मुख्य समाचार:
  1. पेट्रोल के बढ़ते दाम के लिए ग्लोबल फैक्टर्स जिम्मेदार: Assocham

पेट्रोल के बढ़ते दाम के लिए ग्लोबल फैक्टर्स जिम्मेदार: Assocham

अन्य प्रमुख विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में मजबूती से रुपये पर दबाव पड़ रहा है. भारत कच्चे तेल के सबसे बड़े आयातकों में से एक है.

September 10, 2018 7:40 PM
petrol price hike, diesel price hike, Assocham on petrol hike, petrol price future, business news in hindiअन्य प्रमुख विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में मजबूती से रुपये पर दबाव पड़ रहा है. भारत कच्चे तेल के सबसे बड़े आयातकों में से एक है. (Reuters)

पेट्रोल और डीजल की आसमान छूती कीमतों के लिए ग्लोबल फैक्टर्स जिम्मेदार है. उद्योग मंडल एसोचैम ने यह बात कही. उसने उम्मीद जताई है कि फ्यूल पर टैक्स के बोझ को घटाया जा सकता है.

Assocham महासचिव उदय कुमार वर्मा ने पीटीआई से कहा, “हमारा मानना है कि पेट्रोल-डीजल को माल एवं सेवा कर (GST) के दायरे में लाया जाना चाहिए. हालांकि, इस समय यह संभव नहीं है.” उन्होंने कहा कि इस समय ईंधन के दामों में लगातार वृद्धि की वजह वैश्विक कारक हैं. यह उभरते हुए बाजारों को प्रभावित कर रहा है और भारत भी इससे अछूता नहीं है.

वर्मा ने कहा कि अन्य प्रमुख विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में मजबूती से रुपये पर दबाव पड़ रहा है. भारत कच्चे तेल के सबसे बड़े आयातकों में से एक है.

जिसके नाते रुपये की विनिमय दर में गिरावट का पेट्रोल-डीजल के दामों पर असर पड़ रहा है. इसके अलावा, मजबूत वैश्विक रुख के बीच कच्चे तेल के दामों में भी तेजी आई है. उन्होंने कहा, “हमें भरोसा है कि सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक मामले पर नजर बनाये हुये और कर बोझ को कम करने समेत अन्य विकल्पों पर विचार कर रहा है.”

Go to Top