सर्वाधिक पढ़ी गईं

दिवाली से दिवाली 10 साल: इस बार सोने ने दिया 32% रिटर्न, 2011 के बाद सबसे ज्यादा; अब आगे क्या?

Gold, Silver Return: दिवाली या धनतेरस पर सोना खरीदने की परंपरा है. बहुत से लोग निवेश के लिए इन दिनों सोना या चांदी खरीदते हैं.

Updated: Nov 12, 2020 2:02 PM
Gold, SilverDiwali 2020

Gold, Silver Return: दिवाली या धनतेरस पर सोना खरीदने की परंपरा है. बहुत से लोग निवेश के लिए इन दिनों सोना या चांदी खरीदते हैं. सोना और चांदी लांग टर्म रिटर्न के लिए वैसे भी सुरक्षित एसेट क्लास माना जाता है. पिछले 2 साल की बात करें तो दोनों ही एसेट क्लास में शानदार तेजी देखने को मिली है. दिवाली या ण्धनतेरस पर अगर सोना खरीद रहे हें तो यह जानना चाहिए कि पिछले कुछ सालों में दिवाली से दिवाली तक सोने या चांदी ने कितना रिटर्न दिया है. पिछली दिवाली से इस दिवाली के पहले की बात करें तो सोने और चांदी में रिटर्न के मामले में यह साल दूसरे नंबर पर है. 2011 के बाद इस साल दोनों ही एसेट क्लास ने सबसे अच्छा रिटर्न दिया है.

सोना: दिवाली से दिवाली, पिछले 10 साल का रिटर्न

डेट                                 क्लोजिंग               बदलाव        फीसदी में

26 अक्टूबर 2011             27570 रु            7599 रु        38%
13 नवंबर 2012                31719 रु            4149 रु        15%
3 नवंबर 2013                  29871 रु           -1848 रु       -5.83%
23 अक्टूबर 2014             27125 रु           -2746 रु       -9.19%
11 नवंबर 2015                25490 रु          -1653 रु        -6.03%
30 अक्टूबर 2016             30057 रु           4567 रु         17.92%
19 अक्टूबर 2017             29679 रु           -378 रु          -1.26%
7 नवंबर 2018                  31589 रु          1910 रु          6.44%
27 अक्टूबर 2019             39293 रु           6704 रु          21.22%
30 अक्टूबर 2020*            50699 रु          12406 रु        32.40%

चांदी: दिवाली से दिवाली,में पिछले 10 साल का रिटर्न

डेट                              क्लोजिंग               बदलाव          फीसदी में

26 अक्टूबर 2011         55711 रु            16345 रु          41.52%
13 नवंबर 2012           60804 रु             5093 रु            9.14%
3 नवंबर 2013             48732 रु            -12072 रु         -19.85%
23 अक्टूबर 2014         38055 रु           -10677 रु         -21.91%
11 नवंबर 2015           34197 रु            -3858 रु           -10.14%
30 अक्टूबर 2016        43459 रु              8262 रु           24.16%
19 अक्टूबर 2017        39846 रु             -2613 रु           -6.15%
7 नवंबर 2018             38257 रु             -1589 रु           -3.99%
27 अक्टूबर 2019        46941 रु              8684 रु           22.70%
30 अक्टूबर 2020*       60865 रु             13924 रु          29.66%

(source: kedia advisory)

क्या दिवाली के बाद भी रहेगी तेजी

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट, रिसर्च (कमोडिटी एंड करंसी), अनुज गुप्ता का कहना है कि सोना अपने रिकॉर्ड हाई से करीब 5500 रुपये डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहा है. पिछले दिनों सोने पवर एक दबाव देखने को मिला था जो इक्विटी मार्केट में तेजी की वजह से था. हालांकि अभी फैक्टर फिर से सोने के पक्ष में है. यूरोप में कोविड की दूसरी लहर आ चुकी है. भारत में भी कई शहरों में मामले बढ़े हैं. दूसरा अमेरिका में चुनाव एक बड़ा फैक्टर है. प्रेसिडेंट बनने के बाद राहत पैकेज पर खर्च बढ़ने की पूरी उम्मीद है. वहां काई भी राष्ट्रपति बनता है, राहत काम पर खर्च ज्यादा करेगा. इससे आने वाले दिनों में डॉलर और कमजोर हो सकता है और सोने को सपोर्ट मिलेगा. इक्विटी मार्केट का भी वैल्युएशन ज्यादा हो गया है. वहीं आने वाले दिनों में वेडिंग सीजन में खरीददारी लौटने की उम्मीद है. उनका मानना है कि मौजूदा भाव पर सोने में खरीददारी करनी चाहिए. आगे सोना फिर अपना रिकॉर्ड लेवल टच करेगा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. दिवाली से दिवाली 10 साल: इस बार सोने ने दिया 32% रिटर्न, 2011 के बाद सबसे ज्यादा; अब आगे क्या?

Go to Top