सर्वाधिक पढ़ी गईं

होमलोन लेने में आ रही हैं मुश्किलें, अपनाएं ये 5 तरीके बढ़ जाएगी एलिजिबिलिटी

अधिकतर लोग अपने लोन एप्लीकेशंस पर होमवर्क नहीं करते हैं जिससे उसके रिजेक्ट होने ने के चांसेज बढ़ जाते हैं. लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट न हों, इसके लिए जरूरी है कि पहले से ही पूरी तैयारी कर ली जाये.

Updated: Jan 14, 2019 5:01 PM
Home Loan, Home Loan Application Reject, Home Loan Accept, Home Loan Credit Score, Home Loan Down Payment, How to increase home loan eligibility, होम लोन, होम लोन मंजूरअपना एक घर होना किसी की भी जिंदगी का सबसे बड़ा सपना होता है.

अपना एक घर हो, इसके लिए सभी सपना देखते हैं और कोशिश करते हैं. कुछ लोग पूरी जिंदगी पाई-पाई जोड़कर घर का सपना पूरा करते हैं और कुछ लोन के जरिए घर लेते हैं. लोन लेकर घर लेना आसान तो है लेकिन इसका एप्लीकेशंस अप्रूव होना ही बहुत बड़ी लड़ाई है. कई बार ऐसा होता है कि जितनी रकम आप होम लोन में चाहते हैं, उतना मिल नहीं पाता है. आपकी आय, क्रेडिट स्कोर, प्रापर्टी की स्थिति, रिपेमेंट कैपेसिटी जैसे कारणों से कभी-कभी लोन एप्लीकेशन ही रिजेक्ट हो जाता है. अधिकतर लोग अपने लोन एप्लीकेशंस पर होमवर्क नहीं करते हैं जिससे उसके रिजेक्ट होने ने के चांसेज बढ़ जाते हैं. लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट न हों या पूरी रकम मिल जाये, इसके लिए जरूरी है कि पहले से ही पूरी तैयारी कर ली जाये. यहां पांच प्रमुख पाइंट्स के जरिए समझाया जा रहा है कि किस तरह अपने सबसे बड़े सपने को पूरा कर सकते हैं.

डाउन पेमेंट अधिक रखें
आरबीआई के निर्देशानुसार होम लोन लेंडर्स किसी भी प्रापर्टी की कीमत का 75-90 फीसदी तक लोन दे सकते हैं. शेष राशि बॉयर्स को डाउनपेमेंट के रूप में देनी होगी. हालांकि लोन एप्लीकेशन आसानी से मंजूर हो जाए, इसके लिए होम बॉयर्स को डाउन पेमेंट की राशि 10-25 फीसदी की बजाय अधिक रखनी चाहिए.

जाइंट होम लोन के लिए अप्लाई करें
कम कमाई, लो क्रेडिट स्कोर, कमाई की तुलना में अधिक कर्ज जैसे कारणों से होम लोन एप्लीकेशंस खारिज हो जाते हैं. होम बॉयर्स को अपनी एलिजिबिलिटी बढ़ाने के लिए जॉइंट होम लोन के लिए अप्लाई करना चाहिए. इससे लोन अमाउंट भी बढ़ सकता है.
अगर जाइंट होम लोन में आपकी सहयोगी कोई महिला है या उसने पहली बार लोन के लिए अप्लाई किया है तो कई लेंडर्स इंटरेस्ट रेट कम रखते हैं.

लोन चुकाने की अवधि अधिक रखें
अधिकतर होम बॉयर्स लोन के रिपेमेंट के लिए छोटी अवधि रखते हैं. इस गलती से बचना चाहिए. छोटी अवधि वाले लोन की ईएमआई अधिक होती है. अधिक ईएमआई बनने पर लेंडर्स आपका लोन एप्लीकेशन खारिज कर सकते हैं क्योंकि डिफॉल्ट की संभावना बढ़ जाती है. लोन रिपेमेंट की अवधि अधिक रखने पर ईएमआई कम होगी और लेंडर्स को भरोसा रहेगा कि आप ईएमआई भुगतान से नहीं चूकेंगे.
अगर आप हायर ईएमआई चुकाने में सक्षम हैं तो भी लंबी अवधि वाला ही प्लान चुनिए. कुछ समय तक ईएमआई चुकाने के बाद प्रीपेमेंट कर दीजिए. आरबीआई के निर्देशानुसार फ्लोटिंग रेट पर लिए गए होम लोन पर बैंक प्रीपेमेंट चार्ज नहीं लगा सकते हैं.

अपने वर्तमान कर्जों को घटाएं
लेंडर्स लोन एप्लीकेशन को अप्रूव करने से पहले यह भी देखते हैं कि आप पर वर्तमान में कितना कर्ज है और आपकी कमाई का कितना फीसदी है. इसके लिए फिक्स्ड ऑब्लिगेशन टू इनकम रेशियो (एफओआईआर) एक पैरामीटर का प्रयोग किया जाता है. एफआईओआर वर्तमान क्रेडिट कार्ड बिल्स और लोन ईएमआई का कमाई के साथ अनुपात है. इसके 40-50 फीसदी से अधिक होने पर यह समझा जाता है कि अब आप अगले होम लोन के लिए डिफॉल्ट कर सकते हैं. अगर आपका एफआईओआर 40-50 फीसदी से अधिक हो गया है तो इसे कम करें. इसे कम करने के लिए अपने वर्तमान कर्ज को जल्द से जल्द चुकता करें और इसके बाद ही होम लोन के लिए अप्लाई करें.

क्रेडिट स्कोर मजबूत करें
होम लोन के एप्लीकेशन की स्क्रूटनी करते वक्त लेडर्स आपकी क्रेडिट स्कोर भी चेक करते हैं. अगर आपकी क्रेडिट स्कोर अच्छी है तो लोन आसानी से अप्रूव हो जाता है. इसके अलावा स्ट्रांग क्रेडिट स्कोर पर कुछ लेंडर ब्याज दरें भी कम कर देते हैं. हालांकि अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा नहीं है या अभी क्रेडिट कार्ड के नए यूजर हैं तो इसे आप बेहतर कर सकते हैं. इसके लिए आपको नियमित और अनुशासित तरीके से प्रयोग करना होगा. इससे आपका क्रेडिट बेहतर होगा क्योंकि आप नियमित तौर पर अपने बिल का भुगतान कर देते हैं.
अगर आप जाइंट होम लोन के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो आपके सहयोगी की भी क्रेडिट स्कोर बेहतर होनी चाहिए. यहां यह भी ध्यान रखें कि एक साथ ढेर सारे लोन एप्लीकेशंस भी क्रेडिट स्कोर को नीचे करते हैं.

(लेखक रतन चौधरी, पैसाबाजारडॉटकॉम में होम लोन के एडी और हेड हैं.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. होमलोन लेने में आ रही हैं मुश्किलें, अपनाएं ये 5 तरीके बढ़ जाएगी एलिजिबिलिटी

Go to Top