मुख्य समाचार:

FPI की ओर से निकासी का सिलसिला थमा, 5 दिनों में निवेश किए 4,800 करोड़

इसकी अहम वजह कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में नरमी आना और रुपये में मजबूती होना है.

November 11, 2018 1:17 PM
FPIs infuse Rs 4,800-cr in just 5 trading sessions on cooling crude pricesअक्टूबर में FPI ने भारी निकासी की थी.

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने पिछले पांच कारोबारी दिनों में भारतीय पूंजी बाजार में करीब 4,800 करोड़ रुपये का निवेश किया. इसकी अहम वजह कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में नरमी आना और रुपये में मजबूती होना है. अक्टूबर में FPI ने भारी निकासी की थी.

अक्टूबर में FPI ने 38,900 करोड़ रुपये की निकासी की थी, जो पिछले दो साल में की गई सबसे ज्यादा निकासी थी. इससे पहले सितंबर में भी FPI ने 21,000 करोड़ रुपये की निकासी की थी. जबकि जुलाई और अगस्त में FPI ने 7,500 करोड़ रुपये का निवेश किया था.

शेयर बाजार में लगाए 215 करोड़, ऋण बाजार में 4557 करोड़

डिपॉजिटरी आंकड़ों के अनुसार, 1 से 9 नवंबर के बीच FPI ने शेयर बाजार में 215 करोड़ रुपये का निवेश किया, जबकि ऋण बाजार में 4,557 करोड़ रुपये निवेश किए. इस प्रकार कुल निवेश 4,772 करोड़ रुपये रहा.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. FPI की ओर से निकासी का सिलसिला थमा, 5 दिनों में निवेश किए 4,800 करोड़

Go to Top