मुख्य समाचार:

कोरोना संकट में भी टिका रहा सोना, एक्सपर्ट ने कहा- अभी निवेश का बेस्ट विकल्प, 3 महीने में होगा 46 हजारी

एक्सपर्ट का कहना है कि मौजूदा समय में अगर आप सुरक्षित निवेश चाहते हैं तो सोना बेस्ट विकल्प हो सकता है.

March 26, 2020 8:45 AM
Gold is safe investment in COVID-19 like situation, Gold as safe heaven, silver, gold and silver prices today on MCX, सोना बेस्ट विकल्प, coronavirus, bullion market, yellow metalएक्सपर्ट का कहना है कि मौजूदा समय में अगर आप सुरक्षित निवेश चाहते हैं तो सोना बेस्ट विकल्प हो सकता है.

Gold is safe investment in COVID-19 like situation:  कोरोना वायरस महामारी ने जहां पूरी दुनिया में तबाही मचाई है, निवेशकों को भी जमकर नुकसान उठाना पड़ाना है. इक्विटी मार्केट ही नहीं, म्यूचुअल फंड स्कीम में भी निवेशकों के पैसे लगातार डूब रहे हैं. इस साल जहां शेयर बाजार 35 से 36 फीसदी तक टूट चुका है, म्यूचूअल फंड की इक्विटी स्कीम ने भी डबल डिजिट में निगेटिव रिटर्न दिया है. ऐसे में एक बार फिर सोना संकट के दौर में निवेशकों के लिए खरा उतरा है. आज एमसीएक्स पर सोने ने 42500 का स्तर पार करते हुए 42785 के भाव टच किया. सोने में एक दिन में 1300 रुपये से ज्यादा तेजी रही. एक्सपर्ट का कहना है कि मौजूदा समय में अगर आप सुरक्षित निवेश चाहते हैं तो सोना बेस्ट विकल्प हो सकता है. 3 महीने में यह 46 हजार रुपये तक का भाव दिखा सकता है.

जरूरत के समय कैश और लिक्विडिटी

केडिया एडवाइजरी के डायरेकटर अजय केडिया का कहना है कि पिछले दिनों जब सोने में बड़ी गिरावट आई तो पीले धातु के निवेशकों में डर बैठ गया. सोना कुछ ही दिनों में घरेलू बाजार में 45 हजार से टूटकर 38000 प्रति 10 ग्राम के भाव पर आ गया. वहीं इंटरनेशनल मार्केट में 1700 डॉलर से टूटकर 1450 डॉलर तक चला गया. लेकिन यह गिरावट मार्जिन काल के रूप में थी. असल में जब दुनियाभर के बाजारों में गिरावट थी और ग्लोबल मंदी जैसी स्थिति बन गई तो ज्यादा से ज्यादा लोग कैश रखना चाह रहे हैं. सोने में मार्जिन बहुज ज्यादा बढ़ गया था, इसलिए लोग बिकवाली करने लगे. लेकिन अब सोना फिर चढ़ने लगा है.

केडिया का कहना है कि वैसे भी सकंट के समय सोने को सेफ हैवन माना गया है. क्योंकि सोना जरूरत पड़ने पर तुरंत लिक्विडिटी उपलब्ध करा सकता है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (WGC) ने भी यह बात कही है कि संकट की घड़ी में सोना निवेश का सबसे अच्छा विकल्प है. सोना संकट के समय जरूरी नकदी और लिक्विडिटी उपलब्ध करा सकता है. इसमें साख का भी कोई जोखिम नहीं है. यह आपके समूचे पोर्टफोलियो के प्रदर्शन को भी बेहतर बनाता है.

आगे जारी रहेगी तेजी

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट, कमोडिटी एंड करंसी अनुज गुप्ता का कहना है कि ऐसी ही स्थिति 2008 की मंदी के दौरान बनी थी. उस दौरान सोने और चांदी में बड़ी गिरावट आई थी. तब भी कैश रखने की चाह में लोगों ने सोने और चांदी में मार्जिन काल की थी. इक्विटी में जिस तरह से लोगों का नुकसान हुआ, उन्होंने सोने और चांदी के जरिए उसकी कुछ हद तक भरपाई की. लेकिन 2008 में भी बड़ी गिरावट के बाद सोने में एका एक तेजी देखने को मिली.

अनुज गुप्ता का कहना है कि मौजूदा दौर की बात करें तो सोना निवेश का बेहतर विकल्प है. अभी रुपये में कमजोरी बनी हुई है. सोमवार को रुपया 76 का स्तर पार कर रिकॉर्ड लो पर चला गया था. वहीं, डॉलर की डिमांड बढ़ी है. रुपया आगे भी कमजोर बना रह सकता है. दूसरी ओर निवेशकों के पास मंदी के दौर में सोना सेफ हैवन के रूप में सबसे अच्छे विकल्पों में है. जबतक इक्विटी में अनिश्चितता बनी रहेगी, सोने में निवेश जारी रहेगा. ऐसे में सोने में आगे भी तेजी जारी रहने की उम्मीद है. केडिया का कहना है कि अगले 3 महीने की बात करें तो सोना 46 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम तक जाता दिख रहा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना संकट में भी टिका रहा सोना, एक्सपर्ट ने कहा- अभी निवेश का बेस्ट विकल्प, 3 महीने में होगा 46 हजारी

Go to Top