सर्वाधिक पढ़ी गईं

खाने के तेल के दाम घटाने के लिए कस्टम ड्यूटी में कटौती, जानें कितनी कम होंगी कीमतें

इस कटौती से खाद्य तेल की खुदरा कीमतों में 4 से 5 रुपये प्रति लीटर की कमी हो सकती है. वास्तविक असर केवल दो से तीन रुपये प्रति लीटर ही हो सकता है.

September 11, 2021 7:21 PM

सरकार ने ने खाद्य तेल की महंगाई कम करने के लिए पाम ऑयल, सोयाबीन ऑयल और सूरजमुखी तेल पर कस्टम ड्यूटी में कटौती की है. वित्त मंत्रालय के मुताबिक कच्चे पाम ऑयल पर बेस इंपोर्ट टैक्स घटा कर 2.5 फीसदी कर दिया गया है. पहले यह दस फीसदी था. सोयाबीन तेल और सन फ्लावर ऑयल पर भी बेस इंपोर्ट टैक्स 7.5 फीसदी से घटा कर 2.5 फीसदी कर दिया गया है.

क्रूड पाम ऑयल, क्रूड सोया ऑयल और सनफ्लावर के आयात पर ड्यूटी घटाई

फिलहाल क्रूड पाम ऑयल, क्रूड सोया ऑयल और सनफ्लावर के आयात पर ड्यूटी 24.75 फीसदी है. वहीं रिफाइंड पाम ऑयल, सोयाबीन ऑयल और सन फ्लावर ऑयल पर ड्यूटी 35.75 फीसदी है. Solvent Extractors’s Assocition of India ( SEA) के ईडी बी वी मेहता के मुताबिक इस कटौती से खाद्य तेल की खुदरा कीमतों में 4 से 5 रुपये प्रति लीटर की कमी हो सकती है. इसके अलावा, ये भी आम तौर पर देखा जाता है कि भारत के इम्पोर्ट ड्यूटी को कम करने के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतें तेज हो जाती हैं, इसलिए वास्तविक असर केवल दो से तीन रुपये प्रति लीटर ही हो सकता है. उन्होंने कहा कि सरकार को कीमतों को कम करने के लिए सरसों के तेल पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम करनी चाहिए थी. पिछले कुछ महीनों में, केंद्र ने अलग-अलग खाद्य तेलों पर इम्पोर्ट ड्यूटी में कटौती की है और राज्यों से थोक विक्रेताओं, मिलरों, रिफाइनर और स्टॉकिस्टों से खाद्य तेलों और तिलहन के स्टॉक की डिटेल लेने को कहा है. इसने 11,040 करोड़ रुपये के पाम ऑयल मिशन की भी घोषणा की है.

कुकिंग ऑयल की कीमतों में अभी और लगेगी महंगाई की आग, स्टॉक खुलासे के लिए मिलर्स और स्टॉकिस्ट पर बढ़ा सरकार का प्रेशर

पाम ऑयल से लेकर सरसों तेल तक, कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पाम ऑयल कीमतों में 42 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और यह 133.75 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई है. पिछले साल सितंबर में यह महज 94.19 रुपये प्रति किलो था. सोयाबीन तेल की कीमत 47 फीसदी बढ़ कर 153.42 रुपये प्रति किलो बढ़ गई है. पिछले साल इसकी कीमत 104.29 रुपये प्रति किलो थी. सूरजमुखी तेल की कीमत पिछले साल 115.90 रुपये प्रति किलो थी जो इस साल सितंबर में बढ़ कर 48 फीसदी बढ़ कर 171.09 रुपये प्रति किलो हो गई . सरसों तेल की कीमत 40 फीसदी बढ़ कर 176.89 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई है. पिछले साल इसकी कीमत 128.52 रुपये प्रति किलो थी. मूंगफली तेल की कीमत एक साल में 150.36 रुपये से बढ़ कर 181.11 रुपये प्रति किलो हो गई है.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. खाने के तेल के दाम घटाने के लिए कस्टम ड्यूटी में कटौती, जानें कितनी कम होंगी कीमतें

Go to Top