Upcoming IPO: Gemini Edibles और MapMyIndia समेत 10 कंपनियों के IPO को SEBI की मंजूरी, जानें पूरी डिटेल

इन कंपनियों ने अगस्त और सितंबर के बीच सेबी के पास आईपीओ से संबंधित पेपर सबमिट किए थे. उन्हें 22-26 नवंबर के दौरान सेबी से आईपीओ के लिए ‘ऑब्जरवेशन लेटर’ मिला.

Gemini Edibles, Data Patterns, MapMyIndia among 10 cos to get Sebi’s go ahead to float IPOs
IPO में निवेश करने वाले निवेशकों के लिए खुशखबरी है.

Upcoming IPO: IPO में निवेश करने वाले निवेशकों के लिए खुशखबरी है. बाजार नियामक सेबी (SEBI) ने आईपीओ के ज़रिए फंड जुटाने के लिए 10 कंपनियों को मंजूरी दी है. ये 10 कंपनियां हैं – जेमिनी एडिबल्स एंड फैट्स इंडिया (Gemini Edibles & Fats India), डिफेंस सप्लायर कंपनी डेटा पैटर्न (इंडिया) लि. (Data Patterns India Ltd), डिजिटल मैपिंग कंपनी मैप माई इंडिया (MapMyIndia), एजीएस ट्रांजैक्ट टेक्नोलॉजीज (AGS Transact Technologies), इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट इंडिया (Electronics Mart India), इंडिया1 पेमेंट्स (India1 Payments), हेल्थियम मेडटेक (Healthium Medtech), वीएलसीसी हेल्थ केयर (VLCC Health Care), मेट्रो ब्रांड्स (Metro Brands) और गोदावरी बायोरिफाइनरीज (Godavari Biorefineries). इन कंपनियों ने अगस्त और सितंबर के बीच सेबी के पास आईपीओ से संबंधित पेपर सबमिट किए थे. उन्हें 22-26 नवंबर के दौरान सेबी से आईपीओ के लिए ‘ऑब्जरवेशन लेटर’ मिला. किसी भी कंपनी के लिए IPO लाने से पहले सेबी का ऑब्जर्वेशन लेटर हासिल करना जरूरी होता है.

जेमिनी एडिबल्स एंड फैट्स इंडिया

ड्राफ्ट पेपर्स के अनुसार, खाद्य तेल कंपनी जेमिनी एडिबल्स एंड फैट्स इंडिया आईपीओ के ज़रिए 2,500 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. यह पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) होगा. इसमें कंपनी के प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा बिक्री (ओएफएस) की पेशकश शामिल है.

Life Certificate: पेंशनर्स की सुविधा के लिए लॉन्च किया गया फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी, बुजुर्ग पेंशनर्स को होगी सहूलियत

डेटा पैटर्न (इंडिया)

डेटा पैटर्न (इंडिया) कंपनी डिफेंस और एयरोस्पेस सेक्टर को इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम की आपूर्ति करती है. इस आईपीओ में 300 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. वहीं, कंपनी के प्रमोटरों और इंडिविजुअल बिक्री करने वाले शेयरधारकों द्वारा ओएफएस के जरिये 60,70,675 इक्विटी शेयरों की बिक्री की जाएगी. बाजार सूत्रों के अनुसार, कंपनी आईपीओ से 600-700 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है. कंपनी आईपीओ की शुद्ध आय का इस्तेमाल कर्ज चुकाने, वर्किंग कैपिटल के लिए, और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के अलावा अपनी मौजूदा सुविधाओं के विस्तार के लिए करेगी.

मैप माई इंडिया

यह पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल होगा. इसमें मौजूदा शेयरधारकों और प्रमोटरों द्वारा 75,47,959 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश शामिल होगी. MapMyIndia को CE Info Systems के नाम से भी जाना जाता है. यह कंपनी ग्लोबल वायरलेस टेक्नोलॉजीज कंपनी क्वालकॉम और जापानी डिजिटल मैपिंग Zenrin द्वारा समर्थित है.

