सर्वाधिक पढ़ी गईं

गौतम अडाणी से क्यों छिना एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस का खिताब? इस हफ्ते क्यों गंवाई दुनिया में सबसे ज्यादा संपत्ति?

Bloomberg Billionaires Index के मुताबिक इस हफ्ते गौतम अडाणी की संपत्ति 1320 करोड़ डॉलर (97.9 हजार करोड़ रुपये) घटकर 6350 करोड़ डॉलर (4.71 लाख करोड़ रुपये) रह गई है.

Updated: Jun 18, 2021 2:34 PM
Gautam Adani loses more money this week than anyone else in the world according to Bloomberg Billionaires Indexदेश के दूसरे सबसे अमीर शख्स और भारतीय अरबपति Gautam Adani की संपत्ति में गिरावट लगातार जारी है. इस हफ्ते दुनिया भर में सबसे अधिक गिरावट अडाणी की संपत्ति में रही. (Image- Reuters)

Big slide in Gautam Adani’s Networth: देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स और भारतीय अरबपति गौतम अडाणी (Gautam Adani) की संपत्ति में गिरावट लगातार जारी है. इस हफ्ते दुनिया भर में सबसे अधिक गिरावट अडाणी की संपत्ति में रही. ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स (Bloomberg Billionaires Index) के मुताबिक इस हफ्ते उनकी संपत्ति 1320 करोड़ डॉलर (97.9 हजार करोड़ रुपये) घटकर 6350 करोड़ डॉलर (4.71 लाख करोड़ रुपये) रह गई है.

अडाणी की संपत्ति में गिरावट एक खबर से हुई जिसमें नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) द्वारा अडाणी ग्रुप कंपनियों में भारी निवेश करने वाले तीन फॉरेन पोर्टफोलियो इंवेस्टर्स (FPI) के खातों को फ्रीज करने की बात थी. इसके बाद से अडाणी ग्रुप के छह लिस्टेड स्टॉक में गिरावट जारी है. कुछ समय पहले तक वह नेटवर्थ के मामले में देश और एशिया के सबसे अधिक शख्स रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी के करीब पहुंच रहे थे. अडाणी एशिया के दूसरे सबसे दौलतमंंद शख्स बन चुके थे लेकिन अब वह ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स में एक पायदान नीचे खिसककर एशिया के तीसरे सबसे अमीर शख्स हो गए हैं और दुनिया भर के अमीरों की सूची में उनका 15वां स्थान है.

Adani Group के शेयरों में अचानक क्यों आई 20% तक गिरावट? जानिए निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह

एक रिपोर्ट आने के बाद से अपनी पूंजी निकाल रहे निवेशक

इस हफ्ते की शुरुआत में सोमवार को इकनॉमिक टाइम्स ने खबर दी थी कि देश के नेशनल शेयर डिपॉजिटरी ने मॉरीशस के तीन FPI खातों को स्वामित्व को लेकर पर्याप्त जानकारियां उपलब्ध नहीं कराने के आरोप में फ्रीज कर दिया है. अलबुला इंवेस्टेंट फंड, क्रेस्टा फंड और एपीएमएस इंवेस्टमेंट फंड की अडाणी ग्रुप की कंपनियों में 600 करोड़ डॉलर (44.5 हजार करोड़ रुपये) का निवेश है. हालांकि इस रिपोर्ट को अडाणी ग्रुप ने गुमराह करने वाला बताया लेकिन लगता है बहुत से निवेशकों ने अपनी पूंजी बाहर निकालना जारी रखा. ब्लूमबर्ग इंटेलीजेंस के मुताबिक अडाणी ग्रुप कंपनीज में मॉरीशस ऑफशोर फंड्स 90 फीसदी से अधिक एयूएम (एसेट्स अंडर मैनेजमेंट) होल्ड करती है.

अडाणी ग्रुप के स्टॉक्स के भाव में बड़ी गिरावट

14 जून को एक्सचेंज नियामक को भेजे गए अपने बयान में अडाणी ग्रुप ने कहा था कि ये एफपीआई एक दशक से अधिक समय से निवेशक रहे हैं और स्टेकहोल्डर्स को किसी रिपोर्ट के कारण घबराने की जरूरत नहीं है. 14 जून को एक्सचेंज फाइलिंग ने अडाणी ग्रुप कंपनीज ने कहा कि रजिस्ट्रार और ट्रांसफर एजेंट ने उन्हें लिखित रूप में कंफर्मेशन भेजा है कि ऑफशोर फंड्स के ऐसे किसी भी डीमैट खाते को फ्रीज नहीं किया गया है, जिनमें उनके शेयर रखे गए हैं.
इस हफ्ते अडाणी ग्रीन एनर्जी के शेयर 7.7 फीसदी तक गिर चुके हैं, अडाणी पोर्ट्स 23 फीसदी; अडाणी पावर, अडाणी टोटल गैस, अडाणी ट्रांसमिशन पिछले चार दिनों में 18 फीसदी तक गिर चुके हैं, जबकि अडाणी एंटरप्राइजेज में 15 फीसदी तक की गिरावट आ चुकी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. गौतम अडाणी से क्यों छिना एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस का खिताब? इस हफ्ते क्यों गंवाई दुनिया में सबसे ज्यादा संपत्ति?

Go to Top