सर्वाधिक पढ़ी गईं

Glenmark Life Sciences IPO: ग्लेनमार्क के ग्रे मार्केट प्रीमियम में गिरावट, इस कंपनी में पैसे लगाने को लेकर ये है एक्सपर्ट की राय

ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज का आईपीओ ऐसे समय में आया है जब फार्म स्टॉक्स में बिकवाली चल रही है. ग्लेनमार्क के ग्रे प्रीमियम में भी गिरावट है. ऐसे में निवेशकों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि इसके आईपीओ को सब्सक्राइब करना चाहिए या नहीं.

July 28, 2021 1:47 PM
Glenmark Life Sciences IPO caught amid pharma sell-off grey market premium weak should you subscribe

Glenmark Life Sciences IPO: ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज का 1514 करोड़ रुपये का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए मंगलवार को खुला था और अब तक यह 5.37 गुना अधिक सब्सक्राइब हो चुका है. इसका आईपीओ ऐसे समय में आया है जब फार्म स्टॉक्स में बिकवाली चल रही है. बिकवाली के चलते फार्मा इंडेक्स 14 हजार के नीचे लुढ़क गया है. ऐसे में निवेशकों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के आईपीओ को सब्सक्राइब करना चाहिए या नहीं.

निवेशकों के मन में ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के ग्रे मार्केट में गिरते भाव के चलते भी घबराहट हो रही है. यह स्टॉक आईपीओ से पहले ग्रे मार्केट में आईपीओ प्राइस के मुकाबले 300 रुपये के प्रीमियम पर ट्रेड हो रहा था जो अब महज 136-138 रुपये के प्रीमियम पर है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि ग्रे मार्केट प्रीमियम पर आईपीओ सब्सक्रिप्शन का फैसला लेने की बजाय कंपनी की वित्तीय स्थिति पर लेनी चाहिए. इसके अलावा एनालिस्ट्स का मानना है कि फार्मा स्टॉक्स में बिकवाली शॉर्ट टर्म करेक्शन है.

New IPO : Devyani International का आईपीओ 4 अगस्त को खुलेगा, जानिए KFC, Pizza Hut चलाने वाली इस कंपनी में पैसा लगाएं या नहीं

ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज की बढ़ेगी मार्केट में हिस्सेदारी

  • अनलिस्टेडएरेना के को-फाउंडर अभय दोशी के मुताबिक निवेशकों को ग्रे प्रीमियम पर ही निवेश को लेकर फैसला नहीं करना चाहिए बल्कि कंपनी की वित्तीय स्थिति पर अधिक फोकस रखना चाहिए. दोशी के मुताबिक समर्थित सरकारी नीतियों, लो प्रोडक्शन कॉस्ट बेस के चलते भारतीय एपीआई (एक्टिव फार्मा इनग्रेडिएंट) इंडस्ट्री में बेहतर ग्रोथ की संभावना है. इसके अलावा चीन की एपीआई कंपनीज पर कठोर नियंत्रण के चलते भारतीय कंपनियों को फायदा पहुंचेगा.
  • दोशी के मुताबिक कंपनी की वित्तीय स्थिति की बात करें तो 772 रुपये के अपर प्राइस के मुताबिक आईपीओ का वैल्यूएशन आय के मुकाबले 22 गुना है जोकि पिअर्स से तुलना करने पर मॉडरेटली दिख रहा है. हालांकि एपीआई और सीडीएमओ (कांट्रैक्ट डेवलपमेंट एंड मैन्यूफैक्चरिंग ऑर्गेनाइजेशन) सेग्मेंट में विस्तार योजना के चलते इसकी मार्केट में हिस्सेदारी बढ़ेगी.

Stocks to Buy: शेयर मार्केट पर है बिकवाली का दबाव, फिर भी इन शेयरों में निवेश से हो सकता है मुनाफा

सब्सक्रिप्शन पर एक्सपर्ट की ये है सलाह

  • ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज विशेष एपीआई बनाने वाली अग्रणी कंपनी है और इसके प्रॉडक्ट्स यूरोप, लैटिन अमेरिका, जापान समेत दुनिया के कई देशों में निर्यात किए जाते हैं. इसके दुनिया भर की दिग्गज जेनेरिक कंपनियों के साथ कारोबारी संबंध हैं. बोनांजा पोर्टफोलियो के रिसर्च हेड विशाल वाघ के मुताबिक बेहतर फाइनेंशियल परफॉरमेंस व आरएंडडी इंफ्रा के साथ बेहतर गुणवत्ता वाले प्रॉडक्ट बनाती है. ऐसे में वाघ के मुताबिक इस स्टॉक में न सिर्फ लंबे समय के लिए बल्कि शॉर्ट टर्म में भी निवेश पर मुनाफा कमा सकते हैं. वाघ के मुताबिक निवेशक 15-25 फीसदी का लिस्टिंग गेन पा सकते हैं.
  • आईसीआईसीआई डायरेक्ट के मुताबिक ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज का ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर रहा है. वैश्विक स्तर पर एपीआई इंडस्ट्री में ग्रोथ की बेहतर संभावना है जिसके चलते इसे आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने सब्सक्राइब की रेटिंग दी है.
  • कंपनी का फोकस आरएंडडी, विस्तारीकरण, सीडीएमओ सर्विसेज में ग्रोथ अपॉर्च्यूनिटी व कांप्लेक्स एपीआई पोर्टफोलियो में विस्तार पर है. इसके चलते जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज ने लांग टर्म के लिए इसे सब्सक्राइब की रेटिंग दी है.

तेजी से बंद हो रहे हैं इंजीनियरिंग कॉलेज, दस साल के निचले स्तर पर पहुंची सीटों की संख्या, धीमी आर्थिक रफ्तार का दिख रहा असर

20 शेयरों का लॉट साइज

ग्लेनमार्क फार्मा की सब्सडियरी ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के आईपीओ के लिए निवेशक 20 शेयरों के लॉट में बिड लगा सकते हैं. इसके लिए 695-720 रुपये प्रति शेयर का भाव तय किया गया है यानी अपर प्राइस बैंड के हिसाब से निवेशकों को कम से कम 14400 रुपये का निवेश करना होगा. 756.8 करोड़ रुपये के 50 फीसदी शेयरों को क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) और 227 करोड़ रुपये के 15 फीसदी हिस्से को नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (NII) के लिए आरक्षित रखा गया है. 35 फीसदी इश्यू जिसकी वैल्यू करीब 529 करोड़ रुपये है, खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित है. नए जारी किए जाने वाले शेयरों से मिले फंड का इस्तेमाल कैपिटल एक्सपेंडिचर और आउटस्टैंडिंग खरीदारी के लिए किया जाएगा.

(स्टोरी में दिए गए स्टॉक रिकमंडेशन संबंधित रिसर्च एनालिस्ट व ब्रोकरेज फर्म के हैं. फाइनेंशियल एक्सप्रेस ऑनलाइन इनकी कोई जिम्मेदारी नहीं लेता. पूंजी बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन हैं. निवेश से पहले अपने सलाहकार से जरूर परामर्श कर लें.)
(Article: Kshitij Bhargava and Surbhi Jain)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Glenmark Life Sciences IPO: ग्लेनमार्क के ग्रे मार्केट प्रीमियम में गिरावट, इस कंपनी में पैसे लगाने को लेकर ये है एक्सपर्ट की राय
Tags:IPO

Go to Top