मुख्य समाचार:

छोटे कारोबारियों को 1 अप्रैल से नए बेंचमार्क पर मिलेगा लोन, रेपो रेट में कटौती का होगा फायदा

फरवरी 2019 से अबतक आरबीआई (RBI) रेपो रेट या शॉर्ट टर्म लेंडिंग रेट में 1.35 फीसदी की कटौती कर चुका है.

February 27, 2020 12:22 PM
good news for MSME! RBI says to Bank Link floating rate loans for medium enterprises with external benchmarksफ्लोटिंग रेट पर पर्सनल और रिटेल लोन को पहले ही एक्सटर्नल बेंचमार्क से जोड़ा जा चुका है.

छोटे और मझोले कारोबारियों को अब कर्ज नए मानकों पर मिलेगा. इससे उन्हें भी रेपो रेट (Repo Rate) में कटौती का फायदा मिल सके. दरअसल, मझोले उद्यमों (MSME) को परिवर्तनशील ब्याज दरों (Floating Rates ) पर दिया जाने वाले सभी नए कर्ज को 1 अप्रैल से रेपो जैसे बाहरी मानकों (External Benchmarks) से जोड़ा जाएगा. सूक्ष्म और लघु उपक्रमों के संदर्भ में परिवर्तनशील दरों पर दिया गया कर्ज पहले से बाहरी मानकों से जुड़ा हुआ है.

बता दें, रिजर्व बैंक ने सभी कमर्शियल बैंकों से पिछले साल 4 सितंबर को कहा कि वह फ्लोटिंग रेट वाले सभी नए पर्सनल और रिटेल लोन और MSME को दिए जाने वाले फ्लोटिंग रेट वाले लोन को 1 अक्टूबर से किसी एक्सटर्नल बेंचमार्क रेट से जोड़ें. देश के कई बैंकों ने सितंबर माह से ही रेपो रेट से लिंक्ड रिटेल लोन देना शुरू कर दिया है.

1 अप्रैल 2020 से लागू हो जाएगा नियम

रिजर्व बैंक ने सर्कुलर जारी कर कहा कि अब मझोले उद्यमों को 1 अप्रैल 2020 से परिवर्तनशील दरों (फ्लोटिंग रेट) पर दिया जाने वाला कर्ज बाहरी मानकों (एक्सटर्नल बेंचमार्क) से जुड़ा होगा. केंद्रीय बैंक के अनुसार, इस पहल का उद्देश्य मौद्रिक नीति का लाभ ग्राहकों को देने की व्यवस्था को और मजबूत करना है, जिससे कि नीतिगत दर (रेपो) में कटौती का लाभ मझोले उद्यमों को भी दिया जा सके.

30 की उम्र कर रहे हैं पार, तो फाइनेंशियल प्लानिंग करते समय इन बातों का रखें ध्यान

रिटेल लोन पहले ही एक्सटर्नल बेंचमार्क से जुड़े

फ्लोटिंग रेट पर पर्सनल और रिटेल लोन को पहले ही एक्सटर्नल बेंचमार्क से जोड़ा जा चुका है. रेपो दर, ट्रेजरी बिल पर रिटर्न और एफबीआईएल (फाइनेंशियल बेंचमार्क इंडिया प्राइवेट लि.) की ओर से प्रकाशित अन्य मार्केट इंटरेस्ट रेट एक्सटर्नल बेंचमार्क हैं.

आरबीआई के अनुसार, एक्सटर्नल बेंचमार्क प्रणाली पेश करने के बाद मौद्रिक नीति में बदलाव का लाभ ग्राहकों को देने की व्यवस्था सुधरी है. फरवरी 2019 से आरबीआई रेपो रेट या शॉर्ट टर्म लेंडिंग रेट में 1.35 फीसदी की कटौती कर चुका है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. छोटे कारोबारियों को 1 अप्रैल से नए बेंचमार्क पर मिलेगा लोन, रेपो रेट में कटौती का होगा फायदा

Go to Top