मुख्य समाचार:
  1. सोने की जबरदस्त महंगाई के लिए रहें तैयार, सारे रिकॉर्ड तोड़कर 37 हजार तक जा सकते हैं भाव

सोने की जबरदस्त महंगाई के लिए रहें तैयार, सारे रिकॉर्ड तोड़कर 37 हजार तक जा सकते हैं भाव

आगे भी सोने में जबरदस्त तेजी के लिए तैयार रहें.

July 19, 2019 12:11 PM
Gold Prices Outlook, Gold, Gold MCX, Bullion Market, Gold Demand, Gold International market, सोना, Trade War, Budget, US Fed, Dollar, Rate Cut, Geo political Tensionआगे भी सोने में जबरदस्त तेजी के लिए तैयार रहें.

Gold Prices Outlook: सोने की बढ़ती महंगाई से परेशान हैं तो आगे भी सोने में जबरदस्त तेजी के लिए तैयार रहें. शुक्रवार के कारोबार में सोने ने अपने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. एमसीएक्स पर सोना 35409 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर पहुंच गया. यह सोने के लिए आलटाइम हाई है. बुलियन मार्केट में सोना 35700 के पार है. वहीं, इंटरनेशनल मार्केट में सोने ने 1400 डॉलर का रेजिस्टेंस लेवल भी ब्रेक कर दिया है, जो आगे एक और रैली का संकेत है. एक्सपर्ट का कहना है कि सोने में तेजी आगे भी जारी रहेगी. यह अगले कुछ दिनों में 36 हजार और दिवाली तक 37 हजार का स्तर पार कर सकता है.

सोने में क्यों आई तेजी

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट रिसर्च (कमोडिटी एंड करंसी), अनुज गुप्ता का कहना है कि पिछले दिनों यूएस डाटा बेहतर आया था, जिसके बाद ऐसा लग रहा था कि वहां का सेंट्रल बैंक ब्याज दरों में लेकर नरमी न दिखाए. लेकिन गुरूवार को यूएस फेड ने आगे दरों में कटौती के संकेत दिए हैं. इससे सोने को लेकर एक बार फिर सेंटीमेंट मजबूत हुए हैं. मिडल ईस्ट में एक बार फिर तनाव बढ़ा है. यूएस और ईरान के बरच टेंशन बढ़ने की आशंका है. वहीं, चालू खाता घाटा बढ़ने से भी घरेलू स्तर पर सोने की कीमत बढ़ेगी.

जबरदस्त तेजी के लिए रहें तैयार

एक्सपर्ट का कहना है कि इंटरनेशनल स्तर पर सोने को 1400 डॉलर पर रेजिस्टेंस था जो अब ब्रेक हो चुका है. यह सोने में आगे एक और शानदार रैली का संकेत है. अब सोने के लिए अगला लेवल 1450 डॉलर का होगा. अगर यह स्तर भी टूटता है तो सोना 1480 या 1500 डॉलर का स्तर भी दिखा सकता है. घरेलू बाजार में सोना 37 हजार का भाव अगले 2 से 3 महीनों में छू सकता है.

बजट प्रावधान से भी कीमतों में तेजी

बजट में सोने और अन्य बहुमूल्य धातुओं पर कस्टम ड्यूटी 10 से बढ़ाकर 12.5 फीसदी किए जाने का एलान हुआ है. सरकार ने यह प्रस्ताव ऐसे समय किया है जबकि घरेलू आभूषण उद्योग आयात शुल्क में कटौती की मांग कर रहा था. इससे आने वाले दिनों में सोना ज्यादा एक्सपेंसिव होगा और इसमें निवेश बढ़ेगा.

इन वजहों से भी दिख रहा है सपोर्ट

यूएस और चीन के बीच ट्रेड वार बढ़ा तो इक्विटी मार्केट पर दबाव होगा, जिससे गोल्ड को सपोर्ट मिलेगा.
इस साल घरेलू स्तर पर वेडिंग सीजन काफी बिजी है, जिससे मांग बढ़ने की पूरी उम्मीद है.
अमेरिका में संभावित मंदी से महंगाई बढ़ सकती है, जिससे गोल्ड को सपोर्ट मिलेगा.
सेंट्रल बैंक द्वारा फिजिकल बॉइंग और कई ग्लोबल बाजारों में सुस्त रिटर्न भी इसके पीछे बड़ी वजह हो सकते हैं.

Go to Top