एजीएस ट्रांजैक्ट टेक्नोलॉजीज

एजीएस ट्रांजैक्ट टेक्नोलॉजीज ने आईपीओ के ज़रिए 800 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनायी है. यह पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल होगा. कंपनी के प्रमोटरों और शेयरधारों द्वारा शेयरों की बिक्री ओएफएस की तहत जाएगी.

मार्ट इंडिया

कंज्यूमर ड्यूरेबल्स रिटेल चेन इलेक्ट्रॉनिक्स मार्ट इंडिया के आईपीओ में 500 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों की बिक्री शामिल है. कंपनी इस फंड का इस्तेमाल कैपिटल एक्सपेंडिचर, वर्किंग कैपिटल जरूरतों के लिए करेगी. इसके अलावा फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने और सामान्य कार्पोरेट उद्देश्यों के लिए भी किया जाएगा.

Bitcoin को करेंसी के तौर पर मान्यता देने की कोई योजना नहीं, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में कहा

इंडिया1 पेमेंट्स लिमिटेड

इंडिया1 पेमेंट्स लिमिटेड (जिसे पहले बीटीआई पेमेंट्स के नाम से जाना जाता था) के आईपीओ में 150 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. वहीं, कंपनी के प्रमोटरों और निवेशकों द्वारा 1,03,05,180 इक्विटी शेयरों की बिक्री की ओएफएस के तहत की जाएगी. फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने, भारत में एटीएम स्थापित करने के लिए कंपनी की कैपिटल एक्सपेंडिचर जरूरतों को पूरा करने और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा.

हेल्थियम मेडटेक

हेल्थियम मेडटेक के आईपीओ में 390 करोड़ रुपये के फ्रेश इक्विटी शेयर की बिक्री की जाएगी. वहीं, प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 3.91 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री ओएफएस के तहत की जाएगी. फ्रेश इश्यू से प्राप्त फंड का इस्तेमाल कर्ज चुकाने के लिए किया जाएगा. वहीं, कंपनी इसकी सहायक कंपनियों सिरोनिक्स, क्लिनिक्स और क्वालिटी नीडल्स में भी निवेश किया जाएगा. इसके अलावा फंड का इस्तेमाल अधिग्रहण और अन्य रणनीतिक पहल में भी किया जाएगा.

वीएलसीसी हेल्थ केयर

वीएलसीसी हेल्थ केयर के आईपीओ में 300 करोड़ रुपये के फ्रेश इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे. प्रमोटरों और मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 89.22 लाख इक्विटी शेयरों की बिक्री ओएफएस के तहत की जाएगी. फ्रेश शेयरों से प्राप्त फंड का इस्तेमाल भारत में वीएलसीसी वेलनेस क्लीनिक स्थापित करने के लिए किया जाएगा. इसके अलावा, भारत में वीएलसीसी संस्थानों की स्थापना के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाएगा.

Star Health IPO : राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाली इस कंपनी के IPO को ग्रे मार्केट में ठंडा रेस्पॉन्स, क्या आपको पैसा लगाना चाहिए?

मेट्रो ब्रांड्स लिमिटेड

फुटवियर रिटेलर मेट्रो ब्रांड्स लि. के आईपीओ में 250 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. शेयरधारकों द्वारा 2,19,00,100 इक्विटी शेयरों की बिक्री ओएफएस के तहत की जाएगी. आईपीओ की आय का इस्तेमाल “मेट्रो”, “मोची”, “वॉकवे” और “क्रॉक्स” ब्रांडों के तहत कंपनी के नए स्टोर खोलने के लिए किया जाएगा. इसके अलावा, सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए भी फंड का इस्तेमाल किया जाएगा.

गोदावरी बायोरिफाइनरीज

गोदावरी बायोरिफाइनरीज के आईपीओ के तहत 370 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे. वहीं, प्रमोटरों और निवेशकों द्वारा 65,58,278 इक्विटी शेयरों की बिक्री ओएफएस के तहत की जाएगी. इन कंपनियों के शेयर बीएसई और एनएसई पर लिस्ट होंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News