जताई है.

इश्यू प्राइस से 232% चढ़ा शेयर

हैप्पिएस्ट माइंड्स ने अपने आईपीओ के लिए अपर प्राइस बैंड 166 रुपये तय किया था. 17 सिंतबर को कंपनी का शेयर बीएसई पर 351 रुपये के भाव पर और एनएसई पर 350 रुपये के भाव पर यानी 111 फीसदी प्रीमियम के साथ लिस्ट हुआ था. लिस्टिंग के बाद से भी शेयर में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली है. 19 फरवरी के कारोबार में शेयर 551 रुपये पर पहुंच गया है. यानी इश्यू प्राइस से 232 फीसदी ग्रोथ रही है. इस साल की बात करें तो 1 जनवरी से अबतक शेयर 338 रुपये के भाव से 213 रुपये मजबूत हुआ है. पिछले 5 दिन में इसमें 146 रुपये की तेजी आई है.

निवेशकों की और भरेगी जेब

ब्रोकरेज हाउस नोमुरा का कहना है कि हैप्प्एिस्ट माइंड्स का मुनाफा पिछले 2 तिमाही में उम्मीद से बेहतर रहा है. आगे भी अच्छी ग्रोथ दिख रही है. नोमुरा के अनुसार वित्त वर्ष 2021 से 2024 के दौरान आईटी कंपनी की रेवेन्यू ग्रोथ 25 फीसदी सालाना रहने का अनुमान है. नोमुरा का कहना है कि हैप्पिएस्ट माइंड्स प्रीमियम वेल्युएशन के बाद भी आगे शेयर धारकों के लिए कंसिस्टेंट कंपाउंडर साबित हो सकता है. रिपोर्ट के अनुसार कंपनी की ग्रोथ लॉर्जकैप पेस की तुलना में दोगुनी और मिडकैप के पेस की तुलना में 1.5 गुनी बनी हुई है.

क्या है कंपनी का कारोबार

हैप्पिएंस्ट माइंड के ही अनुसार, इसका 97 फीसदी रेवेन्यू डिजिटल कारोबार से आता है, जो इंफोसिस, माइंडट्री और कॉग्निजेंट जैसी कई कंपनियों की तुलना में काफी अधिक है. इन कंपनियों ने औसत डिजिटल रेवेन्यू 40-50 फीसदी होता है. यह डिजिटल बिजनेस सर्विसेज, प्रोडक्ट इंजीनियरिंग सर्विसेज और इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट व सुरक्षा सेवाओं की पेशकश करती है.

कैसा है हैपिएस्ट माइंड्स का बिजनेस

हैपिएस्ट माइंड्स पिछले तीन साल में 21 फीसदी की सालाना दर से बढ़ी है, जबकि आईटी इंडस्ट्री की औसत ग्रोथ फीसदी के ही आस पास है. वित्त वर्ष 2020 में कंपनी की बिक्री 714 करोड़ रुपये रही थी, जो वित्त वर्ष 2019 में 601 करोड़ रुपये थी. वित्त वर्ष 2020 में कंपनी का मुनाफा 71 करोड़ रुपये रहा, जो वित्त वर्ष 2019 में 14.2 करोड़ रुपये रहा था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. हैप्पिएस्ट माइंड्स ने निवेशकों को किया ‘Happy’, 5 माह में ही 232% रिटर्न; क्या बना रहेगा मल्टीबैगर?

Go to Top