मुख्य समाचार:

Gold: धनतेरस में सोना खरीदना है तो अपनाएं ये तरीके, आगे कीमत गिरी तो भी नहीं होगा नुकसान

धनतेरस ऐसा त्योहार है, जिसमें बहुत से लोग सोने में निवेश करते हैं.

October 25, 2019 2:54 PM
Gold Buying Tricks, Gold Investment Tips, gold bond, gold ETF, physical gold, धनतेरस, सोने में निवेश, invest in gold, dhanteras, global uncertainityधनतेरस ऐसा त्योहार है, जिसमें बहुत से लोग सोने में निवेश करते हैं.

Gold Investment Tips: धनतेरस ऐसा त्योहार है, जिसमें बहुत से लोग सोने में निवेश करते हैं. वैसे भी इस दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है. लेकिन पिछले कुछ दिनों में सोने में इतनी तेजी आ गई है कि निवेशक इसमें नए निवेश को लेकर कनफ्यूज हो रहे हैं. उन्हें डर लग रहा है कि इतनी उंचाई पर जाने के बाद सोने में गिरावट आ सकती है. लेकिन आप अगर सोने में निवेश को लेकर कुद बातों का ध्यान रखें तो आप गिरावट आने पर भी नुकसान से बच जाएंगे और सोने में निवेश फायदे का सौदा होगा.

मार्च के बाद सोना करीब 7500 रुपये महंगा

सोने में एक बार फिर तेजी आने लगी है और सोमवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 39,370 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया. पिछले कुछ दिनों की बात करें तो सोने में लगातार तेजी रही है और यह 38 हजार से 40 हजार की रेंज में रहा है. सोना मार्च 2019 में 31640 रुपये प्रति 10 ग्राम पर था. यानी सोने में पिछले 6 महीने में 7730 रुपये प्रति 10 ग्राम से ज्यादा तेजी रही है.

ग्लोबल बाजारों में अनिश्चितता की वजह से सोने में तेजी बनी है. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि ग्लोबल बाजारों में अनिश्चितता के अलावा सोने में यह तेजी साइक्लिक भी है और आगे यही ट्रेंड जारी रह सकता है. हालांकि कुछ एक्सपर्ट बीच बीच में गिरावट से भी इनकार नहीं कर रहे. ऐसे में निवेशक दुविधा में हैं कि सोने में किस तरह की स्ट्रैटेजी रखें.

पोर्टफोलियो ऐसे तैयार करें

एक्सपर्ट का कहना है कि सोने में तेजी के आगे भी पूरे आसार हैं, ऐसे में निवेशकों को अपना पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई करने का बेहतर मौका है. हालांकि उन्हें अपने अलोकेशन का 10 से 15 फीसदी ही इस एसेट क्लास में लगाना चाहिए. वहीं, एक्सपर्ट फिजिकल गोल्ड की बजाए गोल्ड बांड और गोल्ड ईटीएफ में निवेश को ज्यादइा तरजीह दे रहे हैं.

चुनें सुरक्षित और सस्ता विकल्प

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि सोने में तेजी का ट्रेंड जारी रहने के लिए पर्याप्त फैक्टर बाजार में मौजूद हैं. ऐसे में निवेशक अपने कुल अलोकेशन का 10-15 फीसदी सोने में डाल सकते हैं. उनका कहना है कि निवेश के लिए सोना खरीदना है तो फिजिकल गोल्ड की बजाए सॉवरेन गोल्ड बांड या ईटीएफ बेहतर विकल्प है.

गोल्ड बांड या ईटीएफ में निवेश करना सुरक्षित होने के साथ ही सस्ता भी है. न तो मेकिंग चार्ज देने का झंझट और न ही प्योरिटी को लेकर डर. अच्छी बात है कि इसमें बहुत कम मात्रा में भी निवेश किया जा सकता है और पेपर फॉर्म में रहने से ये सुरक्षित होते हैं. टैक्स के मामले में ये फिजिकल गोल्ड से सस्ते पड़ते हैं. गोल्ड ईटीएफ का भाव रियल टाइम होने से काफी पारदर्शी भी है. वहीं, गोल्ड बांड में सालाना 2.5 फीसदी रिटर्न भी मिलता है.

जोखिम कम करने के लिए करें ये काम

मान लीजिए कि आपको फिजिकल फॉर्म में सोना खरीदना है. आने वाले दिनों में सोना और महंगा होने की बात कही जा रही है. लेकिन आपको उसमें गिरावट का भी डर लग रहा है. ऐसे में बेहतर है ऑप्शन ट्रेडिंग. एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट, रिसर्च (कमोडिटी एंड करंसी) अनुज गुप्ता के मुताबिक सोने में ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू होने से निवेशकों को रिस्क कम करने का मौका मिला है. इसमें बायर का जोखिम कम हो जाता है. ऑप्शन ट्रेडिंग में हेजिंग का विकल्प होता है. यह एक इंश्योरेंस की तरह है और एक तरह से इसमें कुछ प्रीमियम चुकाकर नुकसान का बीमा कवर मिलता है.

इसे ऐसे समझ सकते हैं कि वायदा कारोबार में आप 40 हजार के भाव पर गोल्ड की एक लॉट खरीदते हैं. लेकिन सोने का भाव 2000 रुपये टूट जाता है और 38 हजार तक आ जाता है तो एक लॉट पर आपको 2 लाख रुपये का नुकसान उठाना पड़ता है. वहीं, ऑप्शन ट्रेडिंग में अगर आपने पुट ऑप्शन खरीदकर हेजिंग करते हैं तो 250 रुपये प्रति दस ग्राम प्रीमियम चुकाकर यह नुकसान घटकर सिर्फ 25,000 रुपये ही रह जाता है.

Video: देश की सबसे बड़ी रिफाइनरी

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Gold: धनतेरस में सोना खरीदना है तो अपनाएं ये तरीके, आगे कीमत गिरी तो भी नहीं होगा नुकसान

Go to Top